मानसून सत्र- भड़की मायावती ने इस्तीफा देने की कही बात


नहीं सुनी जा रही है राज्यसभा में मेरी बात- मायावती


इस साल का मानसून सत्र कल से शुरु हो गया है। कल पहले राष्ट्रपति चुनाव हुए और उसके बाद मानसून सत्र शुरु किया गया।

उपराष्ट्रपति चुनाव के लिया भरा गया नामांकन

आज उपराष्ट्रपति के चुनाव के लिए नामांकन भरा गया। सत्ता पक्ष की तरफ से शहरी विकास मंत्री वैंकेया नायडू ने अपना नामंकन भरा।

वहीं दूसरी ओर विपक्ष की तरफ से गोपालकृष्ण गांधी अन्य नेताओं को सामने अपना नामांकन भरा।

मायावती
मायावती

नामांकन भरने बाद मीडिया से बात करते हुए कहा थोड़ा भावुक हो गए कहा बीजेपी ने मां की तरह संभाला। पार्टी को छोड़ते वक्त मुझे बहुत दुख हो रहा है। लेकिन अब किसी पार्टी से ताल्लुक नहीं रखूंगा।

वहीं दूसरी ओर बीजेडी ने गोपालकृष्ण गांधी

को समर्थन देने के घोषणा की है।

सहारनपुर की घटना पर अपनी बात रख रही थी मायावती

लोकसभा की कार्यवाही कल 11 बजे तक स्थागित कर दी गई है। और राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर 2 बजे तक स्थागित कर दी गई है।

आज राज्यसभा की कार्यवाही के दौरान बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती बुरी तरह भड़क गई। मायावती ने राज्यसभा से इस्तीफा देने तक की बात कह दी।

दरअसल आज मायावती सहारनपुर में दलितों पर हुए अत्याचार के मुद्दे पर बोल रही थी। इसी दौरान उपसभापति ने उन्हें बोलने का मौका नहीं दिया। जिसके कारण वह बुरी तरह भड़क गई। मायावती ने कहा कि जिस सदन में वह अपने समाज की बात नहीं पा रही है। वहां का सदस्य बने रहना उनके लिए मायने नहीं रखता है।

मायावती ने कहा कि इतने महत्वपूर्ण मुद्दे पर मुझे बोलने के लिए सिर्फ तीन मिनट दिए गए। मेरी बात की अनसुना किया गया है। लानत है ऐसी सदस्यता पर जिसमें मैं अपने समाज की बात नहीं रख पर रही हूं। मुझे ऐसी सदस्यता नहीं चाहिए मैं अभी इस्तीफा देती हूं।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in

Story By : Poonam MasihPoonam Masih
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
%d bloggers like this: