पॉलिटिक्स

11 साल बाद रिहा हुआ शहाबुद्दीन कहा परिस्थियों के कारण नीतीश है मुख्यमंत्री

आरजेडी के बाहुबली नेता और सिवान पूर्व सांसद शहाबुद्दीन जमानत पर आज 11 साल बाद जेल से रिहा हो गए है। उन पर कई अपराधिक मामलें दर्ज हैं।

एक रेडियो की खबर के अनुसार उन्हें सुबह 11 बजे रिहा कर दिया गया है। पटना हाईकोर्ट ने उसे राजीव रोशन हत्या मामले में रिहाई दी है।

शहाबुद्दीन कई अपराधिक गतिविधियों में शामिल है और लालू प्रसाद के खास माने जाते हैं। कॉलेज से दिनों में ही वह अपराधिक मामले में लिप्त थे।

रिहाई के बाद लालू को अपना नेता कहते हुए शहाबुद्दीन ने कहा “नीतीश कुमार हमारे नेता नहीं है वह प्रतिस्थितियों के कारण मुख्यमंत्री है हमारे नेता लालू प्रसाद है। मैं उनकी छत्रछाया में रहना चाहता हूं मैं अपने आप को क्यों बदलूं।“

जेल से रिहा होते है शहाबुद्दीन ने कहा “सबको पता है मुझे इस मामले में फंसाया गया है, पहले कोर्ट में मुझे उम्रकैद की सजा दी थी, लेकिन जमानत पर रिहा कर दिया है।“

shahabuddin

शहाबुद्दीन

साथ ही कहा है कि मैं रिहाई से राजनीति का कोई ताल्लुक नहीं है, न्यायपालिका का अपना कानून होता है।

आपको बता दें साल शाहबुद्दीन को राजीव रोशन मामले उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी। यह वही राजीव रोशन है जो राज भाईयों की हत्या का गवाह था। साल 2014 में शहाबुद्दीन के जेल में रहते हुए उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

दरअसल बिहार का 2004 का चर्चित तेजाब कांड जिसमें सिवान के व्यवसायी के चंद्रकेश्वर प्रसाद उर्फ चंदा बाबू के दो बेटो गिरीश राज और सतीश राज का अपहरण कर लिया गया था। बाद में उन पर तेजाब डालकर उन्हें जला दिया गया था। पीड़ित परिवार का आरोप था कि यह सबकुछ शहाबुद्दीन के इशारों पर हुआ था।

इसी साल हिंदी के दैनिक अखबार हिंदुस्तान के पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या कर दी गई थी। उनकी हत्या के बाद ही शहाबुद्दीन को सिवान जेल से भागलपुर शिफ्ट कर दिया गया था।

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।