लाइफस्टाइल

Raksha Bandhan 2021: इस बार रक्षाबंधन पर बन रहा है गजकेसरी योग, जाने इसका महत्व

Raksha Bandhan 2021: जाने गज केसरी संयोग और इसके मुहूर्त तथा महत्व के बारे में


Raksha Bandhan 2021: इस बार भाई बहन के प्रेम का त्योहार रक्षाबंधन श्रावण पूर्णिमा के दिन मनाया जा रहा है। इस बार राखी का त्योहार 22 अगस्त यानि कल रविवार को मनाया जाएगा। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस बार रक्षाबंधन का त्योहार अत्यंत शुभ मुहूर्त,घनिष्ठा नक्षत्र में पड़ रहा है। इतना ही नहीं इस बार इस दिन शोभन और गजकेसरी योग भी बन रहा है। आपको बता दें कि गज केसरी योग में राखी बंधना बहुत ज्यादा शुभ और लाभप्रद माना जाता है। तो चलिए विस्तार से जानते है इस साल राखी पर बनने वाले विशेष गज केसरी संयोग और इसके मुहूर्त तथा महत्व के बारे में।

Raksha Bandhan 2021

और पढ़ें  Rakhi 2021: अगर राखी के लिए आप भी सर्च कर रहे है एक सजावटी पूजा थाली, तो ये बेस्ट ऑप्शन है आपके लिए

जाने रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त

इस बार ज्योतिष गणना के अनुसार रक्षाबंधन का त्योहार घनिष्ठा नक्षत्र में पड़ रहा है। बता दें कि इस नक्षत्र में पैदा होने वाले भाई बहनों का रिश्ता बहुत ज्यादा मजबूत होता है। इतना ही नहीं इस नक्षत्र में राखी बांधने से भाई बहन के बीच मनमुटाव भी दूर होता हैं। और दोनों के बीच प्यार बढ़ता है। आपको बता दें कि इस बार राखी के दिन धनिष्ठा नक्षत्र शाम को 07 बजकर 40 मिनट तक रहेगा। इतना ही आपको बता दें कि इस बार पूर्णिमा तिथि पर भद्रा नहीं लग रहा है इसलिए पूरे दिन राखी बांधी जा सकेगी। लेकिन इस बार पूर्णिमा की तिथि पर शाम को 05.14 बजे से 6.49 बजे तक राहु काल रहेगा। और ये बात तो शायद आप भी जानते होंगे कि राहु काल में कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है। इस लिए इस समय को छोड़ कर बाकि आप पुरे दिन अपने भाई को राखी बांध सकते है।

इस बात राखी पर है गजकेसरी योग

आपको बता दें इस बार बृहस्पति और चंद्रमा की युति के कारण राखी पर गजकेसरी योग का निर्माण हो रहा है। बता दें कि गज केसरी योग को बहुत ही ज्यादा शुभ माना जाता है क्या आपको पता है इस साल राखी के दिन बृहस्पति ग्रह कुंभ राशि में वक्री रहेगा तथा चंद्रमा इसके साथ रहने के कारण गजकेसरी योग बन रहा है। इतना ही नहीं माना जाता है कि इस योग में किए जाने वाले सभी कार्य पूरी तरह सफल सिद्ध होते है। तथा आपकी सभी मनोकामनाओं की पूर्ति होती है। साथ ही साथ आपको बता दें कि गज केसरी योग किसी भी व्यक्ति को राजसी सुख और माना-सम्मान दिलाता है।  सुबह 10 बजकर 33 मिनट तक शोभन योग रहेगा, इस योग में राखी बांधना शुभ रहेगा। बाकि गज केसरी योग में पूरे दिन राखी बांधी सकेंगी।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।