उत्तर प्रदेश सरकर ने अपना फैसला लिया वापस

0
726

उत्तर प्रदेश सरकार ने “दो बीवियों वाले अब उर्दू शिक्षक के अयोग्य नहीं होंगे” इस फैसले को वापस ले लिया है। दरअसल, उत्तर प्रदेश सरकार ने शिक्षकों की भर्ती के लिए कुछ अजीबो-गरीब कानून बनाये थे।

सरकार का कहना था की जिस मुस्लिम व्यक्ति की दो बीवियां है, वह उर्दू के शिक्षक पद के लिए योग्य नहीं माना जायेगा। सरकार के इस फैसले का मुस्लिम लॉ बोर्ड ने विरोध भी किया। बोर्ड का कहना था की सरकार का यह फैसला मुस्लिम अधिकारों का उल्लंंघन है।

मुस्लिम संगठनों के विरोध के चलते सरकार को अपना यह फैसला वापस लेना पड़ा। शुक्रवार को सरकार की ओर से यह कहा गया की उर्दू शिक्षकों की भर्ती पहले से चले आ रहे नियमों के आधार पर ही होगी, नियमों में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

up

बेसिक एजुकेशन मिनिस्टर अहमद हसन ने कहा की “सरकार के आदेश पर हस्ताक्षर करने के क्रम में मैंने आज पाया की इसमें ऐसा कोई नियम नहीं है। इसलिए हमने इस ओर स्पष्टीकरण जारी किया ये सब सरकार को बदनाम करने के लिए दुष्प्रचार है।

साथ ही उन्होंने यह भी कहा की जिस आधार पर 2013 में भर्तियाँ हुई थी, उसी आधार पर भर्तियाँ हो रही है। हम लोग खुद हैरान है कि दो बीवियां होने पर आवेदन से ठहराने की बात कहाँ से उठी।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at

info@oneworldnews.com


Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments