पाकिस्तान को आतंकवादी संरक्षण देश घोषित की जाने वाली याचिका ने तोड़े सारे रिकॉर्ड


पाकिस्तान को आतंकवादी संरक्षण देश घोषित की जाने वाली याचिका ने तोड़े सारे रिकॉर्ड


पाकिस्तान को आतंकवादी संरक्षण देश घोषित की जाने वाली याचिका ने तोड़े सारे रिकॉर्ड:- पाकिस्तान को बार-बार आतंकी देश कहे जाने के बीच अमेरिका के व्हाइट हाउस में दायर याचिका ने एक नया रिकॉर्ड बना लिया है।

व्हाइट हाउस में दायर नई याचिका में लगभग 50,000 लोगों ने हस्ताक्षर किया है। जिसमें लोगों का कहना है कि पाकिस्तान को ‘आतंकवादी संरक्षण’ देने वाला देश घोषित किया जाए।

अब तक के सबसे ज्यादा हस्ताक्षर

एक अंग्रेजी अखबार के अनुसार अमेरिका में यह अब तक की सबसे प्रसिद्ध याचिका दायर है। याचिका में अबतक सोमवार को 613,830 लोगों ने हस्ताक्षर किया है। जिसमें लोगों ने आधिकारियों से कहा है कि वह पाकिस्तान को आतंकवादियों को संरक्षण देने वाला देश घोषित करें।

मंगलवार को दोपहर में लोगों के हस्ताक्षरों का सिलसिला और बढ़ा और इसकी संख्या बढ़कर 665,769 हो गई।

दायर की याचिका से यह माना जा सकता है कि व्हाइट हाउस में दायर की गई याचिका में यह अब तक के सबसे ज्यादा हस्ताक्षर किए जाने वाली याचिका है। इससे पहले सबसे ज्यादा 350.000 हस्ताक्षर किए गए है। वहीं दूसरी ओर व्हाइट हाउस से इस बारे में कोई स्पष्टीकरण नहीं किया गया है।

पाकिस्तान को आतंकवादी संरक्षण देश घोषित की जाने वाली याचिका ने तोड़े सारे रिकॉर्ड
व्हाइट हाउस

60 दिनों में ओबामा की सरकार देगी प्रतिक्रिया

यह संभव है कि व्हाइट हाउस द्वारा याचिका बंद किए जाने के पहले किए गए इन हस्ताक्षरों को विधिवत सत्यापन के बाद अंतिम संख्या में शामिल किया गया था। इतनी बड़ी याचिका के लिए फर्जीवाड़ा होने की भी आशंका कम हो जाती है।

इस याचिका को मंजूरी के लिए 100,000 लोगों के हस्ताक्षर की जरुरत होती है। जिससे की ओबामा सरकार इस प्रतिक्रिया दे सके। अब इसके लिए और हस्ताक्षर की जरुरत है क्योंकि यह उम्मीद से वैसे ही ज्यादा है।

लगभग 60 दिनों के अंदर व्हाइट हाउस की तरफ से इस याचिका पर प्रतिक्रिया दी जाएगी।

इन हस्ताक्षरों के बीच व्हाइट हाउस अभी भी उन हस्ताक्षरों की तलाश कर रहा है जो कि याचिका के मानदंड से नहीं है जो कि 21 सितंबर को बनाया गया था।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Story By : Poonam MasihPoonam Masih
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
%d bloggers like this: