क्यों करती है माँ लक्ष्मी उल्लू की सवारी?

0
laxmi vahan

उल्लू के अल्वा और कौन है माँ लक्ष्मी की सवारी


लक्ष्मी माता का वाहन है उल्लू जो पूरी रात जगता और दिन भर सौता है। भारत के कुछ भागो में उल्लू को शुभ और अशुभ दोनों तरह से देखा जाता है। ऐसा बोला जाता है की उल्लू को पहले ही महसूस हो जाता जब कोई संकट आने वाली होती है, इसलिए उल्लू को अपशगुन भी माना जाता है लेकिन कुछ लोगों ऐसा भी जो मानते है उल्लू के कुछ संकेत अच्छे और शुभ होते है। कहते है अगर कोई व्यक्ति बीमार है और उल्लू उससे छू ले तो व्यक्ति एकदम ठीक हो जाता है। उल्लू की सुबह आवाज़ सुना भी शुभ होता है। मगर क्या आप लोग जानते की लक्ष्मी माता का वाहन उल्लू क्यों है? तो चलिए आपको इसके पीछे की वहज बताते है।

उल्लू-माँ लक्ष्मी की सवारी:

लक्ष्मी माता का वहन उल्लू  ताकत और दुर की नज़र का प्रतीक होता है। दरसअल उल्लू बुरी सोच को हटाकर अच्छी सोच रखने में मदद करता है। वह भीड़ से हटकर विचार करने की शक्ति की तरफ इशारा करता है। इसका मतलब हुआ की उल्लू तब देखने की क्षमता रखता है जब सामान्य जन को नजर नहीं आता। दरअसल उल्लू निडर और शक्ति का प्रतीक माना गया है इसलिए लक्ष्मी का वाहन उल्लू है।

माँ लक्ष्मी के उल्लू के आलावा और  भी है वाहन :

उल्लू के आलावा गज भी माता की सवारी है। गज बुद्धिमत्ता व शक्ति का प्रतीक है। गज एक शक्तिशाली और विनम्र जीव होता है और इसलिए वास्तविक रूप में भी ताकतवर व्यक्ति सदैव विनम्र होता है और उसे अपनी ताकत का प्रदर्शन करने की ज़रूरत नहीं होती है।

उल्लू और गज के आलावा गरुड़ भी माता की सवारी है। दरअसल गरुड़ लक्ष्मी के पति विष्णु का वाहन होता है और उसी के कारण लक्ष्मी का भी वाहन बन गया। गरुड़ पक्षी अपनी दूरदृष्टि, लक्ष्य, अनुशासन, दृढ़ता और कुशलत का प्रतीक माना जाता है।

और पढ़ें: धनतेरस के दिन क्यों खरीदे जाते है नये बर्तन?

क्यों माना जाता है उल्लू को शुभ:

उल्लू को शुभ और अशुभ दोनों का प्रतिक माना जाता है। ऐसा कहा जाता है की किसी गर्भाती महिला को उल्लू छुले तो पुत्री होने के संकेत होते है और यहाँ तक की पूर्व दिशा से आ रहे उल्लू की आवाज़ सुने से धन का लाभ होता ही है और दुश्मों का भी नाश होता है। यदि आप घूमने जा रहे हो और पीछे से अपने उल्लू की आवाज़ सुनी तो आपकी यात्रा काफी अच्छी जाएगी। इन सबके अल्वा अगर आपको अपने घर के आँगन में मारा हुआ उल्लू मिलता है तो इसका मतलब होता है की परिवार में कोई कलेश होने वाला है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here