विदेश

डेविड कैमरन : यूके में रहने वाली मुस्लिम महिलाओं को देना होगा इंग्लिश टेस्ट!

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ‘डेविड कैमरन’ ने हाल ही में बढ़ते टेररिज्म से निपटने के लिए नई रणनीति बनाई है। कैमरन ने कहा है की, बाहर से आई हुई यूके में रहने वाली महिलाओं को अंग्रेजी टेस्ट पास करना होगा। ऐसा करने पर नाकाम होने वाली महिलाओं को यूके से वापस भेजा जा सकता है।

ब्रिटिश मीडिया के अनुसार, कैमरन ने एक इन्टरव्यू में कहा की, “स्पाउस सेटलमेंट प्रोग्राम को हम थोड़ा सख्त करने जा रहे हैं। ये उन महिलाओं पर भी लागू होगा, जो यूके आकर बसी हुई हैं और उनके बच्चे हो चुके हैं।”

cameron

आपको बता दे ब्रिटेन सरकार ने कहा है की यूके में रह रहीं लगभग 1,90,000 मुस्लिम महिलाओं में अंग्रेजी भाषा बोलने के सलीके में कमी है। यहां तक इनमें से 38,000 महिलाएं अंग्रेजी बोल तक भी नहीं सकती। ब्रिटिश सरकार द्वारा बनाई गई यह नई पॉलिसी अक्टूबर से शुरू हो सकती है।

सूत्रों के मुताबिक, इस कैंपेन पर डेविड कैमरन 20 मिलियन पाउंड खर्च करेंगे जिसमें इंग्लिश सुधारने की क्लास लगेगी। कैमरन का कहना है की यूके में अपॉरच्युनिटी हासिल करने के लिए इंग्लिश बेहद जरूरी है और इस बात की गारंटी भी नहीं है कि जो महिलायें इंग्लिश टेस्ट में असफल हो जाएगी वे महिलायें ब्रिटेन में रह पाएंगी भी या नहीं। लेकिन अक्टूबर के बाद से पांच साल के स्पाउस वीसा पर यूएके में आई महिलाओं के पास इस परीक्षा को पास करने के लिए ढाई साल का वक्त होगा।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Back to top button