एजुकेशन

जानें देश में कितनी तरह की यूनिर्वसिटीज हैं

सेंट्रल यूनिर्वसिटीज में एडमिशन लेने है थोड़ा कठिन


आपने अक्सर बचपन में अपने घर में सुना होगा कि अगर अच्छी जिदंगी चाहते हो तो अच्छे से पढ़ाई करो। ताकि आगे की जिदंगी अच्छी हो जाएं। बचपन में हम सभी स्कूल जाते हैं।

यूनिर्वसिटी
यूनिर्वसिटी

10वीं तक आप को लगभग सभी सब्जेक्ट की पढ़ाई करनी पड़ती है। लेकिन 10वीं के बाद आप अपनी क्षमता और रुचि के अनुसार सब्जेक्ट लेते हैं। उन्हीं सब्जेक्ट के अनुसार अपने भविष्य को सांवरने की कोशिश करते हैं। आप हर संभव कोशिश करते हैं कि आप एक अच्छे कॉलेज और अच्छी यूनिर्वसिटी में पढ़ाई करें। लेकिन आपको पता है कि 12वीं पास करने के बाद ज्यादातर लोगों को अागे के कॉलेज और यूनिर्वसिटीज के बारे में पता ही नहीं होता है। क्योंकि जैसे ही रिजल्ट आते हैं वैसे ही तरह-तरह के लोकलुभावने कोर्स आ जाते हैं।

आपको लगभग हर जगह ऐसे इंस्टीट्यूट के बारे मे देखने को मिलेगा। और बच्चों को लगाने लगता है कि इनसे अच्छा और कुछ हो ही नहीं सकता है। लेकिन आपको पता है इससे भी अच्छा विकल्प है देश की विभिन्न यूनिर्वसिटीज में। बस आपको इसके लिए थोड़ा सजक रहना होता है। ताकि इनके फॉर्म सही समय पर भर पाएं और प्रवेश परीक्षा दें। तो चलिए आज आपको बताते है देश की यूनिर्वसिटीज के बारे में।

केंद्रीय विश्वविद्यालय(सेंट्रल यूनिर्वसिटीज)

सेंट्रल यूनर्वसिटीज संसद द्वारा पारित की जाती है। सेंट्रल यूनिर्वसिटीज मानव संसाधन विकास मंत्रालय के तहत उच्च शिक्षा विभाग के प्रत्यक्ष दायरे में हैं। साल 2017 में एचआरडी द्वारा पारित की सूची के अनुसार देश में 47 सेंट्रल यूनिर्वसिटीज है। कृषि मंत्रालय, जहाजरानी मंत्रालय और विदेश मंत्रालय के अंतर्गत एक-एक केंद्रीय विश्वविद्यालय आते हैं। सबसे पुरानी सेंट्रल यूनिर्वसिटी इलाहाबाद यूनिर्वसिटी है। लेकिन यहां एडमिशन लेने के लिए आपको कभी मेहनत करनी पड़ेगी। क्योंकि यहां एडमिशन लेने के लिए आपको प्रवेश परीक्षा पास करनी होगी।

Related : एशियॉन टॉप 100 यूनिर्वसिटी में भारतीय यूनिर्वसिटी 27वें स्थान पर…

स्टेट यूनिर्वसिटीज

स्टेट यूनिर्वसिटीज जैसा नाम से ही जाहिर हो रहा है इसका नियंत्रण राज्य सरकार के हाथों मे होता है। स्टेट यूनिर्वसिटीज स्थानीय विधायी विधान के द्वारा पारित होती है। यूसीजी के अनुसार देश में 359 स्टेट यूनिर्वसिटीज है। स्टेट यूनिर्वसिट छात्रों को अपनी डिग्री प्रदान/ अनुदान दे सकते हैं।

डीम्ड यूनिर्वसिटीज(मानित विश्वविद्यालय)

डीम्ड यूनिर्वसिटीज उन शिक्षा संस्थआओं को कहते है जिन्हे विश्वविद्यालय अनुदान आयोग की सलाह पर भारत सरकार के उच्च शिक्षा विभाग द्वारा इस प्रकार की मान्यता दी जाती है। जिन संस्थानों को मानित विश्वविद्यालय घोषित किया जाता है। वे विश्वविद्यालय के शैक्षिक स्तरों और विशेषाधिकारों का उपयोग करते हैं। यूजीसी के अनुसार देश में 123 डीम्ड यूनिर्वसिटीज है।

Related : 25 भारतीय स्टूडेंस को अमेरिकी यूनिर्वसिटी से निकाला गया

प्राइवेट यूनिर्वसिटीज

प्राइवेट यूनिर्वसिटीज यूजीसी के द्वारा ही मान्यता प्राप्त की होती हैं। यह यूनिर्वसिटीज केंद्र सरकार और राज्य सरकार के अनुदान से नही चलते हैं। प्राइवेट यूनिर्वसिटीज डिग्री प्रदान कर सकते लेकिन ऑफ कैंपस कॉलेज नहीं हो सकते। वे पांच साल के अस्तित्व के बाद संबंधित राज्य के भीतर ऑफ कैम्पस सेंटर(एस) की स्थापना कर सकते हैं। जिनके पास चांसलर है एक निजी विश्वविद्यालल हमेशा अध्यक्ष या अध्यक्ष की अध्यक्षता करता है। वैसे प्राइवेट यूनिर्वसिटीज मे यूजीसी समय-समय पर निरीत्रण समितियों को भेजती है। यूजीसी के अनुसार देश में 260 प्राइवेट यूनिर्वसिटीज

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।