जाने खेल जगत में भारत का परचम लहराने वही भारतीय महिलाओं के बारे में: हमारी छोरिया छोरो से कम है के?

0
176
p v sindhu

खेल की दुनिया में भारत का नाम रोशन करने वाली महिलाएं: जाने उनसे जुडी कुछ ख़ास बाते



भारत एक पुरुष प्रधान देश है यहाँ हमेशा  से ही महिलाओं को पुरुषों से कम आंका जाता है महिलाओं को सिर्फ घर तक ही सीमित  रखा जाता था। पहले लोगों का मानना  था कि महिलाएं बाहर का काम नहीं कर सकती। परन्तु अब ऐसा नहीं है अब समय बदल चुका  है आज के समय में महिलाएं पुरुषों के मुताबिक हर क्षेत्र में आगे है। खेल हो या पढ़ाई महिलाएं हर क्षेत्र पुरुषों  से काफी आगे बढ़ रही है। आज हम आपको उन महिलाओं के बारे में बताएंगे जिन्होंने खेल के क्षेत्र में दुनिया में भारत का नाम रोशन किया हैं|

साइना नेहवाल: साइना का जन्म 17 मार्च 1990 में हरियाणा के हिसार में हुआ था उनके पिता का नाम डॉ॰ हरवीर सिंह नेहवाल और माता का नाम उषा नेहवाल है। साइना नेहवाल दुनिया की नंबर 1 महिला बैडमिंटन खिलाड़ी है वो ओलंपिक में तीन बार भारत का प्रतिनिधित्व कर चुकी है अभी तक साइना नेहवाल 24 अंतरराष्ट्रीय खिताब अपने नाम कर चुकी है। इतना ही नहीं 2012 में साइना नेहवाल ने लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था। साथ ही उन्होंने अब तक तीन राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक भी जीत चुकी है।

और पढ़ें: जाने भारतीय महिला हॉकी खिलाड़ी नेहा गोयल और उनकी माँ की सक्सेस स्टोरी

पीवी सिंधू: पीवी सिंधू का जन्म 5 जुलाई 1995 को वालीबॉल खिलाड़ी पी.वी. रमण के घर हुआ था। क्या आपको पता है पीवी सिंधू विश्व की सर्वश्रेष्ठ महिला बैडमिंटन खिलाड़ियों की लिस्ट में दूसरे नंबर पर आती है। इतना ही नहीं रियो ओलंपिक में पीवी सिंधू ने सिल्वर मेडल जीता था। साथ ही पीवी सिंधू ने 2018 में राष्ट्रमंडल खेलों और एशियाई खेलों में भी सिल्वर मेडल जीता था।

मैरीकॅाम: मैरीकॅाम का जन्म 1 मार्च 1983 को मणिपुर के चुराचांदपुर जिले में एक गरीब किसान के परिवार में हुआ था। मैरीकॅाम अभी एक विश्व मुक्केबाज चैंपियन है उन्होंने अभी तक मुक्केबाजी में 6 गोल्ड, 1 सिल्वर और 1 ब्रॉन्ज मेडल जीत चुकी है। मैरीकॅाम दुनिया की पहली ऐसी मुक्केबाज चैंपियन है जिन्होंने विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में आठ पदक जीते है। इतना ही नहीं मैरीकॅाम टूर्नामेंट में भी इतिहास रचने वाली पहली महिला है उन्होंने टूर्नामेंट में 6 स्वर्ण पदक जितने थे।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments