कंपनियां खुद आपके पास काम लेकर आएंगी अगर आपमें हैं ये स्पेशल स्किल्स

0
536
वर्क फ्रॉम होम
Coffee Break Business Woman Outdoors

नौकरी करने की जरूरत नहीं है बस चाहिए थोड़ी क्रिएटिविटी


अगर आपमें कुछ स्पेशल स्किल हैं तो आपके लिए मार्किट में ऐसे कई काम हैं जिनके लिए आपको नौकरी करने की जरूरत नहीं है बल्कि कुछ कंपनियां खुद आपके पास आएगी काम लेकर। चाहें आप दुनिया के किसी भी कोने में हों, आप इन कामों को कहीं भी बैठकर आसानी से कर सकते हैं और इस काम के लिए आपको काफी अच्छा पेमेंट भी मिलेगा। आजकल दुनिया में कई ऐसी कंपनियां हैं जो अपने कर्मचारियों को घर बैठकर काम करने का विकल्प दे रही हैं। इसका फायदा कंपनी के साथ-साथ कर्मचारी को भी होता है। इस तरह से अपने काम को आप घर बैठकर फ्रीलांसिंग भी कर सकते हैं। इन कामों में कमाई की कोई सीमा नहीं होती, सबकुछ आपके काम और आपके अनुभव पर निर्भर करता है।

वर्क फ्रॉम होम
वर्क फ्रॉम होम

आइये जानते हैं ऐसे कौन-कौन सी काम हैं: –

वेब डेवलपर

वेब डेवलपर को इंटरनेट का आर्किटेक्ट भी कहा जाता है। ऐसे ही लोग किसी भी वेबसाइट को बनाते हैं। इंटरनेट के बढ़ते चलन के बाद वेब डेवलपर्स की मांग मार्किट में भी काफी तेजी से बढ़ी है। काम के हिसाब से ही इनकी पेमेंट भी की जाती है। बहुत से लोग वेब डेवलपिंग का काम फ्रीलांस से भी करते हैं जिसमे उन्हे प्रोजेक्ट के हिसाब से लाखों रुपए मिलते हैं। इस काम के लिए केवल आपको एक कंप्यूटर और इंटरनेट कनेक्शन की जरूरत होती है। भारत में फ्रीलांसर डॉट कॉम और अर्बन क्लैप फ्रीलांसर वेबडेवलपर को लिस्ट करके काम मुहैया कराती है।

वर्चुअल असिस्टेंट

वर्चुअल असिस्टेंट एक तरह से सेक्रेटरी की जॉब है। इंटरनेट के बढ़ते चलन के कारण इस तरह के लोगों की मांग काफी तेजी से बढ़ी हैं। वर्चुअल असिस्टेंट का काम ईमेल मैनेज करना, सोशल एकाउंट जैसे ट्विटर, फेसबुक एकाउंट को हैंडल करना और पूरे दिनभर के काम की स्प्रेडशीट तैयार करना होता है। इसके लिए आपको क्लेरिकल काम की पूरी जानकारी होनी चाहिए। देश में रिजस डॉट इन जैसी वेबसाइट वर्चुअल असिस्टेंट की सेवाएं उपलब्ध कराती हैं।

वर्क फ्रॉम होम
वर्क फ्रॉम होम

यूजर इंटरफेस डिजाइनर 

नोटबुक से लेकर फोन या फूड पैकेजिंग ये सभी चीज़ें किसी-न-किसी स्तर से यूजर इंटरफेस डिजाइनर की नजरों से होकर ही गुजरती है। यूजर इंटरफेस स्किल्ड और बिल्कुल ट्रेंड व्यक्ति होता है। बॉक्स, वेबसाइट या जो भी प्रोडक्ट बन रहा है वो अच्छे तरीके से कम्युनिकेट कर सके यही तय करना ग्राफिक डिजाइनर का काम होता है। लोग घर बैठकर इस काम के लिए लाखों रुपए लेते हैं। कई कंपनियां ये काम अपने कर्मचारियों से घर पर बैठकर कराती हैं जबकि कई प्रोफेशनल इस काम को फ्रीलांस भी करते हैं।

ट्रेवल एजेंट 

ट्रैवल एजेंट का काम है लोगों को देश-दुनिया घूमाना। आजकल लोग इंटरनेट पर ही अपने होलिडे पैकेज बुक कराते हैं और इसके लिए उन्हें किसी ऑफिस की जरूरत भी नहीं होती है। वेबसाइट पर ही सभी तरह की जानकारियाँ उपलब्ध होती हैं। इसके लिए आपको किसी डिग्री की  भी जरूरत नहीं है। बस आपको ट्रैवल का अच्छा खासा अनुभव होना चाहिए। जिसके सहारे आप दूसरों को घूमा सकें। देश में कई कंपनियां है जो ट्रैवल एजेंट के तौर पर स्किल्ड लोगों को नौकरी पर रखती है और कई लोगों को कमीशन के आधार पर काम देती हैं।

टेक्निकल राइटर

टेक्निकल राइटर, राइटर की तरह ही होते हैं लेकिन इनका काम नॉर्मल राइटर से ज्यादा बोरिंग माना जाता है। टेक्निकल राइटर कर्मचारी मैन्युअल, टेक्निकल डॉक्यूमेंटेशन जैसे काम करते है। अधिकतर लोग इस काम को करने से बचते हैं लेकिन अगर आपको इस काम में दिलचस्पी है तो इस काम और इसके करने वालों की बाजार में काफी मांग है। टेक्निकल राइटर के रुप में फ्रीलांस काम करने के लिए फ्रीलांसर डॉट इन या दूसरी नौकरी की वेबसाइट्स पर रजिस्ट्रेशन कराया जा सकता है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in