फिल्म रिव्यू: जबरदस्ती की है ‘जबरिया जोड़ी’, देखने से पहले पढ़ लें ये बातें 

0
81
Jabariya Jodi

चटपटे डायलॉग ही है फिल्म की जान


बॉलीवुड एक्टर सिद्धार्थ मल्होत्रा और परिणीति चोपड़ा अभिनीत फिल्म ‘जबरिया जोड़ी’ आज रिलीज हुई है. बेशक ये जोड़ी पहली बार साथ नहीं आई इससे पहले भी ‘हंसी तो फंसी’ में ये जोड़ी दिखी थी. ये जोड़ी तो बहुत शानदार है लेकिन दर्शकों को खुद से जोड़ पाने में ये कामयाब नहीं हुई.

फिल्म ‘जबरिया जोड़ी’  की कहानी

ये फिल्म यूपी और बिहार में होने वाले पकड़वा विवाह पर आधारित है. जिसमें दुल्हों को किडनेप कर उनकी जबरन शादी करवाई जाती है. इसीलिए फिल्म का नाम भी जबरिया जोड़ी है. फिल्म की कहानी नाम के आधार पर परफेक्ट है. फिल्म में अक्षय सिंह (सिद्धार्थ) और बबली यादव (परिणीति) का किरदार निभा रहे हैं. अक्षय सिंह एक तरफ नेता बनना चाहता है दूसरी तरह पकड़वा विवाह का बिजनेस करता है. लेकिन बबली उसकी जिंदगी में आती है तो उसकी जिंदगी एक नया रंग ले आती है
शुरूआत में फिल्म आपको काफी दमदार, एक्साइटिंग और रोमांचक लगेगी. फर्स्ट हाफ में फिल्म में कॉमेडी की कमी नहीं है लेकिन जैसे-जैसे फिल्म आगे बढ़ती है इसका कहानी पक्ष कमजोर होता जाता है और दर्शक आसानी से बता देगा आगे क्या होने वाला है. जो कि किसी भी फिल्म की सबसे खराब बात कही जा सकती है.

फिल्म ‘जबरिया जोड़ी’ का निर्देशन 

फिल्म के निर्देशक प्रशांत सिंह ने फिल्म की शुरूआत बहुत ही अच्छे ढंग से की है और लोगों को जोड़े रखा लेकिन इंटरवल के बाद वो दर्शकों को बांधने में कामयाब नहीं हो पाए. दूसरे भाग तक आते-आते कहानी बिखरने लगती है और कहानी में कहीं एक लय नहीं है. अंत तक आते-आते लगा जैसे निर्देशक खुद भी कंफ्यूज हो गए.

डायलॉग्स- बेशक फिल्म के डायलॉग्स बेहद शानदार और मजाकिया हैं और मजेदार स्टोरीलाइन कॉमेडी से भरपूर है. लेकिन अंत तक आते-आते डायलॉग्स भी मात खाने लगे. दर्शकों को बोर करने लगे. यहां तक की हीरो-हीरोइन का रोमांस भी समझ से परे लगा. अभिनय- सिद्धार्थ मल्होत्रा ने अपने अन्य किरदारों से अलग ये किरदार पहली बार किया है जिसे उन्होंने बखूबी निभाया. वहीं परिणीति चोपड़ा के इस रोल में कुछ भी चैलेंजिंग नहीं लगा. जावेद जाफरी, संजय मिश्रा जैसे कलाकारों ने हमेशा की तरह बेहतरीन काम किया है.

सॉन्ग- फिल्म में कोई भी ऐसा गाना नहीं है तो बाहर आते समय दर्शकों की जुबां पर चढ़े. बेशक फिल्म में कई रोमांटिक और आइटम नंबर हैं लेकिन वे कुछ खास कमाल नहीं कर पाएं.  हम आपको यही सलाह देंगे. टाइम पास करना है तो फिल्म देख सकते हैं. फर्स्ट हाफ जहां मजेदार लगेगा वहीं सेकेंड हाफ बोरिंग. अब अंतिम निर्णय आपका है.

Read More:- देश का टैलेंट  – ‘सुरीली आवाज’ वाली बुजुर्ग महिला बनी सोशल मीडिया स्टार

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com