विदेश

बांग्लादेश के लिए चीन आज कर्जों की मंज़ूरी देगा

बांग्लादेश के लिए चीन आज कर्जों की मंज़ूरी देगा


चीन का बांग्लादेश में निवेश

बांग्लादेश के लिए चीन आज कर्जों की मंज़ूरी देगा:- चीन देश के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने शुक्रवार यानि आज अपनी बांग्लादेश यात्रा के दौरान 24 अरब अमेरिकी डॉलर से भी ज़्यादा रकम के कर्जों को मंज़ूरी देने वाले है। जो बांग्लादेश के लिए अब तक का सबसे बड़ा विदेशी कर्ज़ होगा। इतने बड़े कर्ज की मदद से बांग्लादेश में ऊर्जा संयंत्र और बंदरगाह बना सकेगा और रेलवे में भी सुधार होगा।

बीते 30 सालों में चीन के राष्ट्रपति द्वारा की जा रही यह पहली बांग्लादेश यात्रा है और इस का उद्देश्य बुनियादी ढांचे से जुड़ी परियोजनाओं में चीन की शिरकत को बढ़ाना है। साथ ही चीन की ओर से इतनी बड़ी रकम निवेश ऐसे समय में की जा रहा है, जब खुद भारत देश बांग्लादेश में निवेश बढ़ा रहा है। भारत बांग्लादेश को हमेशा से अपने प्रभाव क्षेत्र का हिस्सा मानता रहा है।

 बांग्लादेश के लिए चीन आज कर्जों की मंज़ूरी देगा
चीन का झंडा

जापान भी बांग्लादेश से जुड़ा

जापान भी बांग्लादेश से जुड़ा चुका है, भारत की मदद से। जापान ने बांग्लादेश को बंदरगाह निर्माण और ऊर्जा कॉम्प्लेक्स बनाने के लिए कम ब्याज पर रकम दी है। जिस से 16 करोड़ की आबादी वाले देश में प्रभुत्व बढ़ाने का खेल शुरू हो गया है। बांग्लादेश के वित्त उपमंत्री एमए मन्नन ने बातचीत के दौरन यह जानकारी साझा की है, कि चीन देश की योजना लगभग 25 परियोजनाओं में पैसा लगाने की है, जिन में 1,320 मेगावॉट का ऊर्जा संयंत्र भी शामिल है। साथ ही इसके अलावा चीन गहरे समुद्र में बंदरगाह बनाने के लिए भी इच्छुक है। साथ ही एमए मन्नन ने यह भी कहा, कि शी चिनफिंग की ये यात्रा मील का नया पत्थर स्थापित करेगी।

शी चिनफिंग की यात्रा

चीन के राष्‍ट्रपति शी चिनफिंग की बांग्लादेश की यात्रा ऐसे वक्त हो रही है, जब भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी पड़ोसी देशों श्रीलंका, नेपाल और बांग्लादेश से संबंधों को मजबूत करने के लिए काफी प्रयास कर रहे हैं।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।