पॉलिटिक्स

महागठबंधन चट्टान की तरह मजबूत है , छैन्नी हथौड़े से नहीं टूटेगा

बिहार की राजनीति में आरजेडी और जेडीयू के महागठबंधन पर बार – बार उठ रहे सवालों पर आखिरकार आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद ने पूर्ण विराम लगा दिया है । लालू ने तीखें प्रहारों के साथ रामविलास पासवान और एनडीए को आड़े हाथ लिया है । लालू प्रसाद ने इसकी आलोचना ट्विटर पर ट्वीट करके की है ।

विरोधियों को करारा जबाव देते हुए लालू ने कहा है कि ‘ आप लोग छह महीने से कोमा में हैं, अपनी सांस संभालिए । महागठबंधन चट्टान की तरह मजबूत है जो भी इस पर छैनी – हथौड़ा चलायेगा उसकी छैनी टूट जायेगा। ’

लालू का गुस्सा यही नहीं ठंडा हुआ एनडीए पर तीखा प्रहार करते हुए उन्होनें ट्वीट किया कि ‘ एनडीए के लोग भ्रम ना फैलाएं। महागठबंधन अटूट है, लार मत टपकाए। आपको कोई लाभ नहीं होने जा रहा है। आप सब थके और बुरी तरह हारे हुए लोग है । ’

इसके बाद लालू की गाज आरएसएस और बीजेपी पर आ गिरी बड़े ही सहज भाव से बिहार की जनता की तारीफ करते हुए ट्वीट किया है कि आरएसएस और बीजेपी ने जंगलराज का दुष्प्रचार करने की कोशिश की है लेकिन बिहार की जनता ने झाड़ू से बुहार कर बाहर फेंक दिया।

ट्वीट करते हुए लालू ने विपक्ष पर निशाना साधा है । जिसमें लालू ने कहा है कि बिहार के गरीबों वंचितों, उपेक्षितों ने पूर्णविश्वास के साथ महागठबंधन को पूर्ण बहुमत दिया है उस अपज के कारण आप लोगों को उल्टी हो रहा है।

दरअसल, बीते शुक्रवार को नीतीश की पार्टी जेडीयू के तीन नेता तस्लीमुद्दीन, प्रभुनाथ सिंह और रघुवंश सिंह ने राज्य में बढ़ते अपराध को लेकर मुख्यमंत्री पर सवाल उठाया था।

नेताओं का कहना था कि जब मुख्यमंत्री राज्य में ही विधि – व्यवस्था सही से नहीं चला पा रहे है तो देश का नेतृत्व क्या करेंगें। बस, इसी बात पर आरजेडी ने करारा जवाब दिया। राज्य के पूर्व मंत्री और जदयू नेता श्याम रजक ने नीतीश की आलोचना करने वाले तीनों नेताओं को हताशा से भरा शख्स बताया है।

इसी बात से सबको लगने लगा कि अब महागठबंधन ज्यादा दिन तक साथ नहीं चलने वाला है। लेकिन लालू ने अपने लगातार ट्वीट के द्वारा इन पर विराम चिन्ह लगा दिया है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।