Maharashtra president rule: महाराष्ट्र में लागू हुआ राष्ट्रपति शासन, जानिए महाराष्ट्र मामले की 10 एहम बातें

0
34
maharashtra president rule

Maharashtra President rule: महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन को लेकर एनसीपी और कोंग्रेस का बड़ा खुलासा


Maharashtra president rule: महाराष्ट्र का राजनैतिक संकट दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है। शिवसेना सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई और शिवसेना ने ही सुप्रीम कोर्ट में राज्यपाल द्वारा महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश करने का फैसले लिया है। शिवसेना ने कहा है कि उन्होंने NCP और कांग्रेस से समर्थन पत्र हासिल करने के लिए तीन दिन का समय मांगा था, लेकिन उसे राज्यपाल ने खारिज कर दिया। शिवसेना का कहना है कि राज्यपाल ने बीजेपी को यह बताने के लिए 48 घंटे का समय दिया था कि क्या वह सरकार बना सकती है या नहीं, लेकिन समर्थन पत्र हासिल करने के लिए शिवसेना को सिर्फ 24 घंटे का समय ही दिया गया।

राष्टपति शासन लागू होने की 10 एहम बातें:

1. शरद पवार का कहना है कि शिवसेना ने समर्थन के लिए उन्हें एक दिन पहले ही संपर्क किया था, और किसी भी निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले वो आपस में विचार करना चाहते हैं।

2. शरद पवार का ये भी कहना है कि जब तक यह तय नहीं कर लें कि हमें एक साथ आने के बाद सरकार कैसे चलानी है, तब तक गठबंधन पर बात करना सही नहीं होगा।

3. इन सब पर कांग्रेस का कहना है की शरद पवार ज्यादा समय चाहते हैं, सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शरद पवार ने ही सोनिया गांधी से फोन पर कहा था कि हमें किसी भी फैसले पर पहुंचने से पहले विचार करना चाहिए।

4. अगर साथ देने की बातकरें तो तो कांग्रेस ने आखिरी समय में शिवसेना को समर्थन देने से अपने हाथ पीछे खींचे थे। इन सब पर कांग्रेस का मानना है कि पहले हमें मुख्यमंत्री, अन्य पदों और कैबिनेट में किसे क्या जगह मिलेगी यह तय करना जरूरी है।

5. वही सोनिया गांधी ने अपने शीर्ष नेताओं को मुंबई भेजा था। मंगलवार को अहमद पटेल, केसी वेणुगोपाल और मल्लिकार्जुन खड़गे ने एनसीपी के नेताओं से मुलाकात की थी।

6. इस पूरे मामले पर शिवसेना ने याचिका दायर की थी। शिव सेना का कहना है कि राज्यपाल ने जल्दबाजी में यह फैसला लिया है।

और पढ़ें: जेएनयू के छात्रों का प्रदर्शन जारी, आमने सामने हुए छात्र और पुलिस

7. कांग्रेस ने किसी भी खरीद -फरोख्त को रोकने के लिए अपने 44 में से 40 विधायकों को राजस्थान में रखा हुआ है। जहां सभी विधायक राजस्थान घूम रहे हैं।

8. शिवसेना से पहले राज्यपाल ने बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता दिया था, लेकिन राज्यपाल से मुलाकात के दौरान शिवसेना ने 48 घंटे का समय मांगा था।

9. इसके बाद राज्यपाल ने एनसीपी को सरकार बनाने का न्योता दिया। एनसीपी के पास मंगलवार रात साढ़े आठ बजे तक सरकार बनाने का दावा करने का समय था।

10. महाराष्ट्र के राजनीतिक घटनाक्रम के बीच मोदी सरकार ने अपने कैबिनेट की बैठक बुलाई। पीएम मोदी ने ब्राजील के लिए रवाना होने से पहले अपने मंत्रियों से बात की।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com