लाइका डौगी का अंतरिक्ष सफर -इस कहानी को सुनकर आप हो जायेंगे इमोशनल 

0
22
laika

मिशन सुसाइड पर लाइका का अंतरिक्ष सफर


जानवर बड़े ही प्यारे होते है किसी भी जानवर से भावात्मक रिश्ता बनाना ज्यादा मुश्किल नहीं होता और खासकर जब बात हो कुत्तो की तो कुत्ते तो हमेशा से ही इंसानो के वफादार साथी रहे हैं,, काल्पनिक फिल्म में भी हमेशा इंसानो से ज्यादा कुत्तो के मरने पर  दुःख जताया जाता है आज हम आपको ऐसी कहानी बताने जा रहे है जिसमे एक डौगी’लाईका ‘ के साहस और त्याग की झलक है

परिक्षण के  परिणाम से वाक़िफ़ थे वैज्ञानिक  

दरअसल, 1957 में 3 नवंबर को रूस ने स्पुटनिक-2 नाम के अंतरिक्षयान में लाइका को अंतरिक्ष भेजा था. लाइका ने स्पुटनिक-2 में बैठकर धरती के चक्कर भी लगाए थे. लाइका को परीक्षण के तौर पर इस मिशन पर भेजा गया था. इस मिशन का मकसद अंतरिक्ष में किसी इंसान को भेजना कितना सुरक्षित है और वहां की स्थिति कैसी है?, ये जानना था. लाइका ने इस मिशन को पूरी ईमानदारी और बहादुरी से पूरा किया, लेकिन वह जीवित वापस नहीं आ पाई. 

क्या लाईका अंतरिक्ष में जाने वाली पहली जानवर थी  ?

वैसे, माना तो यही जाता है कि लाइका पहली जानवर थी, जो अंतरिक्ष पर गई थी. मगर ये पूरी तरह से सही नहीं है. क्योंकि लाइका से पहले भी कई जानवर अंतरिक्ष पर भेजे जा चुके  है . जी  हां, ये ज़रूर सही बात है कि लाइका पहला जानवर थी जो धरती के कक्ष में पहुंची. पहले जो भेजे गए थे, वो धरती के कक्ष में नहीं भेजे गए थे. 

यहाँ भी पढ़े:महिलाओं का वोट लोकतंत्र के लिए सबसे महत्वपूर्ण-संघर्षो के बाद मिला अवसर

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments