JNU protest: जेएनयू के छात्रों का प्रदर्शन जारी, आमने सामने हुए छात्र और पुलिस

0
JNU protest

JNU protest: जानिएक्यों कर रहे है जेएनयू के छात्र ये प्रदर्शन


JNU protest: दिल्ली के जहरवाला नेहरू विश्वविद्यालय में सोमवार को जहां ऑडिटोरियम के अंदर चल रहे दीक्षांत समारोह में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडु का सम्बोधन चल रहा था, उसी ऑडिटोरियम के बहार छात्र-छात्राओं का जोरदार प्रदर्शन भी जारी था। प्रदर्शन के जोरदार होने का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि कई बार छात्रों और पुलिस के बीच नोकझोंक देखने को मिली। फिलहाल प्रदर्शन जारी है और छात्र अपनी मांगों को लेकर अड़े हुए हैं। पिछले 15 दिनों से जेएनयू कैंपस में चल रहे आंदोलन से फीस वृद्धि के साथ अन्य मांगों को लेकर छात्र-छात्राएं प्रदर्शन कर रहे हैं। फीस में इजाफे के बाद छात्रों का कहना है कि 40 फीसद गरीब छात्र कैसे पढ़ाई करेंगे।

क्या है छात्रों की मांग:

गौरतलब है की दीक्षांत समारोह के बीच कैंपस में बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं अपनी कई मांगों को लेकर जोरदार प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शनकारी छात्र-छात्राओं का कहना है कि बिना सस्ती शिक्षा के जवाहर नेहरू विश्वविद्यालय में दीक्षांत समारोह उन्हें मंजूर नहीं है। साथ ही उनका यह भी कहना है कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं हो जातीं प्रदर्शन जारी रहेगा।

और पढ़ें: World Education Day: 70 सालों में भारत में क्या है शिक्षा का स्तर

आपको बता दे कि सोमवार को हो रहे दीक्षांत समारोह में केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के साथ उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडु भी शामिल हुए हैं। अफगार सूत्रों की बात माने तो, जेएनयू के तीसरे दीक्षांत समारोह स्थल के बाहर विश्वविद्यालय के छात्रों की तरफ से छात्रावास की फीस वृद्धि के खिलाफ प्रदर्शन किया जा रहा है। पुलिस ने अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद के ऑडिटोरियम से पहले जहां समरोह हो रहा है, वहां पर बेरिकेडिंग लगा कर छात्रों को रोक रखा है।

छात्रों का क्या है कहना:

छात्रों ने मीडिया को बोलते हुआ कहा की, ‘पिछले 15 दिनों से हम फीस वृद्धि के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। जेएनयू में 40 फीसद छात्र गरीब परिवारों से आते हैं। ऐसे में कैसे हम शिक्षा ग्रहण कर पा रहे हैं’।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here