भारत

कावेरी जल विवाद- सभी पार्टियों की कैबिनेट बैठक बुलाई गई

कावेरी जल विवाद- सभी पार्टियों की कैबिनेट बैठक बुलाई गई


कावेरी जल विवाद- सभी पार्टियों की कैबिनेट बैठक बुलाई गई :- कावेरी जल विवाद को लेकर कर्नाटक सरकार ने बुधवार को  कैबिनेट  की एक ऑल पार्टी मीटिंग इमरजेंसी में बुलाई है। इस कैबिनेट मीटिंग में सभी पार्टियों द्वारा यह सलाह ली जाएंगी कि कर्नाटक द्वारा तमिलनाडू को कावेरी का पानी दिया जाना चाहिए कि नहीं?

कर्नाटक सरकार का  पूरा समर्थन करेंगी सभी पार्टियां

इससे  पहले मुख्यमंत्री सिद्धार्थमैय्या में ने बीदर जिले के दौरे के दौरान कहा कि हम कर्नाटक के लोगों के हितों के लिए प्रतिबद्ध है। जिसके लिए एक कैबिनट मीटिंग बुलाई जा रही है। जिसमें सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए फैसले पर विचार  किया जाएगा। इसके साथ ही कावेरी बेसिन के सांसद, विधायकों, कानूनी सलाहकार की टीम और तकनीकी टीम से अंतिम फैसला लेने से पहले राय ली जाएगी। कर्नाटक की सभी बड़ी पार्टियों ने कहा है कि वह कर्नाटक सरकार के फैसले पर पूरी तरह से समर्थन करेंगी।

कावेरी जल विवाद- सभी पार्टियों की कैबिनेट बैठक बुलाई गई
कावेरी नदी

यहाँ पढ़ें : कावेरी विवाद: दिसंबर तक पानी नहीं दे सकते- कर्नाटक

पार्टी की मीटिंग में भाग लेने बेंगलुरु गए कांग्रेस के महासचिव दिग्विजय सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी बुधवार को कर्नाटक द्वारा लिए जाए जाने वाले फैसले का समर्थन करेंगी।

वहीं दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट में कावेरी जल विवाद के लेकर दी गई दलील में कहा कि तमिलनाडू को पानी देने की बात कही है।

दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों को दिल्ली बुलाया गया

जल विवाद को देखते हुए जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों को बातचीत करने के लिए दिल्ली बुलाया है। इस मीटिंग का प्रतिनिधित्व कर्नाटक की तरफ से मुख्यमंत्री सिद्धार्थमैय्या और तमिलनाडू की तरफ से जयललिता करेंगी।

तमिलनाडू सरकार ने  बार-बार पानी नहीं दिए जाने के विरोध को देखते हुए कर्नाटक सरकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दोबारा अपील की। इसी अपील पर दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक बुलाई है।

अदालत के आदेश पर एटार्नी जरनल मुकुल रोहतगी ने कहा कि केंद्र सरकार दोनों राज्यों मुख्यमंत्रियों की बैठक 30 सितंबर से पहले बुलाई जाएगी और मामले को सुलझाने की कोशिश की जाएंगी।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Back to top button