धार्मिक

माँ दुर्गा का हर हथियार कुछ कहता : जाने क्या करते है ये signify

माँ दुर्गा के 8 हथियार जो आपको सिखाते है सभी हालातो से लड़ना


29 सितंबर से माँ दुर्गा का महापर्व नवरात्रि शुरू हो चुकी है। इस समय हर घर में माँ दुर्गा की पूजा  की जाती है और नौ दिनों तक व्रत रख कर लोग उनकी उपासना करते है ताकि माँ दुर्गा उनकी मनोकामना पूरी कर सके।  माँ दुर्गा जितनी राक्षसों के लिए क्रूर हैं उतनी ही अपने भक्तों के लिए दयालु भी हैं।जी हाँ, माँ दुर्गा की 8 भुजाएँ इस बात का प्रतीक हैं कि वह अपने भक्तों की रक्षा आठों कोनों से करती है।

माँ दुर्गा के 8 हथियार जो सिखाते है आपकी सभी  हालातो  से लड़ना

1. शंख

शंख ” एयूएम ” नामक ध्वनि का प्रतीक है जिसमें से संपूर्ण सृष्टि का उदय हुआ था। देवी दुर्गा वास्तव में ब्रह्मांड की निर्माता हैं।

2. चक्र

दुर्गा के हाथों पर चक्र की परिक्रमा जिस से यह पता चलता है कि दुर्गा सृष्टि का केंद्र है और सारा ब्रह्मांड उनके  चारों ओर घूमता है। वह बुराई को नष्ट कर धर्म का विकास करेगा।

3. कमल

माता के हाथों में कमल का फूल हमें बताता है कि विपरीत परिस्थितियों में भी धैर्य रखना जरूरी है  और कर्म करने से सफलता अवश्य मिलती है। जिस प्रकार कमल कीचड़ में रहता है पर फिर भी कीचड़  उसे गन्दा  नहीं कर पाता, उसी प्रकार मनुष्य को भी सांसारिक कीचड़, लालच से दूर होकर सफलता को प्राप्त करना चाहिए।

4.तलवार

मां दुर्गा के हाथ में  तलवार की तेज धार और चमक ज्ञान का प्रतीक है।  इसकी चमक यह बताती है कि ज्ञान के मार्ग पर कोई संदेह नहीं होता है।

5. त्रिशूल

त्रिशूल तीन गुणों का प्रतीक है। संसार में तीन तरह की ट्रेंड्स होती हैं- सत यानी सत्यगुण, रज यानी सांसारिक और तम मतलब तामसी । त्रिशूल के तीन नुकीले सिरे इन तीनों का  प्रतिनिधित्व करते हैं। इन गुणों पर हमारा पूर्ण नियंत्रण हो। त्रिशूल का यही संदेश है।

6. गदा

गदा मां दुर्गा के प्रति निष्ठा, प्रेम और भक्ति का प्रदर्शन करने के लिए मनुष्यों में शामिल होता है।

7. वज्र

यह  हथियार आत्मा की दृढ़ता का प्रतीक है जो जीवन में आने वाली समस्याओं को दूर करने में मदद करती है । वह अपने भक्त को आत्मविश्वास और इच्छाशक्ति के साथ सशक्त बनाती है। वज्र को भगवान इंद्र ने उपहार में दिया था।

8. कुल्हाड़ी

माँ दुर्गा ने भगवान विश्वकर्मा से एक कुल्हाड़ी और एक कवच प्राप्त किया था । यह बुराई से लड़ने के दौरान परिणामों से कोई डर नहीं होने का संकेत देता है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com
Back to top button