लाइफस्टाइल

घर में डोमेस्टिक सर्वेंट रखते समय रखें इन 5 बातों का ध्यान

बड़े नुकसान से बचना चाहते हैं तो सोच-समझकर रखें डोमेस्टिक सर्वेंट


आज की कामकाजी जिंदगी में घर का काम करने के लिए डोमेस्टिक हेल्पर (नौकर या नौकरानी) की मदद लेना अब आम बात है। खास कर शहरों में रह रहे कामकाजी दंपति इन पर खासा निर्भर रहने लगे हैं। डोमेस्टिक हेल्प पर बढ़ती निर्भरता का ही नतीजा है कि हम डोमेस्टिक हेल्प रखते समय कई अहम बातों को नजरअंदाज करने लगे हैं, जो आगे चलकर मालिक के लिए एक बड़ी मुसीबत साबित हो सकती है।

डोमेस्टिक सर्वेंट
डोमेस्टिक सर्वेंट

महत्वपूर्ण बातें

• जाने-अनजाने में कई बार होती है मकान मालिकों से यह भूल
• हेल्पर को लेकर जानकारी न होना सबसे बड़ी समस्या
• घर की बातों को साझा करने से भी बचें

दरअसल, बीते कुछ वर्षों में डोमेस्टिक हेल्पर के आपराधिक मामलों में शामिल होने की कई घटनाएं सामने आई हैं। दिल्ली में कई ऐसे गैंग्स भी पकड़े गए हैं जो डोमेस्टिक हेल्प मुहैया कराने के नाम पर चोरी और लूट करते थे। दिल्ली व अन्य महानगरों में आए दिन इस तरह की घटनाएं सामने आती रही हैं। ऐसे में कहीं आपके साथ भी भविष्य में इस तरह की कोई घटना न हो इसके लिए जरूरी है कि डोमेस्टिक हेल्प का चुनाव करते समय आप कुछ सावधानी बरतें।
आइए जानते हैं कि कौन से हैं वह पांच महत्वपूर्ण बातें जिसका आपको हमेशा ध्यान में रखना चाहिए:-

1. डोमेस्टिक हेल्प से जुड़ी जानकारी रखें

अक्सर डोमेस्टिक हेल्प रखते समय उसकी सैलरी और वह कितने दिन काम करने आएगा/आएगी पर ज्यादा ध्यान देते हैं। डोमेस्टिक हेल्प चुनते समय उससे जुड़ी कई अन्य बातों, मसलन वह पहले कहां काम करता था/ करती थी, उसे वहां से काम क्यों छोड़ना पड़ा, क्या वह पहले किसी आपराधिक मामले में शामिल रहा/रही है और पहले के मालिक के साथ उसका कैसा बर्ताव था, के बारे में कुछ मालूम नहीं करते। इस तरह की जानकारी के अभाव में ही हम अक्सर आपराधिक प्रवृति के लोगों को काम पर रख लेते हैं। जबकि इन बातों का खास तौर पर ध्यान रखना चाहिए।

2.पुलिस से तुरंत कराएं सत्यापन

मकान मालिक अक्सर डोमेस्टिक हेल्प रखने के बाद उसका पुलिस से सत्यापन कराना भूल जाते हैं। मकान मालिक की इस लापरवाही का उन्हें काफी खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। किसी भी डोमेस्टिक हेल्प को रखने के कुछ दिन के भीतर ही आपको उसका सत्यापन कराना चाहिए। इससे आपके पास व स्थानीय पुलिस के पास हेल्पर से जुड़ी तमाम जानकारी होगी और भविष्य में किसी तरह की घटना होने के बाद पुलिस को उसे गिरफ्तार करने में आसानी होगी।

3.घर को कभी उनके भरोसे न छोड़ें

डोमेस्टिक हेल्प रखने के बाद कोशिश करें कि वह जब तक आपके घर में रहे आपके परिवार में से कोई न कोई सदस्य या आपका कोई करीबी घर पर मौजूद हो। बीते कुछ वर्षों में हुई घटनाओं को अनुसार उन घरों में लूट और चोरी की वारदातें ज्यादा हुई हैं जहां घर में ज्यादातर समय डोमेस्टिक हेल्पर अकेला रहा हो। पुलिस के अनुसार हेल्पर कुछ दिन मकान मालिक का विश्वास जीतने के बाद बड़ी आपराधिक घटनाएं करते है। इसीलिए आप कभी भी डोमेस्टिक हेल्पर के भरोसे घर न छोड़ें।

4.नकदी और आभूषण सामने न रखें

डोमेस्टिक हेल्पर के साथ कुछ समय रहने के बाद अक्सर मकान मालिक उसकी मौजूदगी में ही नकदी और आभूषण रखने लगते हैं। लिहाजा कोशिश करें कि डोमेस्टिक हेल्पर को दिखाकर महंगे आभूषण और नकदी न रखे जाएं।

5.जरूरी पासवर्ड और चाभी साझा न करें

आपका डोमेस्टिक हेल्पर चाहे कितना ही पुराना क्यों न हो, आपको चाहिए कि आप उससे अपने घर से जुड़े अहम पासवर्ड और चाभियां उसके शेयर न करे। आपकी यह गलती कई बार हेल्पर को आपराधिक घटनाएं करने के लिए उकसाती है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।