Coronavirus Lockdown: लॉकडाउन के बाद परिचालन को लेकर दिल्ली मेट्रो ने की बड़ी तैयारी

0
33
delhi metro

मास्क और आरोग्य सेतु ऐप के बिना नहीं मिलेगी मेट्रो में एंट्री


कोरोना वायरस के चलते पूरी दुनिया में दहशत का माहौल बना हुआ है दुनिया के ज्यादातर देशो में लॉकडाउन चल रहा है। इस वायरस को रोकने के लिए पिछले एक महीने से भारत में भी लॉकडाउन चल रहा है जो 3 मई को ख़त्म होने वाला है जब लॉकडाउन ख़त्म होगा तो लोग बड़ी संख्या में बहार निकलेंगे। कोई अपने ऑफिस जायेगा तो कोई अपने घर। ऐसे में दिल्ली मेट्रो ने अपने संचालन को चाक-चौबंद करने की तैयारी पूरी कर ली है। रोज लाखों की संख्या में लोग मेट्रो से यात्रा करते है ऐसे में लॉकडाउन खत्म होने के बाद दिल्ली मेट्रो अपने संचालन को लेकर सतर्क रहेगी। यात्रियों और मेट्रोकर्मियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए दिल्ली मेट्रो यात्रियों से कुछ कानूनों का पालन करवाएंगी। सीआईएसएफ द्वारा पेश किए गए प्रस्ताव के अनुसार, लॉकडाउन के बाद मेट्रो में सफर करने वाले यात्रियों को फेस मास्क पहनना अनिवार्य होगा। साथ ही उनसे आरोग्य सेतु एप्लिकेशन का उपयोग इ-पास के रूप में करवाया जाएगा।

जिन यात्रियों में फ्लू के लक्षण होंगे वो दिल्ली मेट्रो में नहीं कर पाएंगे सफर

सीआईएसएफ प्रस्ताव के अनुसार, यदि किसी यात्री में फ्लू जैसे कोई भी लक्षण दिखाई देते हैं तो उसे मेट्रो में यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। सीआईएसएफ ने यात्रियों और रेलकर्मियों की सुरक्षा के लिए बिजनेस कंटिन्यूटी प्लान प्रस्तुत किया। इसी प्लान में उन्होंने इन सभी योजनाओं का उल्लेख किया गया है। जो लॉकडाउन के बाद दिल्ली मेट्रो के हर यात्री के लिए जरुरी होगा।

और पढ़ें: लॉकडाउन में किसानों की मदद करने के लिए केंद्र सरकार ने लॉन्च किया Kisan Rath app

सामान्य तापमान वाले यात्रियों को ही मेट्रो स्टेशन में प्रवेश मिलेगा

लॉकडाउन के बाद जब मेट्रो सेवा शुरू की जाएगी तो सीआईएसएफ द्वारा यात्रियों को सेनेटाइजर भी दिया जाएगा। साथ ही थर्मल स्क्रीनिंग भी की जाएगी। जिस यात्री का तापमान ज्यादा आएगा उसे गेट से ही वापस कर दिया जाएगा। सिर्फ सामान्य ताप वाले यात्रियों को ही मेट्रो स्टेशन में प्रवेश करने दिया जाएगा।

यात्रियों के बीच कम से कम 1 मीटर की दूरी अनिवार्य

दिल्ली मेट्रो में यात्रा करने वाले यात्रियों को नियम का सख्ती से पालन करना होगा। सिक्योरिटी स्क्रीनिंग के स्थान से 2 मीटर की दूरी बनानी होगी। वहीं, यात्रा के समय यात्रियों के बीच में कम से कम 1 मीटर की दूरी अनिवार्य होगा। सभी मेट्रो स्टेशनों पर सीआईएसएफ के दो कर्मी पीपीई सुरक्षा उपकरण को पहने रहेंगे।

क्यों जरुरी है ऐसी तैयारी?

लॉकडाउन के बाद लोग बड़ी संख्या में बहार निकलेंगे। ऐसे में सीआईएसएफ कोरोना के संक्रमण को लेकर किसी भी तरह का रिस्क नहीं लेना चाहती। क्योकि दिल्ली मेट्रो की सुरक्षा की जिम्मेदारी सीआईएसएफ के ऊपर होती है। इसलिए सीआईएसएफ ने भविष्य की तैयारियों को लेकर प्लान प्रस्तुत किया है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments