मनोरंजन

Deepika Padukone Birthday Special : कैसे शांतिप्रिया यानी दीपिका बन गई करोड़ो दिलों की मलिका?

Deepika Padukone  Birthday Special : क्या बनाती है दीपिका पादुकोण को इतना खास? उनके बचपन से लेकर  देश की सबसे बड़ी स्टार होने तक की कहानी


Deepika Padukone  Birthday Special :05 जनवरी हिन्दी फिल्म  इंडस्ट्री के चाहने वाले और इससे जुड़े सभी लोगो के लिए बेहद ख़ास है। इस दिन को ख़ास बनाता है मशहूर अभिनेत्री दीपिका पादुकोण का जन्मदिन। आज के दौर की सबसे लोकप्रिय और सबसे चेहती  दीपिका पादुकोण ने अपनी हिन्दी फिल्मी जगत की शुरुआत 2007 मे “ओम शांति ओम” से की थी। आज हम उनके बचपन से लेकर, कैसे उन्होने फिल्मी दुनिया मे कदम रखा और फिर उनके निभाए गए तरह- तरह के किरदारो से लेकर उनके आने वाले प्रोजेक्ट्स की बात करेंगे। अगर आप दीपिका पादुकोण को पूरी तरह जानना चाहते है तो इस रिपोर्ट को अंत तक जरूर पढ़े।

कैसा था दीपिका का बचपन?

डेनमार्क में जन्मी और भारत में पली-बढ़ी दीपिका का लक्ष्य अपने पिता प्रकाश पादुकोण की तरह विश्व स्तरीय बैडमिंटन खिलाड़ी बनने का था। हालाँकि, खेल करियर के लिए उनकी महत्वाकांक्षा बाद मे  फीकी पड़ गई।  दीपिका का जन्म 5 जनवरी 1986 को कोपेनहेगन, डेनमार्क में एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था। उनके पिता, प्रकाश पादुकोण, एक पूर्व पेशेवर बैडमिंटन खिलाड़ी है  और उनकी माँ, उज्जला, एक ट्रैवल एजेंट हैं और उनकी छोटी बहन, अनीशा, एक गोल्फ खिलाड़ी हैं। जब दीपिका महज़ एक वर्ष की थीं तब  उनका परिवार भारत के बैंगलोर में स्थानांतरित हो गया।

उन्होंने बैंगलोर के सोफिया हाई स्कूल में शिक्षा प्राप्त की और माउंट कार्मेल कॉलेज में अपनी पूर्व-विश्वविद्यालय की शिक्षा पूरी की।

दीपिका ने अपने बचपन के बारे मे बताते हुये कहा है कि उनके ज्यादा दोस्त नहीं थे। शुरुआत मे उनके जीवन का फोकस बैडमिंटन था और उन्होने छोटी उम्र से ही प्रतिस्पर्धात्मक रूप से खेला भी। दसवीं कक्षा में, उन्होने अपना फोकस बैडमिंटन से फैशन मॉडलिंग और कलाकार बनने पर लगा दिया।

Read more: OTT Platform Web Series जिन्हे आप ओटीटी प्लेटफॉर्म पर अपनी फॅमिली के साथ मिल कर देख सकते है!

कैसी हुई  दीपिका की कैरियर की शुरुआत?

अपने करियर की शुरुआत में, दीपिका ने लिरिल साबुन के लिए एक टेलीविजन विज्ञापन के साथ पहचान हासिल की और कई अन्य ब्रांडों और उत्पादों के लिए मॉडलिंग की। 2005 में, उन्होंने डिजाइनर सुनीत वर्मा के लिए लैक्मे फैशन वीक में अपना रनवे डेब्यू किया और किंगफिशर फैशन अवार्ड्स में “मॉडल ऑफ द ईयर” का पुरस्कार जीता।  21 साल की उम्र में, दीपिका मुंबई आ गईं और अपनी मौसी के घर रहने लगी। उसी वर्ष, मशहूर संगीतकार हिमेश रेशमिया के गीत “नाम है तेरा” के लिए संगीत वीडियो में अभिनय किया जिसके बाद उन्हें व्यापक पहचान मिली।

पादुकोण को जल्द ही फिल्म भूमिकाओं के प्रस्ताव भी मिलने लगे। एक अभिनेता के रूप में खुद को बहुत अनुभवहीन मानते हुए, उन्होंने इसके प्रस्ताव को स्वीकार करने के वजाए अनुपम खेर की फिल्म अकादमी में एक कोर्स के लिए दाखिला लिया।

सन 2006 में, दीपिका ने फिल्मी दुनिया मे कन्नड़ फिल्म ऐश्वर्या में अभिनेता उपेंद्र के साथ अपना पहला कदम रखा, मगर हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री मे अभी उनका आना बाकी था।  फिल्म निर्देशक फराह खान, जिन्होंने हिमेश के संगीत वीडियो में उन्हें देखा था, उन्होने “ओम शांति ओम” में एक भूमिका के लिए दीपिका को लेने का फैसला किया। शाहरुख़ ख़ान जैसे मेगास्टर के साथ लॉंच होने के बाद ही उनकी अदाकारी  ने उन्हे  सुर्खियों में ला दिया।

संघर्ष भरा दौर

अपार सफलता देखने के बाद, 2010 में करियर के सबसे निचले स्तर से गुजरी थी दीपिका।  2011 में भी असफल फिल्मों की दुखद गाथा जारी रही, उनकी दोनों फिल्में ‘आरक्षण’ और ‘देसी बॉयज़’ ने बॉक्स ऑफिस पर खराब प्रदर्शन किया था। विनाशकारी फिल्मों की एक स्ट्रीक देने के बाद, दीपिका को आलोचकों द्वारा एक अभिनेता के रूप में खारिज कर दिया गया था। जबकि कुछ ने कहा कि उसने अपनी चमक खो दी, दूसरों ने दावा किया कि उनके पास देने के लिए और कुछ अब बचा नहीं था।

Read more: Karan Johar- नए अभिनेताओ की फीस डिमांड सुनकर करण जौहर हो गए शॉक, आपके भी उड़ जायेंगे होश!

अपनी सभी आलोचनाओं को दूर करते हुए, पादुकोण ने अपने अगली फिल्म 2012 की रोम-कॉम ‘कॉकटेल’ में एक शानदार प्रदर्शन किया। यह फिल्म उनके करियर की टर्निंग प्वाइंट साबित हुई। फिल्म ने असाधारण रूप से अच्छा प्रदर्शन किया और उनके अभिनय करियर को फिर से स्थापित किया।

2013 की सफलता की कहानी को आगे बढ़ाते हुए, पादुकोण ने 2015 की फिल्मों ‘पीकू’ और ‘बाजीराव मस्तानी’ के साथ एक अभिनेता के रूप में अपनी प्रतिभा दिखाई। अब तक उन्होंने ‘ये जवानी है दीवानी’, ‘गोलियों की रासलीला राम-लीला’, ‘हेपी न्यू इयर’ जैसी ब्लोक्बस्टर  फिल्मों में उत्कृष्ट प्रदर्शन देकर हिंदी सिनेमा की शीर्ष अभिनेत्रियों में खुद की जगह बना ली है। उन्होंने एक्शन फिल्म ‘xXx: रिटर्न ऑफ जेंडर केज’ से हॉलीवुड में भी कदम रखा, इस फिल्म मे उन्होने विन डीजल के साथ काम किया था। वर्तमान में, वह दुनिया में सबसे लोकप्रिय और अधिक फीस पाने वाली अभिनेत्री में से एक है।

व्यक्तिगत जीवन

अपने फलते-फूलते अभिनय करियर के अलावा, दीपिका पादुकोण हमेशा विभिन्न सामाजिक कारणों के लिए अपना समर्थन देने के लिए आश्वस्त रही हैं। उनके मानवीय कार्यों में महाराष्ट्रीयन गांव को उचित बिजली आपूर्ति प्रदान करने के लिए गोद लेना, विश्व 10के मैराथन में भाग लेना, 81 गैर सरकारी संगठनों को इस तरह की अन्य पहलों के बीच 13.1 मिलियन डॉलर जुटाने में मदद करना शामिल है।

Read more: Bollywood Controversies 2021 :बॉलीवुड कलाकार जो रहे 2021 में विवादों से घिरे, जानिए पूरी डिटेल्स इस रिपोर्ट मे

पुरस्कार और उपलब्धियां

दीपिका पादुकोण ने तीन फिल्मफेयर पुरस्कार जीते हैं; ‘ओम शांति ओम’ (2008), ‘गोलियों की रासलीला: राम-लीला’ (2014) और ‘पीकू’ (2016) के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री । फिल्म पुरस्कारों के अलावा, उन्होंने देश की विभिन्न सूचियों में शीर्ष स्थान हासिल किया है, जिनमें मैक्सिम (भारत) की ‘हॉट 100’, एफएचएम (भारत) की ‘दुनिया की सबसे सेक्सी महिला’ शामिल हैं। ‘ और पीपल (इंडिया) की ‘मोस्ट ब्यूटीफुल वुमन’ शामिल है।

क्या है दीपिका के अपकमिंग प्रोजेक्ट्स

आने वाले दिनो मे दीपिका शकुन बत्रा निर्देशित प्रेम नाटक गेहराइयां जो 25 जनवरी से सीधे ओटीटी रिलीज के लिए तैयार है उसमे नज़र आएंगी, यह दीपिका पादुकोण की पहली ओटीटी रिलीज है।

उसके बाद दीपिका पादुकोण पहली बार अभिनेता ऋतिक रोशन के साथ नज़र आएंगी।  ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘वॉर’ के निर्देशक सिद्धार्थ आनंद ही इस फिल्म मे निर्देशक की भूमिका निभाएंगे, फिल्म का नाम ‘फाइटर’ रखा गया है। रेपोर्ट्स के अनुसार यह फिल्म और रणबीर कपूर की फिल्म एक साथ एक ही दिन हो सकते है रिलीज।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Himanshu Jain

Enthusiastic and inquisitive with a passion in Journalism,Likes to gather news, corroborate inform and entertain viewers. Good in communication and storytelling skills with addition to writing scripts
Back to top button