विदेश

पाकिस्तान के सांसद ने पूछा क्यों पाल रहे है हम हाफिज को?

पाकिस्तान के सांसद ने पूछा क्यों पाल रहे है हम हाफिज को?


पाकिस्तान के सांसद ने पूछा क्यों पाल रहे है हम हाफिज को? :- आतंकियों को पनाह देना का आरोप झेल रहे है पाकिस्तान को अब, अपनी धरती पर ही विरोध का सामना करना पड़ रहा है। आतंकियों को देश से बाहर निकालने की बात की जा रही है।

राणा मोहम्मद ने कारवाई की मांग

आतंकियो को लेकर अब प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी को ही विरोध का सामना करना पड़ रहा है। पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज के एक सांसद ने जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद के खिलाफ कारवाई करने की मांग कर दी है।

पाकिस्तान की एक अखबार की खबर के मुताबिक गुरुवार को विदेशी मामलों की नेशनल असेंबली स्टैंडिंग कमिटी की बैठक में पीएमएल-ए के सांसद राणा मोहम्मद अफजल ने पूछा- आखिर हाफिज जैसे नॉन स्टेट ऐक्टर्स को हम बढ़ने का मौका क्यों दे रहे हैं?  क्यों नहीं हम हाफिज जैसे लोगों के पर कतर रहे हैं? अफजल ने साथ ही कहा हाफिज सईद कौन से ऐसे अंडे दे रहा है जिस वजह से हम उसे पाल पोस रहे हैं

पाकिस्तान के सांसद ने पूछा क्यों पाल रहे है हम हाफिज को?
हाफिज मोहम्मद सईद

हाफिज हमारे देश के लिए शर्म की  बात है

अफजल ने कहा कि कश्मीर बैठक के दौरान जमात उद दावा सरगना को मुद्दा बनाते हुए कहा था कि भारत और पाकिस्तान के बीच विवाद की मुख्य वजह ही हाफिज है। अफजल ने साथ ही कहा है कि फ्रांस की यात्रा के दौरान भी विदेशी प्रतिनिधियों ने हाफिज का नाम लिया है।

साथ ही कहा है कि पिछले 25 साल के दौरान राजनीतिक गलियारों में हाफिज का नाम तो सुना नहीं गया। लेकिन अंतर्राष्ट्रीय बिरादरी में वह एक आतंकी है।

अफजल ने कश्मीर पर अपनी सरकार के कदम को तो सही ठहराया लेकिन साथ ही कहा कि प्रतिबंधित संगठन हमारे देश के लिए शर्म की बात ही है।

मुंबई हमले का जिक्र करते हुए कहा कि हाफिज मुंबई हमले का मास्टरमाइड है। इसके बावजूद भी वह पाकिस्तान की राजनीतिक गलियारों में आए दिन रैलियां करता दिखाई देता हू। इसके साथ ही भारत के खिलाफ अक्सर जहर उगलता रहता है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।