भारत

जल्लीकट्टू के लेकर तेज हुआ प्रदर्शन, मद्रास हाईकोर्ट ने दखल देने से किया इंकार

जल्लीकट्टू के लेकर तेज हुआ प्रदर्शन, मद्रास हाईकोर्ट ने दखल देने से किया इंकार

चेन्नई में मंगलवार को जल्लीकट्टू के समर्थन में बड़ी संख्या में लोगों ने प्रदर्शन किए। इस बीच बुधवार को मद्रास हाईकोर्ट ने इस मामले में दखल देने से इंकार कर दिया। हाईकोर्ट ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने मामले को अपने हाथ में ले लिया है, इसलिए अब उसके द्वारा दखल नहीं दिया जा सकता। लोकप्रिय खेल जल्लीकट्टू के आयोजन और पशु संगठन ‘पेटा’ पर प्रतिबंध की मांग कर रहे युवाओं का बुधवार को दूसरे दिन राज्यभर में प्रदर्शन उग्र हो गया है। प्रदर्शनकारियों के प्रति समर्थन बढ़ता जा रहा है। इसी प्रकार तमिलनाडू में अन्य स्थानों पर भी प्रदर्शन उग्र हो रहा है।

जल्लीकट्टू के लिए प्रदर्शन करते लोग
जल्लीकट्टू के लिए प्रदर्शन करते लोग

दो मंत्री प्रदर्शनकारियों से गए बातचीत करने

पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से बातचीत असफल होने के बाद सरकार के मत्स्य पालन मंत्री डी जयकुमार और शिक्षा मंत्री मफोई पेंडीराजन को प्रदर्शनकारियों से बात करने भेजा था। वहीं दूसरी तरफ प्रदर्शनकारियों की मांग है कि मुख्यमंत्री एक बयान जारी करे कि जल्लीट्टू को लेकर उनका क्या कदम है, जब तक ऐसा नहीं होता प्रदर्शन जारी रहेगा।

युवाओं के इस प्रदर्शन को कॉलीवुड क अभिनेताओं का भी समर्थन मिल रहा है। राज्य के अलग-अलग हिस्सों में जारी प्रदर्शन के चलते ट्रैफिक की समस्या उत्पन्न होने लगी है।  

मुख्यमंत्री से तत्काल कारवाई करने की मांग

डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष और तमिलनाडू में विपक्ष के नेता एम.के.स्टालिन ने मुख्यमंत्री पन्नीरसेल्वम से प्रदर्शनकारियों से मुलाकात करने और जल्लीकट्टू के आयोजन के लिए तत्काल कारवाई करने का आग्रह किया है।

चीफ जस्टिस एस के कौल और जस्टिस एम सुंदर की पीठ ने अब इस स्टेज में इस मामले में किसी तरह का दखल देने से इंकार कर दिया। खंडपीठ ने कहा-सबस पहली बात तो यह है कि सुप्रीम कोर्ट ने इसे अपने हाथ में ले लिया है। अब इस मामले में हाई कोर्ट या तमिलनाडू सरकार कुछ नहीं कर सकती। दूसरी बात यह है कि मरीना रोड कोई प्रदर्शन करने की जगह नहीं है। अब इस स्टेज में कोई दखल देना नहीं चाहता।

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button