रसोई गैस बचत के लिए अपनाएं ये तरीके…..


गैस बचत करे और कहलाएं स्मार्ट यूज़र्स…..


संसाधनों की बात करें तो कच्चा तेल, पेट्रोल, डीज़ल, रसोई गैस, जैसी चीज़ों का इस्तेमाल सही तरीके से करना चाहिए। पर हम इन संसाधनों का प्रयोग बिना सोचे-समझे कर रहें हैं। ये सोच ही नहीं रहें हैं कि इनकी बर्बादी हमें कितनी मंहगी पड़ रही है और आने वाली पीढ़ी के लिए भी ये कितनी मंहगी पड़ेगी। ये चिंता का विषय है। तो आइए जानें इन्हीं में से एक संसाधन की यानी रसोई गैस की और जानने की कोशिश करें कि इसका सही इस्तेमाल कैसे करें। इन तरीकों को अपनाकर आप भी अपना समय, पैसे और संसाधन बचाएं।

रसोई गैस
रसोई गैस

अपनी सामाजिक ज़िम्मेदारी को पूरा करें और कहलाएं स्मार्ट यूज़र्स…..

1.सबसे पहले, किचन में खाना पकाने के लिए ज़्यादा से ज़्यादा मैटल के बने बर्तनों का ही इस्तेमाल करें ख़ासतौर पर स्टेनलैस स्टील के बने बर्तनों का। इसका कारण ये है कि धातु के बर्तन उष्मा के बेहतरीन परिचालक होते हैं और गैस की बचत करने में सहायक होते हैं।

2.हमें मिट्टी के बर्तनों का इस्तेमाल करने से भी बचना चाहिए जैसे मिट्टी के तवे, हांडी आदि। क्योंकि मिट्टी के बर्तन ज़्यादा गैस की खपत करते हैं।

3.जहां तक हो सके खाना पकाने के लिए बर्तनों को खुला न छोड़ें। खाना पकाते समय बर्तनों को ढक कर रखें क्योंकि बर्तन को ढक कर पकाने से बड़ी मात्रा में गैस की बचत होती है। तो इसलिए, ज़्यादा से ज़्यादा कुकर का इस्तेमाल करना चाहिए। इससे गैस और समय दोनों की बचत होगी।

4.अगर दाल,चना,राजमा आदि की सब्ज़ियां या ऐसा ही कोई व्यंजन बनाने जा रहे हैं तो पहले इन्हें पानी में भिगोएं। इससे इन सब्ज़ियों को बनाने में समय भी कम लगेगा और गैस की खपत भी कम होगी।

5.हमें इस बात का ध्यान भी रखना चाहिए कि बर्तन या तवे को गर्म करते समय ही गैस को फुल मोड पर रखें। जैसै ही बर्तन या तवा गर्म हो जाए, गैस को तुरंत ही मीडियम या स्लो मोड पर कर दें। क्योंकि बर्तन को गर्म करने में जितनी उष्मा चाहिए होती है उतनी खाना पकाने में नहीं चाहिए होती है।

6.आपके गैस बर्नर से अगर पीले रंग की आंच निकल रही है तो हमें यह समझ लेना चाहिए कि बर्नर पूरी तरह से गैस का इस्तेमाल नहीं कर पा रहा है। हमें गैस बर्नर को ठीक ढंग से व्यवस्थित करना चाहिए। ध्यान में रखें कि नीले रंग और रंगविहीन आंच ही आपकी गैस के सही उपयोग होने की निशानी है।

7.अगर गैस बर्नर को ठीक ढंग से व्यवस्थित करने के बाद भी पीले रंग की आंच निकल रही है तो हमें बिना देरी किए तकनीशियन को बुलाना चाहिए। क्योंकि गैस बर्नर से पीले रंग की आंच का मतलब है कि आपकी गैस ज़ाया हो रही है। इसे नज़रअंदाज़ करने पर हम गैस की बर्बादी करते हैं जिससे हमें बचना चाहिए।

8.बहुत कम लोगों का पता है कि ज़्यादा चौड़े पैंदे वाले बर्तन गैस की बहुत बचत करते हैं। चौड़े पैंदे वाले बर्तनों से बर्तन का सतही क्षेत्र बढ़ जाता है जिससे खाना पकाने में कम समय लगता है। साथ ही चौड़े पैंदे वाले बर्तन गैस की लौ को पूरी तरह से ढक लेते हैं। इससे गैस का अधिकतम इस्तेमाल करने में मदद मिलती है और गैस की बचत भी होती है। इसके अलावा अगर ऐसे बर्तनों को ढक कर रखा जाए तो गैस की बचत और बढ़ जाती है।

9.हमें पदार्थों को सामान्य तापमान पर होने पर ही पकाना चाहिए। इसका मतलब यह है कि फ्रिज में रखे हुए पदार्थों या बाज़ार से लाए हुए बेहद ठंडे पदार्थों का तापमान पहले सामान्य हो जाने का इंतज़ार करें। और फिर ही इन्हें पकाएं। क्योंकि ऐसे पदार्थों को सीधे गैस पर रखने से अतिरिक्त गैस खर्च होती है ताकि उन्हें सामान्य तापमान पर लाया जा सके।

10. गैस पर रखने से पहले धोए हुए बर्तन को हमेशा सुखा लेना चाहिए। इससे बर्तन को सुखाने के लिए जो गैस बेकार ही ज़ाया होती है वह बच जाएगी।

11
.खाने में ज़रूरत से ज़्यादा पानी का इस्तेमाल करने से भी बचना चाहिए। पानी की मात्रा ज़्यादा होने से उस अतिरिक्त पानी को सुखाने के लिए गैस भी अधिक खर्च होती है। इसलिए हमें खाने में सही मात्रा में पानी का इस्तेमाल करना चाहिए।

12.अगर गैस पर आप पानी या दूध गर्म कर रहे हैं तो जैसे ही ये उबलने लगे तो तुरंत गैस को सिम मोड पर कर दें। ऐसा करने से गैस की खपत आपने आप ही कम हो जाती है। ऐसा आप दूसरे व्यंजन बनाते समय भी कर सकते हैं। ज़्यादातर लोग कम समय में चीज़ों को उबालने के लिए आंच को तेज़ रखते हैं। हमें इससे बचना चाहिए ताकि गैस की बर्बादी भी ना हो और बर्तनों को भी नुकसान ना पहुंचे।

13.खाना पकाने से पहले ही सब्ज़ियों को काटकर और आटा, मसाले आदि को तैयार कर रखें। पहले ही सब तैयारी कर लेने से खाना पकाते समय गैस की बचत होती है और आप सीधे गैस का अधिकतम प्रयोग कर पाएंगे।

14.समय-समय पर गैस की पाइपस को चैक करते रहें ताकि किसी भी तरह की लीकेज का समय से पता चल सके।

15.किचन में माइक्रोवेव का इस्तेमाल भी रसोई गैस की बचत करने में मददगार साबित होता है।

और पढ़े अब गांवों में भी जलेगा गैस का चूल्हा

Story By : AvatarNidhi Mudgill
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
%d bloggers like this: