परिश्रम और लगन से भरा  रहा है जया प्रदा का करियर 

0
jaya-prada

कलाकार से राजनीतिज्ञ बनने तक ऐसा रहा सफर


आंध्रप्रदेश के मध्यम वर्गीय परिवार में 3 अप्रैल 1962 को जन्म लेने वाली जया प्रदा के अब तक  लाखों दीवाने है  .बचपन से ही नृत्य और नाटक में रूचि होने के कारण माँ ने कम उम्र में ही जाया को नृत्य और संगीत की कक्षाओं में दाखिला करवा दिया था.
अपनी शाला के रंगारंग कार्यक्रम में नृत्य कर रही जया प्रदा के हुनर पर जब भीड़ में बैठे निर्देशक की नज़र गयी तो वो खुद को रोक नहीं पाए और बिना देर किये निर्देशक ने अपनी तेलगू फिल्म’भूमिकोसम ‘के लिए जाया प्रदा के सामने प्रस्ताव रखा. प्रस्ताव स्वीकार कर जया ने भूमिकोसम में अपने 3 मिनट के नृत्य का अभिनय किया। जो उनक फ़िल्मी करियर का पहला काम था उस वक़्त जया शायद अनजान थी की वे आगे जाकर फ़िल्मी दुनिया में बहुत बड़ा नाम कमाने वाली हैं

10 रूपए से कि थी अपने फ़िल्मी करियर की शुरआत

पहले अभिनय के लिए जया प्रदा को मात्र 10 रूपए दिए गए थे इस तीन मिनट के अभिनय ने मानो जैसे उनके लिए तेलुगु फिल्म जगत के दरवाज़े ही खोल दिए गए और जया लगातार फिल्मों में अपनी छाप छोड़ती चली गयी .1976  में बनी  तेलुगु मूवी’ सीरी सीरी ‘ के बॉलीवुड रीमके’सरगम’ में जब जया को काम मिला तो फिल्म फेयर में पहली बार उन्हें बतौर सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के रूप में नामांकित किया गया इसके बाद लगातार जया की हिट मूवीज का सिलसिला शुरू हो गया.
अभिनय की कला से पूर्ण जया हिंदी भाषा की कच्ची थी मगर जब  1982 में फिल्म ‘कामचोर ‘में  फर्राटेदार हिंदी बोलते नज़र आयी तो मनो उन्होंने दर्शको का दिल हिजीत लिया। जिसके बाद उन्होंने 1984 फिल्म शराबी में अभिताभ बच्चन की प्रेमिका की भूमिका निभाई साथ ही साथ फिल्म ‘संजोग’में दोहरी भूमिका निभाकर बेहतरीन प्रदर्शन दिया। जिसके बाद जया को सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के रूप में फिल्म फेयर द्वारा नवाज़ा गया

उतार चढ़ाव के दौर में जया प्रदा के कुछ बड़े फैसले

सन 1986 में जया प्रदा ने फिल्म निर्माता श्रीकांत निहोता से शादी कर खुदको सवालो के घेरे में डाल दिया श्रीकांत निहोता पहले से ही शादी शुदा होने के साथ साथ तीन बच्चो के पिता भी थे ऐसे में पहली पत्नी के होते हुए दूसरी पत्नी का दर्ज़ा लेने से जया को कोई आपत्ति नहीं हुई. पति साझा करने की बात पर लोगो द्वारा तरह तरह के सवाल उठे गए लेकिन दुनिया से बेख़ौफ़ जया ने किसी की न सुनी.
एक और बड़े फैसले को अंजाम देते हुए जया  ने 1994 में तेलुगु देशम पार्टी ज्वाइन कर खुदके राजनीतिज्ञ करियर की शुरुवात की . फिर समाजवादी पार्टी का साथ पकड़ जया ने राजनीती में अच्छी  पकड़ बना ली फिलहाल जया प्रदा भारतीय जनता पार्टी में शामिल हैं और रामपुर की सीट से लोकसभा चुनाव लड़ रहीं हैं

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here