हॉट टॉपिक्स

जाने क्यों मनाया जाता है क्रिसमस डे, साथ ही जाने क्रिसमस ट्री और सीक्रेट सांता क्लॉज के बारे में

जाने क्रिसमस ट्री और सीक्रेट सांता क्लॉज की कहानी


‘क्रिसमस’ ईसाई लोगों का एक बहुत बड़ा और प्रमुख पर्व है. मान्यता के अनुसार क्रिसमस का पर्व पूरी दुनिया में फैले ईसा मसीह के करोड़ों अनुयायियों के लिए पवित्रता का संदेश लाता है. इस दिन हर जगह, हर तरफ क्रिसमस डे की रौनक देखने को मिलती है. इसे लोग ‘बड़े दिन’ के नाम से भी जानते हैं. क्रिसमस डे हर साल 25 दिसंबर को मनाया जाता है. मान्यता के अनुसार क्रिसमस के दिन यानि की 25 दिसंबर को भगवान ईसा मसीह का जन्म हुआ था. अभी दिसंबर का आधा महीना निकल चुका है क्रिसमस आने में बस अब कुछ ही दिन बचे हुए है चारो तरफ क्रिसमस की तैयारी तेजी से हो रही हैं.

जाने 25 दिसंबर को ही क्यों मनाया जाता है क्रिसमस डे

क्या आपको पता है 25 दिसंबर को ही क्यों बनाया जाता है क्रिसमस डे. 25 दिसंबर इस तारीख को लेकर कई बार विवाद हो चुके हैं.क्योकि बाइबल में जीसस के जन्म की कोई तारीख नहीं दी गई है. फिर भी पूरी दुनिया में 25 दिसबर को ही क्रिसमस डे मनाया जाता है. दरअसल रोमन के पहले ईसाई सम्राट के समय पर पहली बार 25 दिसंबर को ही क्रिसमस डे मनाया गया था. जिसके कुछ सालों बाद पोप जुलियन ने आधिकारिक तौर पर 25 दिसंबर को क्रिसमस डे मनाने का एलान किया था. उसके बाद से ही हर साल 25 दिसंबर को क्रिसमस डे मनाया जाने लगा.

और पढ़ें: लव हो या अरेंज मैरिज, जाने  क्यों दोनों में ही शुरुआती दिन होते है खास

merry christmas

जाने क्या है क्रिसमस ट्री की कहानी

आपने भी लोगों को अपने घर पर अक्सर क्रिसमस ट्री और लाइट बड़ी भी खूबसूरती से सजाते देखा होगा। कुछ लोग छोटा क्रसमस ट्री लेट है तो कुछ लोग बहुत ज्यादा बड़ा ये आपकी इच्छानुसार होता है की आप केसा क्रिसमस ट्री लाना चाहते है. लेकिन क्या आपके दिमाग में भी ये सवाल कभी आया कि क्रिसमस डे के दिन क्रिसमस ट्री को क्यों लाया और सजाया जाता है. मान्यता के अनुसार कहा जाता है कि क्रिसमस ट्री की शुरुआत उत्तरी यूरोप में हजारों सालों पहले हुई थी. ओस समय पर लोग देवदार के पेड़ को सजाकर विंटर फेस्टिवल मनाया करते थे. इतना ही नहीं कुछ लोग तो चेरी के पेड़ की टहनियों को भी सजाया करते थे. जो लोग इन पौधों को खरीद नहीं पाते, वो लकड़ी का पिरामिड बनाकर क्रिसमस मनाया करते थे तब से ही क्रिसमस ट्री का चलन हर जगह बढ़ा और आज के समय हर कोई क्रिसमस के मौके पर इस पेड़ को अपने घरलाता है.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।