पॉलिटिक्स

माफी मांगने के लिए केजरीवाल ने की दरबार में सेवा

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में बर्तन धोकर सेवा की। उन्होंने दरबार में सेवा माफी मांगने के लिए की, और सेवा करके केजरीवाल को शांति भी मिली है।

अरविंद केजरीवाल ने सेवा करने के बाद कहा है कि पिछले दिनों यूथ मैनिफ़ेस्टो जारी करने के दौरान उनकी पार्टी की ओर से अनजाने में जो ग़लती हुई थी उसकी माफ़ी मांगने के लिए ही उन्होंने दरबार में सेवा की है और सेवा कर के उन्हें शांति मिली है।

आपको बता दें, केजरीवाल के सहयोगी आशीष खेतान ने पिछले दिनों यूथ मैनिफ़ेस्टो जारी किया था, उस वक्त उन्होंने इसकी तुलना गुरुग्रंथ साहिब से की थी। मैनिफ़ेस्टो में पार्टी के चुनाव चिन्ह झाड़ू के साथ स्वर्ण मंदिर की भी तस्वीर हैं।

kejriwal-golden-temple

अरविंद केजरीवाल

इस दौरान केजरीवाल के साथ आशीष खेतान, सुच्चा सिंह छोटेपुर, पूर्व पत्रकार कंवर संधू और साधू सिंह सहित कई नेता मौजूद थे।

इसके बाद आशीष खेतान पर धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप लगाया गया था। इस ममाले पर उनके खिलाफ पंजाब पुलिस में शिकायत भी दर्ज की गई थी। इस मैनिफेस्टो विवाद के चलते आप की सोशल मीडिया पर काफी आलोचना भी हुई है और ट्विटर पर #KejriinsultsGoldenTemple का हैशटैग चलाया गया।

आशीष खेतान ने इस मामले में माफी मांग ली थी और साथ ही कहा था कि उनका मकसद पवित्र ग्रंथ का निरादर करना नहीं था।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Back to top button