लाइफस्टाइल

किताबों से दोस्ती होती  है बेहद फायदेमंद, जाने इससे दिमाग को मिलने वाले फायदों के बारे में

किताब पढ़ना न सिर्फ आपकी नॉलेज के लिए बल्कि आपकी हेल्थ और वेलनेस के लिए भी है फायदेमंद


किताबें हमारे जीवन का एक अभिन्न हिस्सा होती है आपको याद होगा कि जब आप छोटे बच्चे थे तो आपके माता पिता आपके टीचर सभी लोग आपको किताब पढ़ने को कहते थे। क्योकि किताब पढ़ना एक अच्छी आदत है। किताब पढ़ना न सिर्फ आपकी नॉलेज बढ़ती है बल्कि ये आपके हेल्थ और वेलनेस के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। शायद इसी लिए बचपन में हमारे माता पिता से लेकर डॉक्टर, टीचर्स और लाइब्रेरियन तक सभी लोग हमे कहते थे कि हमे किताबे पढ़नी चाहिए। लेकिन शायद आपको किसी ने ये नहीं बताया होगा कि रोज किताब पढ़ने से आपके दिमाग को क्या फायदे मिलते है। एक रिसर्च के मुताबिक रोज किताब पढ़ने से न सिर्फ आप स्मार्ट बनते है बल्कि आपकी उम्र बढ़ने के साथ यह आपको शार्प और एनालिटिकल भी बनाता है। तो चलिए आज हम आपको बताएंगे रोज किताब पढ़ने के फायदे।

1. दिमाग की कनेक्टिविटी बढ़ती है: क्या आपको पता है रोज किताब पढ़ने से दिमाग की कनेक्टिविटी बढ़ती है। एक रिसर्च के मुताबिक नोवेल पढ़ने से आपके दिमाग की कनेक्टिविटी बढ़ती है यह कनेक्टिविटी न सिर्फ किताब पढ़ते हुए तक रहती है बल्कि लम्बे समय तक आपके दिमाग में रहती है।

और पढ़ें: अगर आपको भी पसंद है ब्यूटी प्रोडक्ट् तो खरीदते हुए इन बातों का रखें खास ख्याल

2. कम्यूनिकेशन को बेहतर बनती है: अगर आप अपनी कम्यूनिकेशन को बेहतर बनना चाहते है तो आपको रोज किताब पढ़ना चाहिए। जो व्यक्ति रोज किताबें पढ़ता है उसकी वोकैबलरी हमेशा उस व्यक्ति से बेहतर होगी जो कभी किताब नहीं पढ़ता। एक रिसर्च के मुताबिक रीडिंग एक्सरसाइज ब्रेन टिशूज़ को पॉजिटिवली बदल सकता है। इतना ही नहीं इससे ब्रेन खुद को रिवायर करता है और ब्रेन में व्हाइ मैटर को बढ़ाता है।

3. याददाश्त: रेगुलर बुक रीडिंग एक ब्रेन एक्सरसाइज का काम करती है। रेगुलर रीडिंग से न सिर्फ आपकी याददाश्त तेज होती है बल्कि आपकी चीजों पर अटेंशन करने की क्षमता भी बढ़ जाती है। रेगुलर रीडिंग से ब्रेन को सीक्वेंस में सोचने में मदद मिलती है। इससे आपके दिमाग का अटेंशन स्पैन भी बढ़ता है।

4. एनालिटिकल रीज़निंग: अगर आप भी थ्रिलर बुक्स लवर है तो आप इस बात को मानते होंगे कि थ्रिलर बुक्स पढ़ने से आपकी एनालिटिकल रीज़निंग में सुधार होता है। आपका बार-बार रहस्यों और रोमांच के बारे में पढ़ना आपके ब्रेन को उसी तरह फ्रेम करता है।

5. ब्रेन सेल्स को मजबूत बनाना: एक रिसर्च के मुताबिक बुक रीडिंग के समय दिमाग में सर्किट और सिंग्नल्स का एक कॉम्प्लैक्स नेटवर्क काम करता है। जैसे-जैसे आपकी रीडिंग की हैबिट बढ़ती है वैसे-वैसे ब्रेन सेल्स नेटवर्क भी मजबूत होते है। अपने बहुत सारे लोगों से सुना होगा कि जब वो किताब पढ़ते है तो उनको ऐसा फील होता है जैसे वो फिल्म देख रहे हो। ऐसा इमेजिनेशन के कारण होता है। जितना अधिक आप पढ़ते है उतनी ही आपकी इमेजिनेशन पावर बढ़ती है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।