हर दिन तुम्हारा है माँ,तो सिर्फ ये एक दिन ही क्यों ? 

0
25

यूँ ही नहीं कहते माँ के क़दमों को जन्नत


Happy Mother’s Day माँ एक ऐसा शब्द है जो अपने अंदर दुनिया भर की  हर भावना हर सैलाब को समेटे हुए है.ऐसे में दुनिया भर में एक दिन ऐसा आता है जब अपनी माँ को सम्मान और खूब सारा प्यार दिया जाता है, जिसे कहते हैं ‘मदर्स डे’.लेकिन इन सब के बीच एक सवाल आता है कि सिर्फ एक दिन ही क्यों जब माँ को उच्च दर्ज़ा दिया जाये?

कितना प्यार करती है माँ

कहते हैं कि माँ के कदमो में जन्नत होती है.कितनी खुशनसीबी की बात है की आपकी जन्नत खुद आपसे प्यार करती है. हर वो मुमकिन कोशिश करती है जो आपको ख़ुशी दे सके.ऐसे में माँ को सराहने के लिए अगर साल के 365 दिन भी दिए जाएँ तो शायद वो कम ही लगेंगे. ऐसे में आपका फ़र्ज़ बनता है की सिर्फ एक दिन ही नहीं बल्कि हर रोज़ अपनी माँ को अपना प्यार जतायें.

यहाँ भी पढ़े:सफाईकर्मी की बेटी को मिली एक करोड़ की स्कॉलरशिप

क्या चाहती है माँ ?

इतना कुछ देने वाली माँ का क़र्ज़ तो शायद ही कोई चुका पायेगा, लेकिन अपना समय देकर हम अपनी फूल सी प्यारी माँ को उसका हक़ जरूर दे सकते है. तोहफे और लंच तो माँ को कोई भी दे सकता है लेकिन अगर आप 10 मिनट माँ के साथ बैठ कर उनसे उनकी दिल की बात पूछेंगे तो शायद आपकी माँ को भी ख़ास महसूस होगा.

सोशल मीडिया में आएगा माँ के प्यार का सैलाब

अकसर इस खास मौके में देखा जाता है की सोशल मीडिया में सब अपनी माँ की तसवीरें शेयर करते हैं.पूरी दुनिया द्वारा अपना और अपनी माँ के प्यार का शो ऑफ़ किया जाता हैं.मगर इस बीच हम जिसको बताना चाहिए उसे ही बताना भूल जाते हैं.तो ज़रा इस दिन सोशल मीडिया को दरकिनार करते हुए अपनी माँ के साथ घर के काम में हाथ बटाना न भूलिए.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in