चंद्रयान- 2 मिशन को सफल बनाने में इन महिलाओ ने दिया बढ़ा योगदान

0
chandrayaan 2
chandrayaan 2

मुथाया वनिता और ऋतु करिधाल ने रचा नया इतिहास


जिस दिन का सभी को बेसब्री से था इंतज़ार आखिरकार वो सपना पूरा हुआ.जी हाँ, भारत का चाँद मिशन पूरा हो चुका है. 22 जुलाई को इसरो ने चंद्रयान -2 को लांच किया जिसके बाद पुरे भारत से इसरो को बधाईयाँ मिलने लगी. इसके अलावा खुद पीएम मोदी ने चंद्रयान -2 की लॉन्चिंग का लाइव वीडियो देखा कर अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर इसरो को बधाई दी और लिखा- चंद्रयान -2 की ;लॉन्चिंग पर पुरे देश को गर्व है. साथ ही भारत के दूसरे बड़े मिशन चाँद मिशन को पूरा करने में दो महिलाओ का बड़ा योगदान है जिन्होंने इस मिशन को सफल कराया है.

जाने इन दो महिलाओ के बारे में जिनके द्वारा भारत का सपना चाँद मिशन पूरा हो पाया

मुथाया वनिता

मुथाया वनिता चंद्रयान 2 मिशन में कि पहली महिला प्रोजेक्ट डायरेक्टर है, जिनके द्वारा यह चाँद मिशन पूरा हो पाया. वनिता 40 साल की है जो प्रक्षेपण यान के हार्डवेयर के विकास की देखरेख करती है. इसके अलावा एस्ट्रोनॉमिकल सोसाइटी आफ इंडिया द्वारा स्थापित सर्वश्रेष्ठ महिला वैज्ञानिक पुरस्कार प्राप्त करने वाली पहली महिला हैं. 2006 में उन्हें बेस्ट वुमन सांइटिस्ट का अवॉर्ड से सम्मानित किया जा चुका है.

Read More:चंद्रयान-2 का काउंटडाउन हुआ शुरू, रिहर्सल हुआ  पूरा 

ऋतु करिधाल

ऋतु चंद्रयान 2 मिशन की दूसरी महिला प्रोजेक्ट डायरेक्टर है. ऋतु भारत द्वारा 2013 में प्रक्षेपित मंगल ऑर्बिटर मिशन की उप अभियान निदेशक रही हैं. साथ ही उनके पास इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस, बेंगलुरु से एयरोस्पेस इंजीनियरिंग में मास्टर डिग्री है.इसरो में मंगलयान उनका सबसे बड़ा प्रोजेक्ट रहा है.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here