लाइफस्टाइल

Omg! बॉयफ्रेंड के कपड़े शेयर करने से रिश्ता होता है मजबूत और stress रहता है दूर – Study

how to keep relationship healthy: आपके बॉयफ्रेंड की शर्ट रख सकती है आपको stress-free


How to keep relationship healthy: कई बार ऐसा होता है की शौक में या मौज-मस्ती में पार्टनर्स एक दूसरे के कपड़े पहन लेते है लेकिन एक रिसर्च से पता चलता है कि लड़कियां जब अपने पार्टनर्स के कपड़े पहनती है तो उन्हें तनाव जैसी समस्याओं से राहत मिलती है। ये रिसर्च यूनिवर्सिटी ऑफ़ ब्रिटिश कोलम्बिया में की गई है। रिसर्च का कहना है की बॉयफ्रेंड की टी-शर्ट, शर्ट और कोई भी ड्रेस पहने से गर्लफ्रेंड के मूड पर पॉजिटिव असर होता है। मूड स्विंग की समस्या से पीड़ित महिलाएं को भी इससे काफी फायदा होता है।

1. कैसे हुई रिसर्च:

यह रिसर्च करने के रेसेअचेर्स ने लड़कियों को तीन तरह के कपड़े सूंघने को दिया था। पहला कपड़ा किसी अजनबी का था, दूसरा कोई नया कपडा था और तीसरा उनके बॉयफ्रैंड की यूज़ की हुई शर्ट थी। लड़कियों को उनके बॉयफ्रेंड की वो ड्रेस सूंघने को दी गई जो उन्होंने ने 24 घंटे में उन्होंने पहनी थी, ताकि उसमें उनके शरीर की गंध मौजूद रहे।

2. पार्टनर के पहनती है कपड़े:

ऐसा देखा गया है की कुछ लड़कियां पार्टनर की गैरमौजूदगी में उनकी शर्ट पहनती और बेड पर वही  सोती  है, जहाँ पहले उनके पार्टनर सोया करते हैं। वे ऐसा क्यों करते थे, इसका पता उन्हें नहीं होता, पर इस रिसर्च से पता चला कि वहां उन्हें अपने पार्टन के शरीर की गंध का एहसास होता है जो उन्हें टेंशन से दूर रखता है। यह सब-कॉन्शियस लेवल पर होता है।

3. यूजफुल रही रिसर्च:

यह स्टडी करने वाले रेसेअचेर्स का कहना है कि ये रिसर्च उन महिलाओं के ट्रीटमेंट में काफी यूजफुल साबित रही है जो अक्सर उदासी और डिप्रेशन की समस्या से जूझती हैं। खास कर कुछ महिलाओं में उदासी और चिंता तब बढ़ जाती है, जब किसी वजह से उन्हें अपने पार्टनर से दूर रहना पड़ता है। सीनियर रिसर्चर फ्रांसिस चेन का कहना था कि इसे लेकर अभी और भी स्टडी की जाएगी।
अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।