सेहत

अब इन प्राकृतिक तरीकों के साथ महिलाओं के लिए अपने हार्मोन्स को संतुलित करना होगा और भी आसान, कम होंगे मूड स्विंग्स

जाने हार्मोन्स को संतुलित करने के प्राकृतिक तरीके


ये बात तो शायद सभी लोग जानते है कि अगर हमारे हार्मोन्स संतुलित नहीं है तो इसका प्रभाव हमारे शरीर व हमारे व्यवहार  पर देखने को मिलता है. हालांकि ये अलग बात है कि हम इससे अनजान होते हैं. वैसे तो महिलाओं में मूड में बदलाव, रोशनी के लिए संवेदनशीलता, ऑयली त्वचा, बाल,  कुछ खाने का मन न करना, नींद न आना, चिंता, तनाव और चिड़चिड़ापन ये सभी हार्मोन्स बदलावों के संकेत होते है. लेकिन महिलाओं में पुरुषों के मुताबिक हार्मोन्स बदलावों के संकेत ज्यादा होते है. खासतौर पर जब महिलाएं गर्भवती होती है या फिर तनाव में हो या फिर किसी विशेष उम्र के बाद महिलाओं में हार्मोन्स संतुलन बदलने लगता है. लेकिन महिलाओं में हार्मोन्स को फिर से सामान्य करना कोई मुश्किल बात नहीं. तो चलिए आज हम आपको कुछ ऐसे प्राकृतिक तरीकों के बारे में बताएंगे जिनकी सहायता से आप अपने हार्मोन्स को संतुलित रख सकते है.

योगासन: योगासन हमारे लिए कितना फायदेमंद है ये शायद हमें आपको बताने की जरूरत नहीं है और न ही कोई योगासन के फायदों को नकार सकता है. रोजाना योगासन करने से हमारे शरीर में बेहतर सर्कुलेशन बनता है और हमारे शरीर का वजन सामान्य बना रहता है और दिल का स्वास्थ्य भी ठीक रहता है. व्यायाम एक तरह की प्राकृतिक दवा है जो हमारे शरीर को कोर्टिसोल की मात्रा कम होती है और तनाव दूर करने में हमारी मदद करता है.

 

और पढ़ें: इम्यूनिटी बढ़ाने के चक्र में न ले जरूरत से ज्यादा विटामिन-सी, वरना झेलने पड़ेगे ये साइड इफेक्ट

 

yoga

 

डेयरी उत्पादों का सेवन: डेयरी उत्पाद पोषकों का अच्छा स्रोत माना जाता है. अगर आप अपने सेक्स हार्मोन्स को लेकर चिंतित हैं तो आपको डेयरी उत्पादों खासतौर पर योगहर्ट और क्रीम के सेवन से पहले दो बार सोचना चाहिए. क्योंकि एक रिपोर्ट के अनुसार डेयरी उत्पादों के सेवन से कुछ विशेष हार्मोन्स का स्तर कम हो जाता है. अध्ययनों में योगहर्ट एवं क्रीम तथा एनोवुलेटरी साइकल के बीच का संबंध भी बताया गया है.

 

अलसी के बीज: अलसी के बीज एक अच्छे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण होते है. क्योकि इसमें फाइबर, लिगनान, ओमेगा-3 फैटी एसिड पर्याप्त मात्रा में होता है साथ ही साथ ये हमारे ब्लड शुगर और दिल के स्वास्थ्य  को सामान्य बनाए रखने में हमारी मदद करते हैं. एक रिपोर्ट के अनुसार जो भी महिलाएं अपने आहार में अलसी के बीज का सेवन करती हैं, उनके  प्रोजेस्टेराॅन और एस्ट्रोजन स्तर में सुधार आता है.  जो की किसी भी महिला में हार्मोन्स का संतुलन बनाए रखने के लिए बहुत ज्यादा जरूरी होता है.

 

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।