अंतर्राष्ट्रीय अदालत में दलवीर भंडारी दूसरी बार जज निर्वाचित हुए


बिट्रेन के जज को दी मात


नीदरलैंड के हेग स्थित अंतर्राष्ट्रीय अदालत में एक भारतीय की नियुक्ति एक जज के तौर पर हुई है। जज का नाम दलवीर भंडारी है। जज भंडारी दूसरी बार अंतर्राष्ट्रीय अदालत में निर्वचित हुए है। इससे पहले उनका सीधा मुकाबला ब्रिटेन के जस्टिस क्रिस्टोफर ग्रीनवुड से था। जरनल एसेंबली के 193 में से 183 मत मिले। जबकि सुरक्षा परिषद में उन्हें 15 वोट मिले। साल 1946 अंतर्राष्ट्रीय अदालत की स्थापना के बाद यह पहला मौका है जब इंग्लैड का कोई जज इस मुकाबले में हारा हो। पाकिस्तान में बंद कुलभूषण जाधव मामले में भी भंडारी ने अहम भूमिका निभाई है।

दलवीर भंडारी
दलवीर भंडारी

पीएम ने दी बधाई

प्रधानमंत्री मोदी इसके लिए दलवीर भंड़ारी की बधाई है। साथ ही विदेश मंत्रालय और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को इसके लिए सराहा है।
पीएम ने ट्वीट करते हुए कहा कि मैं जज दलवीर भंडारी को उनकी उपलब्धि के लिए बधाई देता हूं। वह दूसरी बार अंतर्राष्ट्रीय अदालत में दोबारा जज चुनें गए। यह देश के लिए एक गर्व महसूस करने का मौका है।

वही दूसरी ओर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी जज भंडारी को बधाई दी है। सुषमा ने ने ट्वीट करते हुआ कहा कि वंदे मातरम्…. भारत ने अंतर्राष्ट्रीय अदालत में जज के लिए जीत हासिल की है। जय हिंद

कैसा रहा मुकाबला

आपको बता दें अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट में 15 जज चुने जाते हैं, 15 में 14 जजों की चुनाव हो चुका था। क्रिस्टोफर और भंडारी के बीच अंतर्राष्ट्रीय अदालत के अंतिम जज का मुकाबला बेहद कड़ा और दिलचस्प था। इस लड़ाई में जनरल असेंबली मे तो भंडारी पहले से ही लीड बनाए हुए थे। लेकिन सुरक्षा परिषद मे नके पास शुरआत मे काम वोट थे। सेकिन बाद में 12वें दौर में हुए उल्टफेर ने भंडारी के सिर पर अंतर्राष्ट्रीय जज का ताज रख दिया। इससे पहले अपनी हार मानते हुए ब्रिटेन के जस्टिस क्रिस्फोटर खुद ही मैदान से बाहर हो गए थे।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Story By : Poonam MasihPoonam Masih
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
%d bloggers like this: