HIV Vaccine Awareness Day 2020: क्या है एचआईवी एड्स और इसके लक्षण, साथ ही जाने इसके कारण और उपचार

0
51
HIV Vaccine Awareness Day

क्यों मनाया जाता है HIV Vaccine Awareness Day?


HIV Vaccine Awareness Day: एचआईवी वैक्सीन अवेयरनेस डे को विश्व एड्स वैक्सीन डे के नाम से भी जाना जाता है। एचआईवी वैक्सीन अवेयरनेस डे हर साल 18 मई को मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का मुख्य कारण लोगों को वैक्सीन और टीके के प्रति जागरूक करना और एचआईवी एड्स के प्रति शिक्षित करना। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने दुनिया के विशेषज्ञों और वैज्ञानिकों से एड्स के लिए एक टीका बनाने की दिशा में काम करने के लिए कहा था। उन्होंने कहा कि एचआईवी के प्रसार को सीमित करने और इसे मिटाबे का एकमात्र तरीका है एचआईवी वैक्सीन।

एचआईवी एड्स के लक्षण

एचआईवी से संक्रमित लोगों में लम्बे समय तक तो एड्स के कोई भी लक्षण दिखाई नहीं देते। जब एचआईवी व्यक्ति में उन्नत चरण तक पहुंचने लगता है, तो उससे थकान, सिरदर्द, चक्कर आना, वजन कम होना, लगातार दस्त, रात को पसीना आना, बुखार और सूखी खांसी जैसे लक्षण नजर आने लगते है।

कैसे फैलता है एचआईवी एड्स?

हमारे देश में अभी भी बहुत से ऐसे लोग है जो ये नहीं समझते है कि एचआईवी कैसे फैलता है। एचआईवी शरीर के तरल पदार्थों के संपर्क में आने से फैलता है। जैसे माँ के दूध से, रक्त, मासिक धर्म के एवं लार या मल-मूत्र में आने वाले रक्त से भी एचआईवी एड्स फेल सकता है।

और पढ़ें: World Asthma Day: क्यों और कब मनाया जाता है विश्व अस्थमा दिवस

एचआईवी एड्स के उपचार

एचआईवी एड्स की वजह से बहुत सारे लोगों को अपमान सहना पड़ता है जिसे उनकी शारीरिक क्षमता के साथ-साथ मानसिक क्षमता भी प्रभावित होती है। लेकिन अच्छी बात ये है कि इस बीमारी का उपचार संभव है। एड्स के उपचार में एंटी रेट्रोवाइरल थेरपी और दवाइयों का उपयोग किया जाता है। ये दवाइया  शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करती है और अवसरवादी रोगों को ठीक करती है।

36.9 मिलियन लोग है एड्स से ग्रस्त

विश्व स्वास्थ्य संगठन के 2017 के आंकड़ों के अनुसार, 36.9 मिलियन लोग एचआईवी एड्स से ग्रस्त हैं, जिसका मुख्या कारण लोगों में एचआईवी एड्स के प्रति जागरूकता की कमी है। हालांकि, विशेषज्ञों और वैज्ञानिकों का कहना है कि अभी इस पर बहुत शोध करने की जरुरत है। मगर शोधकर्ताओं का कहना है कि अगर इसके बारे में आपको सही जानकारी हो तो बचाव किया जा सकता है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com