सेहत

दीपिका पादुकोण से जाने दुखी होने और डिप्रेशन में क्या अंतर है

खुद डिप्रेशन से जूझ चुकी दीपिका पादुकोण ने लोगों को बताया डिप्रेशन और दुख में अंतर


14 जून को सुशांत सिंह राजपूत की असामयिक निधन के बाद से एक बार फिर लोगों में मानसिक स्वास्थ्य को लेकर चर्चा होने लगी थी। सुशांत सिंह राजपूत की रिपोर्ट के मुताबिक, वो पिछले 6 महीनों से डिप्रेशन में थे। लेकिन वो क्यों डिप्रेशन में थे इसके पीछे की वजह अभी साफ़ नहीं हो पाई है। ऐसे में जब सभी लोग डिप्रेशन की बात कर रहे है तो बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण जो खुद डिप्रेशन से जूझ चुकी है उन्होंने लोगों को दुखी होने और डिप्रेशन में क्या अंतर होता है ये बताया।

अक्सर दीपिका पादुकोण सार्वजनिक रूप से अपने डिप्रेशन के बारे में बात करती रहती है। सुशांत सिंह राजपूत के निधन की खबर सुनने के बाद, जब सभी लोगों ने डिप्रेशन पर बात करनी शुरू कर दी तो ऐसे में दीपिका पादुकोण ने भी मानसिक स्वास्थ्य के महत्व पर ज़ोर देने के बारे में अपने विचार सोशल मीडिया पर अपने फैंस के साथ शेयर किए। साथ ही दीपिका ने कहा सभी लोगों को इस बारे में आपके करीबीयों से बात करनी चाहिए।

और पढ़ें: रहना चाहते है सेहतमंद तो अपनी डाइट में शामिल करे ये फाइबर से भरपूर फूड आइटम्स

दीपिका पादुकोण ने एक बार फिर लिया सोशल मीडिया का सहारा

बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण ने एक बार फिर लिया सोशल मीडिया का सहारा ताकि वो लोगों को डिप्रेशन के बारे में जागरूक कर सकें। दीपिका ने लोगों को आग्रह किया कि वो डिप्रेशन को दुख की तरह ट्रीट ना करें। ‘छपाक’ फिल्म की एक्ट्रेस मानसिक स्वास्थ्य के टैबू को कम करने के लिए आपके फैंस के साथ सोशल मीडिया पर प्रतिदिन पोस्ट कर रही है।

क्या है दीपिका पादुकोण का लेटेस्ट पोस्ट

https://twitter.com/deepikapadukone/status/1274598814767144961

दीपिका पादुकोण ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक तस्वीर शेयर की। तस्वीर पर लिखा है कि डिप्रेशन और दुखी होने में फर्क है। इन दोनों का मतलब एक नहीं होता। इसलिए हमे दोनों के फर्क को समझना चाहिए और दोनों को अलग-अलग तरीके से ट्रीट करना चाहिए। दीपिका ने पोस्ट में लिखा, “मेरे साथ दोहराएं, डिप्रेशन दुखी होने की तरह नहीं है।” दूसरी तस्वीर में लिखा, “डिप्रेशन महसूस करना दुखी महसूस करने की तरह नहीं है।” दीपिका पादुकोण बॉलीवुड की उन एक्ट्रेस में से है। जिन्होंने अपने मानसिक स्वास्थ्य को लेकर खुलकर बात की।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।