मोदी है तो मुमकिन है – मोदी जी बने बिंदी के ब्रांड एम्बेसडर ?

0
Modi_bindi

बीजेपी प्रचार प्रसार में नहीं छोड़ रही कोई कमी 


यूं तो आये दिन बड़े -बड़े ब्रांड अपनी ब्रांड प्रमोशन के लिए सेलिब्रिटीज के चेहरे का उपयोग करते नज़र आते रहते है मगर क्या कभी आपने किसी साधारण से पैकेट में देश की सबसे बड़ी हस्ती की फोटो का उपयोग होते देखा है ? नहीं ! जी हाँ ज़रा आज की सबसे तेज़ी से वायरल होती इस फोटो पर नज़र डालिये.

Modi_bindi

नरेंद्र मोदी जहाँ अपनी राजनितिक पार्टी को जिताने की जद्दोजहज में व्यस्त है वहीँ कुछ फेन्स भी प्राथमिक स्तर पर नरेंद्र मोदी और बी जे पी को जिताने की कोशिश में लगे हुए हैं मामला कुछ यूं है की हाल ही में सोशल मीडिया पर एक फोटो तेज़ी से वायरल हो रही है जिसमे एक साधारण से ब्रांड की बिंदी के पैकेट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर लगी हुई है.. बस इतना ही नहीं बिंदी के पैकेट में बी जे पी के कमल चिन्ह के साथ ऊपर ”फिर से मोदी सरकार ”भी लिखा हुआ है… जैसे ही ये फोटो सामने आयी लोगो ने बिना किसी देर के इसपर ट्रोल करना शुरू कर इस तस्वीर को वायरल कर दिया

ट्वीटर में किया गया ट्रोल

तस्वीर के तेज़ी से वायरल होते ही कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्य मोहम्मद सलीम ने अपने ट्विटर अकाउंट में बिंदी के पैकेट की तस्वीर साझा करते हुए उसपर लिखा है की ‘पेटीएम के ब्रांड एम्बैसेडर अब पारस बिंदी का चेहरा बन चुके है ‘साथ ही साथ मोहम्मद सलीम ने हैशटैग का प्रयोग करते हुए कैप्शन में #मोदी है तो संभव है भी लिखा है

प्रचार प्रसार में आगे है बीजेपी ?

चुनाव की तारीखों की घोषणा होते ही साडी राजनितिक पार्टियां तेज़ी से प्रचार प्रसार में लग जाती है ऐसे में आपको बता दें की टीवी और सोशल मीडिया की विज्ञापन की सूची में बीजेपी अब तक सबसे आगे बनी हुई है जबकि अन्य पार्टियों के आँकड़े बीजेपी के आधे भी नहीं है.

गौरतलब है कि आचार संहिता लागू होने के बाद राजनीतिक पार्टियों को प्रचार सामग्री का प्रयोग करने से पहले चुनाव आयोग से सर्टिफिकेट लेना होता है. सार्वजनिक जगहों पर, जहां किसी भी तरह के पोस्टर या बैनर लगाने के लिए मनाही होती है, वहीं प्रचार के माध्यमों जैसे टीवी, रेडियो और सोशल मीडिया आदि पर विज्ञापन देने से पहले अपनी सामग्री को चुनाव अधिकारियों से सर्टिफाई करवाना जरूरी होता है। मीडिया सर्टिफिकेशन एंड मॉनिटरिंग कमिटी का यही काम होता है .

बीजेपी के दीवाने

ये कोई पहला मामला नहीं जब बीजेपी का प्रचार किसी प्राथमिक स्तर पर किया गया हो. बिंदी के पैकेट से पहले भी कई मामले ऐसे सामने आये है जिसमे मोदी सरकार का गुड़गान किया जा चुका है.आपको बता दें की हाल ही में एक जोड़े ने अपनी शादी के निमंत्रण में बीजेपी का लोगो लगाते हुए प्रचार किया था इस तरह के प्रचार प्रसार से लोकसभा के चुनाव में असर पड़ेगा या नहीं ये तो परिणाम के बाद ही पता चल पायेगा .

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here