Coronavirus death in india: भारत में पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा मौतें, कोरोना वायरस से संक्रमितों का आंकड़ा हुआ 29,000 के पार

0
36
coronavirus updates

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में हुई सबसे ज़्यादा मौतें


Coronavirus death in india: पूरी दुनिया ही कोरोना वायरस के कारण परेशान है। दुनिया के ज्यादातर देशों में लॉकडाउन चल रहा है लेकिन लॉकडाउन के बाद भी Covid-19 का कहर रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है। भारत में भी कोरोना वायरस तेजी से पैर फैला रहा है। यहाँ पर भी Covid-19 से संक्रमित लोगों को आंकड़ा 29,000 के पार चला गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से आज जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोरोना वायरस से अब तक 934 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि संक्रमित लोगो की संख्या बढ़कर 29,435 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में Covid-19 के 1,543 नए मामले सामने आए है। साथ ही 62 लोगों की मौत हुई है। आंकड़ा के हिसाब से देखे तो पिछले 24 घंटे में सबसे ज़्यादा मौतें हुई है। इस बीच थोड़ी राहत की बात यह है कि Covid-19 से अब तक 6869 मरीज ठीक को चुके है।
और पढ़ें: लॉकडाउन को हटाने से पहले हॉटस्पॉट इलाकों को ग्रीन जोन या येलो जोन में लाना है आवश्यक

महाराष्ट्र में Covid-19 से संक्रमितों का आंकड़ा पंहुचा सबसे ऊपर

कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा संक्रमित होने वाला राज्य महाराष्ट्र है यहाँ कोरोना से संक्रमितों की संख्या 8000 से पार हो चुकी है जब कि अब तक महाराष्ट्र  में कोरोना वायरस के कारण 369 लोगों की मौत हो चुकी है। पिछले 24 घंटे में महाराष्ट्र में 395 नए मामले सामने आये। मुंबई देश का पहला ऐसा शहर है जहां कोरोना संक्रमितों की संख्या 5500 पार कर गया है। महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या को देखते हुए प्रशासन ने म्यूनिसिपल स्कूलों को क्वारेंटाइन सेंटर में तब्दील करने का फैसला लिया है। जहां कोरोना के मरीजों को रखा जाएगा।

किन इलाको में लॉकडाउन में मिल सकती है ढील

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में संकेत दिए कि ग्रीन जोन इलाकों में लॉकडाउन में कुछ ढील दी जा सकती है। परन्तु अभी साफ़-साफ़ कुछ नहीं कहा जा सकता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि लॉकडाउन खोलने को लेकर एक नीति तैयार करनी होगी कि राज्यों को किस तरह रेड, ग्रीन और ऑरेंज जोन को खोलना है। इसी नीति के अनुसार पता चलेगा की किन इलाकों में लॉकडाउन जारी रहेगा और किन इलाकों को रियायत दी जाएगी।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments