सेहत

International Dance Day : जाने कब हुई थी इस दिन की शुरुआत

हेल्थ को रखे ऐसे फिट,यह है डांस से जुड़े कुछ ख़ास फायदे


इस बात से तो हम सभी वाकिफ है की वजन कम करने के लिए डांस थेरेपी सबसे बेस्ट है  . इससे ना केवल कैलोरी बर्न होती है बल्कि रक्त संचार भी अच्छा होता है  .

जाने डांस की कब से हुई थी शुरुआत

अंतराष्ट्रीय डांस की शुरुआत 29 अप्रैल 1982 से हुई . यूनेस्को के अंतराष्ट्रीय थिएटर  इंस्टिट्यूट की अंतराष्ट्रीय डांस कमेटी ने 29 अप्रैल को इस दिन यानी नृत्य दिवस की स्थापना कि.

डांस से जुड़े यह है कुछ फायदे

तनाव को ऐसे करे दूर 

अगर आपको तनाव रहता है तो डांस करके उसे दूर भगाया  जा सकता है  . ये परेशान लोगो को  फिट रखने मे मदद करता है और   मजबूती प्रदान करने मे सहायता करता है . डांस एक थेरेपी है जिससे दिमाग एक्टिव तो रहता ही है साथ ही मे दिमाग की नसे भी खुली रहती है  .

हड्डियों को बनाये मजबूत 

डांस से ऑस्टियोपोरोसिस बीमारी खत्म होने का खतरा कम रहता है  . डांस हड्डियों मे कैल्शियम की सही मात्रा बनाये रखने मे मदद करता है  .

हार्ट को रखे हेल्थी 

कार्डियो वैस्कुलर बीमारी के मरीजों को लेकर भी डांस करना किसी इलाज़ से कम नहीं है.डॉक्टर हार्ट को हेल्थी बनाये रखने के लिए डांस करने की सलाह देते है .लेकिन साथ ही दिल के मरीज़ो को ज़्यादा मूवमेंट वाले स्टेप नहीं करने चाहिए  .

अच्छी नींद 

नाचने से आपको अच्छी नींद  आती है  .

त्वचा पर ग्लो 

डांस करने से विषाणु नष्ट हो जाते है और त्वचा हेल्थी हो जाती है.

यहाँ भी पढ़े: धवन परिवार में गूँजेगी शादी की शहनाई

ब्लड सर्कुलेशन  होता है अच्छा  

आपकी त्वचा तभी अच्छी रहती है जब आपका रक्त  का बहाव अच्छा होता है डांस से ब्लड सर्कुलेशन बढ़िया बना रहता है और स्किन भी तरोताज़ा रहती है.

एनर्जी बनाये रखता है 

डांस बच्चो से लेकर बड़े बूढ़ो तक मे एनर्जी बनाए  रखता है.यह काम करने की स्पीड को तेज़ बनाया रखता है म्यूजिक के साथ डांस करना बहुत ही फ़ायदेमंद होता है क्योकि ब्रेन और बॉडी दोनों ही स्वस्थ रहते है.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in 

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button