अगर प्रोफेशनल लाइफ के कारण आ रहा पर्सनल लाइफ में तनाव, तो ट्राई करें ये टिप्स

0
53
work life

जाने कैसे करें पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ को बैलेंस


किसी के लिए भी हर दिन एक जैसा नहीं होता. फिर चाहिए वो कोई भी हो, एक कपल के लिए भी हर दिन एक जैसा नहीं होता. उनकी जिंदगी में भी कभी प्यार, कभी गम, कभी मौसम का बदलाव तो कभी ऑफिस का स्ट्रेस लगा ही रहता है. ऐसे में आपके पार्टनर का मूड ऑफ हो जाना एक आम बात है. ऑफिस में काम के दौरान अक्सर लोगों में तनाव हो जाता है, यह एक काफी सामान्य बात है. बस आपको ध्यान ये रखना चाहिए कि कही ये तनाव आप दोनों के रिश्ते को न खराब कर दे. तो चलिए आज हम आपको बतायेंगे की कैसे आप अपने प्रोफेशनल लाइफ और पर्सनल लाइफ को एक साथ बैलेंस कर सकते है.

तनाव के कारण को समझें: अगर आपके अपने पार्टनर के साथ रिश्ते में तनाव आ रहा है. तो सबसे पहले आपको ये समझने की जरूरत है कि तनाव आ क्यों रहा है. इसका मुख्य कारण क्या है. हमेशा वर्कप्लेस पर तनाव होने का कारण ऑफिस का स्ट्रेस नहीं होता. कई बार इस तनाव का कारण फैमिली प्रॉब्लम, सहयोगियों द्वारा परेशान करना, या फिर कोई और कारण भी हो सकता है.

और पढ़ें: Overthinking आपके लिए हो सकती है घातक, स्वास्थ्य पर पड़ सकता है बुरा असर

टू-डू लिस्ट बनाएं: अगर आपको तनाव वर्कप्लेस स्ट्रेस के कारण हो रहा है. तो सबसे पहले आपको अपनी टू-डू लिस्ट बनानी चाहिए. ये आपके वर्कप्लेस पर आपके वर्क स्ट्रेस को मैनेजमेंट करने में अपनी मदद करेगी. किसी भी काम को करने के लिए सबसे पहले टू-डू लिस्ट बनाएं. जिसमें आप आज ही करने वाले टास्क, जल्दी खत्म करने वाले टास्क, पेंडिग टास्क, और वो टास्क जिनको आप आराम से कर सकते है उनको शामिल कर सकते है.

परफेक्शन की उम्मीद ना करें: अगर आप तनाव मुक्त रहना चाहते है. तो सबसे पहले अपने दिमाग से ये बात निकल दे कि आप अपने काम में परफेक्शन नहीं ला पा रही हैं, क्योंकि कोई भी व्यक्ति परफेक्ट नहीं होता. इसलिए आपको परफेक्ट नहीं बल्कि अपना बेस्ट करना चाहिए. इसलिए कभी भी परफेक्शन की उम्मीद ना करें.

काम के बीचबीच में ब्रेक लें: अगर आप लगातार काम करते है तो इससे आपकी एनर्जी खत्म हो जाती है. इसलिए आपको अपने काम के बीच- बीच में ब्रेक लेना चाहिए. क्योंकि ये आपकी एनर्जी को रीफ़िल करता है. इसलिए काम के दौरान आपको 5 से 10 मिनट का ब्रेक जरूर लेना चाहिए.

ऑफिस के बाद काम ना करें: आपने देखा होगा कि बहुत से लोग ऑफिस के बाद भी ऑफिस की कॉल अटेंड करते रहते है, या लैपटॉप लेकर क्लाइंट्स की प्रॉब्लम सॉल्व कर रहे होते है. इससे क्लाइंट्स की प्रॉब्लम तो सॉल्व हो जाती है. लेकिन आपके अपने पार्टनर के साथ रिश्ते खराब होने लगते है. इस लिए कोशिश करें कि आप ऑफिस के बाद ऑफिस का काम न करें.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com