सुझावसेहत

जनेऊ पहनने से होते है ये फायदे

जानिए जनेऊ पहने से क्या फायदे होते है


क्या आप जानते है जनेऊ पहनने के फायदे? हिंदू धर्म के अनुसार ब्राह्माण समाज में जब लड़का 10 से 12 साल का होता है तो उसे जनेऊ धारण करवाया जाता है। जनेऊ तीन धागों वाला एक सूत्र है। जनेऊ धारण करने के बाद लड़का नियमों कानूनों में बंध जाता है। इसलिए आज के कई मॉर्डन लड़के इसे पहनना पसंद नहीं करते हैं। जनेऊ उनके फैशन में रोड़ा बन जाता है। लेकिन आपको पता है जनेऊ के अनेकों फायदे है।

चिकित्सकों अनुसार यह जनेऊ के ह्रदय के पास से गुजरने से यह ह्दय रोग की संभावना को कम करता है क्योंकि इससे रक्त संचार सुचारु रुप से संचालित होने लगता है। ऐसे ही अनेकों और भी बड़े फायदे हैं जनेऊ धारण करने के।

ऐसे ही अनेकों और भी बड़े फायदे हैं जनेऊ धारण करने के जिसके बार में आज हम आपको बताने जा रहे हैं।

जनेऊ धारण करता लड़का
जनेऊ धारण करता लड़का

और पढ़े : खाद्य पदार्थ जो बढा देते हैं दिमाग की क्षमता काम के दौरान

रक्त संचार बनें सुचारु

चिकित्सकों के अनुसार यह जनेऊ ह्रदय के पास से गुजरता है। ह्रदय के पास से गुजरने के कारण ह्दय रोग की संभावना कम होती है। इसके साथ ही रक्त संचार सुंचारु रुप से संचालित होने लगता है।

और पढ़े : बढ़ती उम्र के साथ घटती याद्दाश्त

बीमारियों से बचाता है

इसे पहनने वाले व्यक्ति को साफ सफाई का काफी ध्यान रखना पड़ता है। अगर वह मल-मूल त्यागने गया है तो उसे जनेऊ को अपने कामों पर टांगना होगा और फिर हाथ पैर धोकर कुल्ला कर के ही जनेऊ को कानों से उतारता है। यह सफाई उस दांत, मुंह, पेट, कृमि जीवाणों के रोगों से बचाती है।

कान पर बांधने के फायदे

कान पर जनेऊ बांधने से स्मरण शक्ति बढ़ती है। इसके साथ ही कान पर बांधने से कान के अंदर की नसें दबती हैं जिनका संबंध सीधे आंतों से होता है। नसों पर दबाव पड़ने से कब्जी की शिकायत नहीं होती और पेट अच्छे से साफ हो जाता है।

बुरे कार्यों से बचाए

जनेऊ से पवित्रता का अहसास होता है। यह मन को बुरे कार्यों से बचाती है। कंधे पर जनेऊ है इसका मात्र अहसास होने से ही मनुष्य भ्रष्टाचार से दूर रहने लगता है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button