वीमेन टॉक

कैसे 25 साल की आर्ची सेन रोजाना करती है 200 कुत्तों की मदद : वीडियो देख हो जायेंगे आप ‘Inspire’

जाने कौन है आर्ची सेन जो मदद करती है आवारा कुत्तों की


आर्ची सिंह रांची की रहने वाली है जिनकी उम्र महज 25 साल है। आपको बता दे कि रांची की रहने वाली आर्ची सिंह पिछले साल से ही सड़क के आवारा कुत्तों को खाना खिला रही हैं। सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रही आर्ची सिंह रोजाना करीब 200 कुत्तों को खाना खिलाती है। आपको बता दे कि आर्ची सिंह का ये सिलसिला पिछले साल से ही चल रहा है। जब से हमारे देश में लॉकडाउन लगा है जब से ही आर्ची सिंह ना केवल इस बात का ध्यान रखती हैं कि कोई भी कुत्ता भूखा ना रहे बल्कि आर्ची इनके वैक्सीनेशन और इलाज का भी पूरा ध्यान रखती हैं। आर्ची ने एक मीडिया इंटरव्यू के दौरान बताया था कि उनका ये सिलसिला दो तीन कुत्तों से शुरू हुआ था जो की आज 200 तक पहुंच चुका है। सिर्फ कुत्तों के खाने का ही नहीं बल्कि उनके पानी का भी इंतजाम आर्ची ने अलग-अलग जगहों पर किया हुआ है उन्होंने 50 पानी के बर्तनों का इंतजाम कर उन्हें अलग अलग जगहों पर कुत्तों के लिए रखा है।

और पढ़ें: अगर आपके साथ घरेलू हिंसा हो रही है तो जाने कानून और क्या हो सकती है सजा


जाने क्यों आर्ची सेन सड़क के आवारा कुत्तों को लगाए रिफ्लेक्टिव कॉलर बेल्ट

आपको बता दे कि आर्ची सेन सड़क के आवारा कुत्तों को खाना खिलने के साथ साथ उनके लिए ऐसे रिफ्लेक्टिव कॉलर बेल्ट का भी इंतजाम करती है जो की रात के अंधेरे में रिफ्लेक्टिव होते है। जिनके कारण कोई भी आवारा कुत्ता रात को किसी भी सड़क दुर्घटना का शिकार न हो सकें। ये रिफ्लेक्टिव कॉलर बेल्ट सड़क के आवारा कुत्तों को सड़क दुर्घटना से बचने में मदद करती है। अपने भी देखा होगा कि रात के अंधेरे में कई कुत्ते गाड़ी के नीचे आकर दब जाते हैं जिसके कारण उनकी मौत हो जाती है। उन सभी चीजों को देखते हुए ही आर्ची सिंह ने ये नेक काम शुरू किया है। उन्होंने अभी तक करीब 150 कुत्तों को इस तरह के रिफ्लेक्टिव कॉलर बेल्ट लगा दिए हैं।

आपको बता दे कि आर्ची सेन  का कहना है कि सड़क के आवारा कुत्तों का गुजरा सड़क पर पड़े खाने को खाकर ही होता था लेकिन जब से हमारे देश में लॉकडाउन लगा है जब से ही सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है जिसके कारण कुत्तों के खाने में भी कमी आ गयी है। आपको बता दे कि आर्ची ने पहले तो कुत्तों को चार पैकेट बिस्कुट लेकर खिलाए। लेकिन वो तुरंत ही खत्म हो गया। उसके बाद आर्ची और ज्यादा बिस्कुट के पैकेट लाने लगीं। लेकिन इतने ज्यादा बिस्कुट के पैकेट भी तुरंत ही खत्म हो जाते थे। जिसके बाद आर्ची ने सड़क के आवारा कुत्तों को खाना खिलाना शुरू किया। लेकिन वो ये काम ज्यादा दिनों एक नहीं कर पाए। क्योंकि इसके लिए उन्हें बहुत सारे पैसों की जरूरत थी। इसके लिए उन्होंने सोशल मीडिया पर एक पेज बनाया ‘स्ट्रीट डॉग फॉर रांची’ जिसमे उन्होंने लोगों इस दान देने की अपील की थी। जिसमे बहुत सारे लोगों ने उनकी मदद की।  सहायता से अब वो इस समय पर 200 से ज्यादा कुत्तों को रोजाना खाना खिलाने का काम कर पा रही है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।