हॉट टॉपिक्स

दिल्ली में बढ़ते कोरोना केस को बीच क्या दोबारा लॉकडाउन लगने वाला है

प्रतिदिन 90 से अधिक की लोगों की मौत हो रही है


राजधानी दिल्ली मे लगातार बढ़ रहे कोरोना केस के बीच दोबारा से लॉकडाउन लगाने वाली अटकलों पर विराम लगा दिया है. सोमवार को एएनआई से बात करते हुए दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दोबारा से लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा. उन्होंने कहा मुझे नहीं लगता कोरोना के केस को कम करने के लिए लॉकडाउन एक बेहतर विकल्प है. इससे ज्यादा असरदार तो प्रत्येक व्यक्ति का मास्क लगाना है.

4 लाख से अधिक पॉजिटिव केस

देश में कोरोना के केस 88,45,127 हो चुके हैं. जिसमें से 1.3 लाख लोगों की मौत हो चुकी है.  इस वक्त राजधानी दिल्ली में तेजी से कोराना के केस  बढ रहे हैं. अब तक 4 लाख से अधिक पॉजिटिव केस हो चुके हैं. पिछले सप्ताह यहां सबसे अधिक नए केस दर्ज किए गए थे. पूरे सप्ताह में 51,000 केस आए है. शुक्रवार तक प्रतिदिन लोगों की मरने की संख्या 90  से अधिक हो गई थी. दिल्ली सरकार द्वारा जारी की गई बुलेटिन के अनुसार दोपहर तक 3,235 केस दर्ज किए गए जिसमें से 95 लोगों की मौत हो गई. इसी के साथ पॉजिटिव रेट 15.33 हो गया.

और पढ़ें: जेएनयू में स्वामी विवेकानंद की मूर्ति का अनावरण क्या बंगाल चुनाव में बाकी पार्टियों के लिए अलॉर्म है

अमित शाह
अमित शाह

अमित शाह ने की मीटिंग

इन सबको देखते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने रविवार को दिल्ली के राज्यपाल अनिल बैजल, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्ष वर्धन, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन और उच्च अधिकारियों के साथ मीटिंग की. जिसमें दिल्ली में बढ़ते केसों पर चर्चा की गई.

मीटिंग में केंद्र सरकार ने बढ़ते मामलों को देखते हुए इनसे निपटने के लिए 300 अतिरक्त आईसीयू बेड उपलब्ध कराने साथ कई घोषणा की. आरटीपीसीआर टेस्ट को दोगुना किया जाए. घर-घर जाकर सर्वे किया जाएगा. इतना ही नहीं शाह ने कहा कि नगरपालिका के अंतर्गत आने वाले अस्पतालों को पूरी तरह से कोविड 19 के लिए इस्तेमाल किया जाएगा.

टेस्ट में होगी वृद्धि

मीटिंग के दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि टेस्ट की संख्या प्रतिदिन 60,000 से 1.25 लाख बहुत जल्द की जाएगी. तेजी से बढ़ते केसों के कारण एक महीने पहले ही निजी अस्पतालों ने भी आईसीयू बेड के अभाव का जिक्र किया था. कोरोना का प्रकोप का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि राजधानी में इस वक्त मात्र 164 आईसीयू बेड ही खाली हैं.

रविवार की हुई मीटिंग  में बढ़ते केसों का जिक्र करते हुए इसे कोरोना की थर्ड वेब कहा गया. जिसका सीधा असर अस्पतालों पर पड़ने वाला है. आपको बता दें दिल्ली में बढ़ते केसों के बीच गृहमंत्री अमित शाह की दिल्ली राज्य सरकार के साथ यह दूसरी बैठक थी, इससे पहले जून में मीटिंग की गई थी.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button