लाइफस्टाइल

मॉनसून के मौसम में जरूरत है बच्‍चों के खास ख्‍याल की

मॉनसून का मौसम मतलब होता है बीमारियों का मौसम।  जमीन में रहने वाले ज़्यादातर कीड़े बारिश के मौसम में सतह पर आ जाते हैं, जो फल, सब्जियों और खाद्य पदार्थों को दूषित करते हैं और इन्ही से बारिश के दिनों में सबसे ज़्यादा डर इंफेक्शन का होता है।

बारिश की वजह से होने वाली नमी में मक्खियां , मच्छर और कीड़े पनपते हैं। इसलिए इस मौसम में जरूरी है कि हम सभी फल और सब्जियां साफ पानी से अच्छे से धोकर ही खाएं और अगर जरूरत हो तो बीमारी से बचने के लिए पोटैशियम परमेंगनेट का प्रयोग भी किया जा सकता है। साथ ही जितना भी संभव हो सके, अपने आस-पास सफाई रखें और बीमारियों को फैलने से बचाएं।

monsoon-care

इस मौसम में बिमारियों से बचने के लिए खाना खाने से पहले अच्छी तरह से हाथ धोएं । इससे बचने का एक और  सबसे आसान तरीका है कि अपने बच्चे को साल में तीन से चार बार डी-वॉर्मिंग गोलियां दें। स्कूल जाने वाले बच्चों को तीन से चार महीनों में डी-वॉर्मिंग गोली देने की सलाह कई देशों में दी जाती है और अगर आप भी अपने बच्चों को डी-वार्मिंग गोलियां देने की सोच रही हैं, तो एक बार डॉक्टर की सलाह अवश्य ले लें।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Back to top button