सेहत

कोरोना वायरस से रिकवर होने वाले लोग योग के जरिये रख सकते है अपना ख्याल 

कोरोना वायरस में कितना फायदेमंद है योग


पिछले कुछ महीनों से न सिर्फ भारत ब्लकि पूरी दुनिया कोरोना वायरस से परेशान है. अभी भारत में लगातार इस महामारी के मामले बढ़  रहे हैं.  सितंबर के मिड तक हमारे देश में कोरोना वायरस के कुल मामले 5.02 मिलियन हो चुके हैं. जिसमे से 82 हजार से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके है. लेकिन इन सबके बीच अच्छी बात यह है कि अभी तक कोरोना वायरस से 3.94 मिलियन लोग रिकवर कर चुके है. अभी सरकार भी इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए हर संभव और निरंतर कोशिश कर रही है. आज हम आपको बतायेगे कि कैसे कोरोना वायरस से रिकवर होने वाले लोग योग के जरिये अपना ख्याल रख सकते है.

शारीरिक गतिविधियां और व्यायाम

हिमालय प्रणाम

हिमालय प्रणाम एक पारंपरिक अभिवादन के साथ-साथ किया जाता है. इससे लोग ‘नमो आदिश’ के रूप में भी जानते है. यह अभिवादन एक डायनामिक फ्लो है. जिसमें फॉरवर्ड फोल्ड्स और बैक बेंड्स शामिल हैं. इस योगासान का कई मायनों में लोगों को फायदा पहुंचाता है. यह योगासान आपको मानसिक रूप से मजबूत बनाने में मदद करता है. साथ ही साथ आपकी मानसिक क्षमता को भी बढ़ाता है. इससे आपकी सोचने और समझने की शक्ति भी बढ़ती है.

और पढ़ें: सिर्फ कोरोना वायरस में ही नहीं बल्कि इन 5 बीमारियों में भी बेहद फ़ायदेमंद है गिलोय

अनुलोम विलोम: योग से बॉडी के सारे पार्ट्स की एक्सरसाइज हो जाती है योग जिम में पसीना बहाने से बेहतर है। अगर हम बात करें अनुलोम विलोम कि तो ये कई रोगों से लड़ने में कारगर माना जाता है। साथ ही अनुलोम विलोम करने से फेफड़े भी मजबूत होते है। और जो लोग रोजाना अनुलोम विलोम करते है वो बदलते मौसम में जल्दी बीमार नहीं होते।

कपालभाति: कपालभाति एक प्रचलित योगासन प्राणायाम है। इस योगासन प्राणायाम को करते की प्रक्रिया में आपको सांस लेनी और छोड़ते पड़ती है। अगर आप रोजाना करीब पांच मिनट तक इस योगासन प्रणायाम को करते है तो इससे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होगी और आप किसी भी प्रकार के संक्रमण से बचे रहेंगे।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button