भारत

जयललिता के लिए ‘108 मृत्युंजय यज्ञ’

जयललिता की स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना के लिए यज्ञ


तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता एक महीने से भी ज़्यादा वक्त से चेन्नई के एक अस्पताल में भर्ती है। उनके स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना के लिए ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कषगम (एआईएडीएमके) के 3,000 से भी अधिक सदस्यों ने मंगलवार यानि कल एक यज्ञ में हिस्सा लिया। इस सामूहिक यज्ञ में करीबन 200 पुजारियों ने पूजा-अर्चना की थी।

35 लाख खर्च अब तक पूजा में

मगंलवार को हुए ‘108 मृत्युंजय यज्ञ’ का आयोजन मुख्यमंत्री के वफादार कहलाएं जाने वाले विधायक आर. वेट्रिवेल ने करवाया था। बता दें, महीनों से बीमार नेता के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए आर वेट्रिवेल ने पूजा-अर्चना पर बेतहाशा पैसा खर्च कर चुके हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, मंगलवार को हुई पूजा  इस महीने में 15वीं पूजा है जो   विधायक आर. वेट्रिवेल ने करवाई है। साथ ही अब तक पूजा अर्चना पर 35 लाख रुपये खर्च हो चु‍के है। इस पर विधायक आर. वेट्रिवेल का कहना है, कि हम उनकी की पूजा करते हैं, हम चाहते हैं, वह पूरी तरह स्वस्थ होकर लौट आएं।

जयललिता की स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना के लिए यज्ञ
जयललिता के लिए यज्ञ

यज्ञ करने के लिए कई घी की टंकी , लकड़ी, फल, फूल और बादामों का प्रयोग किया गया। साथ ही पुजारियों के आस-पास अनाज और मसालों से भरी हज़ारों तश्तरियां भी रखी गई थीं। जयललिता के लिए की जा रही प्रार्थना में मौजूद अधिकतर महिला समर्थक थीं। जिन को  एक जैसी साड़ियां उपहार में दी गई थी।

जयललिता के बारे में

68 साल की तमिलनाडु की मुख्यमंत्री और एआईएडीएमके की प्रमुख जयललिता 22 सितंबर यानि 33 दिनों से चेन्नई के अपोलो अस्पताल में भर्ती हैं। जयललिता को बुखार और डीहाइड्रेशन की शिकायत के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया था । जयललिता की अनुपस्थिति में उनके मंत्रिमंडल में वित्तमंत्री रहे ओ. पनीरसेल्वम ने कार्यवाहक मुख्यमंत्री के रूप में जयललिता के मंत्रालयों और कैबिनेट बैठकों की अध्यक्षता का कार्यभार संभाल रखा है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।