Categories
लाइफस्टाइल

Shimla trip: अगर आप पहली बार शिमला घूमने जा रहे हैं, तो इन जगहों पर जाना न भूले

Shimla trip: शिमला की ये जगहें घूमने के लिए है बेहद खूबसूरत


Shimla trip: ये बात तो हम सभी लोग जानते है कि हमारे देश में घूमने फिरने की काफी सूंदर सूंदर जगहे हैं। जिन भी लोगों को घूमना फिरना पसंद है उन सभी लोगों को हमारा देश बहुत ज्यादा पसंद आता है। हमारे देश में कई जगह ऐसी है जहां पर हर साल काफी संख्या में पर्यटक घूमने फिरने आते हैं। कोई अपने दोस्तों के साथ घूमना पसंद करता है, तो कोई अपने पार्टनर के साथ ट्रिप पर जाता है। लेकिन जैसा की हम सभी लोग जानते है कि पिछले कुछ समय से कोरोना लॉकडाउन के कारण हम कही भी घूमने फिरने नहीं जा पा रहे हैं। लेकिन अभी हमारे देश में ज्यादातर राज्य अनलॉक की तरफ बढ़ रहे है जिसके कारण अब धीरे धीरे चीजों से पाबंदियो हट रही है। और ऐसे में उन लोगों के घूमने फिरने का प्लान बन रहा है जिन्हें घूमना फिरना बहुत ज्यादा पसंद होता है। अगर आप कभी शिमला नहीं गए और लॉकडाउन के बाद पहली बार शिमला घूमने का प्लान बना रहे है तो आप इन जगहों पर जा सकते है। वैसे तो पूरा ही शिमला बेहद खूबसूरत है लेकिन अगर आप पहली बार शिमला जा रहे है तो इन जगहों पर जाना न भूले।

नारकंडा: नारकंडा घूमने के लिए एक बेहद ही खूबसूरत जगह है। शिमला से नारकंडा की दूरी लगभग 60 किलोमीटर से है। शिमला से नारकंडा की इस दूरी को तय करने में 2 घंटे से ज्यादा का समय लगता है। ऐसा इसलिए क्योंकि ये जगह काफी ऊंचाई पर स्थित है। यहाँ आपको बर्फबारी देखने को मिलती है। यहाँ आपको काफी सारे एडवेंचर करने को मिलते हैं।

और पढ़ें: अगर आप भी कर रहे है घर शिफ्ट करने का प्लान, तो शिफ्टिंग के दौरान इन बातों का रखें ध्यान

Image source – Unsplash

जाखू मंदिर: आपको बता दे कि शिमला से जाखू मंदिर जाने में सड़क के रास्ते सिर्फ 20 मिनट का समय लगता है। इसके अलावा आप जाखू मंदिर मॉल रोड से रोपवे के जरिए भी जा सकते है। यहाँ जाने का अपना प्रति व्यक्ति किराय लगभग 250 रुपये है। आपको बता दे कि ये जाखू मंदिर हनुमान जी का मंदिर है, और यहां आपको हनुमान जी की 108 फीट ऊंची प्रतिमा देखने को मिलेगी।

कुफरी: अगर आप शिमला पहली बार गए है तो आप घूमने के लिए कुफरी जा सकते है यह घूमने के लिए बेहद ही खूबसूरत जगह है। कुफरी शिमला से महज 15 किलोमीटर की दुरी पर है। जिसके आप एक घंटे से कम समय में पार कर सकते है। यहाँ आपको सेब के बागान, घुड़सवारी, जीप की सवारी करने को मिलेगी।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

हर्बल चाय को पाचन के लिए माना जाता है बेहद फायदेमंद, आप भी एक करें ट्राई

जाने हर्बल चाय के फायदों के बारे में


ये बात तो शायद हमें आपको बताने की जरूरत नहीं है कि स्वस्थ रहने के लिए पाचन तंत्र का स्वस्थ रहना कितना जरूरी है। जैसा की हम सभी लोग जानते है कि आज के समय में हमारा लाइफस्टाइल काफी ज्यादा भाग दौड़ भरा हो गया है जिसमे हमें खुद के लिए समय नहीं मिला पाता। जिसके कारण हम जंक फूड और तैलीय फूड ज्यादातर अपनी डाइट में शामिल करने लगते है।

एक समय के बाद इन चीज़ों से  धीरे धीरे पाचन से जुड़ी कई समस्याएं होने लगती है। एक सही डाइट फॉलो न करने से आपके पेट में कीटाणु और बुरे बैक्टीरिया पैदा होने लगते है। जिसके कारण हमे कब्ज, दस्त और पेट में दर्द जैसी कई तरह की दिक्कतें होने लगती है। तो चलिए आज आपको बताते है कैसे हर्बल चाय आपके पाचन के लिए बेहद फायदेमंद होती है।

अगर आप इन समस्याओं से छुटकारा पाना चाहते है तो आप अपनी डाइट में कुछ बदलाव कर सकते हैं। जैसे आप अपनी डाइट हर्बल चाय को शामिल कर सकते है। हर्बल चाय आपके पाचन के लिए बेहद फायदेमंद होती है। इस चाय में कई पोषक तत्व होते हैं। जो न केवल आपके पाचन बल्कि शरीर के अन्य अंगों के लिए भी लाभकारी होते है। तो चलिए जानते है किन हर्बल चाय से आपका डाइजेशन बेहतर हो सकता है और उनका सेवन आपको कैसे करना चाहिए।

और पढ़ें:  अगर आप भी कर रहे है घर शिफ्ट करने का प्लान, तो शिफ्टिंग के दौरान इन बातों का रखें ध्यान

अदरक की चाय: ये बात तो हम सभी लोग जानते है कि अदरक की चाय में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते है जो हमारे शरीर से बैक्टीरिया और कीटाणुओं को नष्ट करते हैं। और आपके पाचन तंत्र को स्वस्थ और मजबूत रखते हैं। इतना ही नहीं अदरक की चाय पेट से जुड़ी अन्य सदस्यों को भी खत्म करती है

सौंफ की चाय:  आपको बता दे कि सौंफ की चाय में विटामिन-सी, पोटैशियम, जिंक और सेलेनियम बहुत अधिक मात्रा में मौजूद होते है। जो हमारे पाचन तंत्र को स्वस्थ रखती है। और हमारी पाचन शक्ति को भी बढ़ाती है।

नींबू की चाय: ये बात तो हम सभी लोग जानते है नींबू में विटामिन C होता है। जो हमारे शरीर के टॉक्सिन्स को नष्ट करने में मदद करता है। और हमारे पाचन तंत्र को स्वस्थ और मजबूत बनाता है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

अगर आप भी कर रहे है घर शिफ्ट करने का प्लान, तो शिफ्टिंग के दौरान इन बातों का रखें ध्यान

नए घर में शिफ्ट होने के दौरान आपको इन बातों का रखना चाहिए खास ध्यान


किराए के घर से अपने घर में जाने की खुशी क्या होती है ये बात सिर्फ वाली लोग समझ सकते है जो किराए पर रहते है या फिर कभी किराए पर रहे हो। किराए के घर से अपने घर में शिफ्ट होने की खुशी ही कुछ और ही होती है यह खुशी अन्य खुशी से बढ़कर होती है। जब आप किराए के घर से पहली बार अपने घर पर कदम रखते है तो जो सुकून मिलता है, वह और कहीं नहीं मिलता।

लेकिन जब आप अपने घर के मालिक हो जाते है तो आपको कुछ चीजों का ध्यान रखना चाहिए। क्योकि कई बार खुशी में हम काफी कुछ भूल जाते है। इसलिए आपको अपना घर होने पर कुछ जरूरी सेफ्टी मेज़र्स होते हैं उन्हें भूलना नहीं चाहिए। तो चलिए आज हम आपको बताएंगे अगर आप घर शिफ्ट करने का प्लान, तो शिफ्टिंग के दौरान आपको इन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

और पढ़ें:  अगर फिट रहने के लिए आप घर पर कर रहे है ट्रेडमिल वर्कआउट, तो इन बातों का रखें ध्यान

सुरक्षा सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण: ये बात तो हम सभी लोग जानते है कि इस कोरोना महामारी में कोई भी व्यक्ति कही पर भी सुरक्षित नहीं है। ऐसे में आपको अपना ध्यान खुद रखना चाहिए। अपने हाथों को धोना, साफ रखना, मास्क पहना इस समय पर सबसे ज्यादा जरूरी है। इस लिए इस समय पर आपको अपने घर में कॉन्टैक्ट फ्री हैंड सैनिटाइज़र रखना चाहिए। इसके साथ ही आपको एक फुलप्रूफ सेफ्टी सिस्टम में इंवेस्ट करना चाहिए। जिसमे सीसीटीवी कैमरा या फिर फिंगरप्रिंट ऑटोमेटेड लॉक शामिल करना चाहिए। अगर ये चीजे आपके बजट से बाहर है तो एक अच्छा पैडलॉक आपके लिए सही विकल्प है।

मरम्मत का ध्यान रखें: नए घर में शिफ्ट होने के बाद जिसे पहले आप अपने घर के फर्नीचर को अरेंज करें उससे पहले आपको अपने घर के फर्नीचर को एक बार अच्छे से चेक कर लेना चाहिए कि सब कुछ सही है या नहीं। अगर आपको लगता है कि कही पर भी किसी भी चीज की मरम्मत करने की आवश्यकता है तो आपको सबसे पहले वही करनी चाहिए। क्योकि अगर शुरू में आप वो नहीं करते तो बाद में वो आपको बहुत मेहगा पड़ सकता है।

बजट बनाएं: ये बात तो हम सभी लोग जानते है कि कुछ भी करने से पहले बजट बनाना बेहद जरूरी होता है। इस लिए आपको अपने नए घर में शिफ्ट होने से पहले अपने खर्चों के लिए सही बजट बनाने की आवश्यकता है। इस लिए आपको अपना बजट ऐसे बनाना चाहिए कि लिमिट से अधिक खर्चा न हों और आपकी दैनिक जरूरतें भी पूरी हो जाएं।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल सेहत

अगर फिट रहने के लिए आप घर पर कर रहे है ट्रेडमिल वर्कआउट, तो इन बातों का रखें ध्यान

ट्रेडमिल वर्कआउट के दौरान इन बातों का ध्यान रखें


 

पिछले साल से फैला हुआ कोरोना वायरस आज भी रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है इस कोरोना वायरस ने लाखों लोगों की जान ले ली है। अभी इस कोरोना महामारी की दूसरी लहर चल रही है जो की पहली वाली से भी ज्यादा खतरनाक है। इस कोरोना महामारी के कारण ही लम्बे समय से जिम, स्कूल, कॉलेज सभी चीजे बंद हैं। जिसके कारण सभी लोगों को काफी ज्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लंबे समय से जिम बंद होने के कारण कई लोगों ने अपने घरों पर ही वर्कआउट करना शुरू कर दिया है। कई लोग तो ऐसे भी है जिन्होंने इस कोरोना काल में अपने घर पर ही एक छोटा जिम तैयार कर लिया है ताकि उनके वर्कआउट सेशन्स में कोई दिक्कत न आए। जो भी लोगों ने अपने घर पर नया नया जिम तैयार करते है वो अपने घर पर ही कसरत करना शुरू करते है। वो लोग अक्सर ट्रेडमिल वर्कआउट को ज्यादा तवज्जो देते हैं क्योंकि उसके अपने अलग फायदे भी हैं। तो चलिए आज जानते है अगर आप ट्रेडमिल वर्कआउट शुरू करने जा रहे है तो आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

1. घर पर जिम तैयार करने के लिए जरूरी नहीं है कि हर व्यक्ति नया ही ट्रेडमिल खरीदे। कई लोग सेकंड हैंड यानी की पुराना ट्रेडमिल भी खरीदते हैं। ऐसे लोगों के लिए बहुत जरूरी है कि वो ये सेकंड हैंड ट्रेडमिल खरीदने से पहले इसके मोटर और शॉकर को अच्छे से एक बार देख लें। ताकि आगे चलकर उनको कोई परेशानी न हो।

और पढ़ें: कुशाभाऊ ठाकरे विश्वविद्यालय के नाम बदलने की प्रक्रिया: बीज तो पिछले 15 साल से ही बोया जा रहा था

Image source – Canva

2. जो भी लोग घर पर नया जिम तैयार करते है उन्हें कभी भी कसरत करने के लिए सीधा ट्रेडमिल पर नहीं चढ़ना चाहिए। क्योंकि ये आपको परेशानी में डाल सकता है। कसरत के दौरान हमारे घुटनों पर जोर पड़ता है। इसलिए अगर आप ट्रेडमील एक्सरसाइज करने जा रहे हैं तो कोशिश करें कम से कम 10 मिनट का वर्कआउट सेशन तो पहले ही कर ही लें

3. आपको एक्सरसाइज करते हुए ट्रेडमिल से डरना नहीं चाहिए। ऐसा करने से आपका पोश्चर प्रभावित होगा साथ ही साथ आपके घुटने, पैरों या शरीर के किसी भी अन्य अंग पर चोट लग सकती है। इसलिए आपको सेफ्टी बार को पूरी तरह और पूरे समय पकड़ कर कसरत नहीं करना चाहिए।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

जानें आज के समय पर सादगी से शादी करना क्यों बन गया है नया ट्रेंड

कोविड 19 के कारण लोग करने लगे है सादगी से शादी


हमारे देश में शादियां किसी त्योहार से कम नहीं होती। हमारे देश की शादी में सैकड़ों की भीड़ होना आम बात है साथ ही डीजे की धमक पर थिरकते लोग व देर रात तक झूमते हुए बरात को लेकर लड़की के घर पहुंचते है वहां डेरों रस्मों के साथ शादी सम्पन कर लड़की को अपने घर ले कर आते है।

लेकिन चीन में घातक कोरोना वायरस के कारण मानों इन खुशियों पर तो ग्रहण लग गया है। कोरोना लॉकडाउन के कारण बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। लोगों को बिलकुल सादगी के बीच सात फेरे लेकर शादी को सम्पन करना पड़ रहा है। लेकिन इन सबके बीच उन लोगों को काफी ज्यादा सुकून मिल रहा है जिन लोगों के पास इतने धूम धाम के साथ शादी कराने के पैसे नहीं है। तो चलिए आज बात करते है कैसे कोरोना लॉकडाउन के कारण सादगी से शादी करना एक नया ट्रेंड बन गया है।

अब शादियों में लोगों के चेहरों पर खुशियां नहीं बल्कि मास्क नजर आता है

हर साल हमारे देश में नवरात्र के बाद से शादी की मुहर्त तेजी से शुरू हो जाते है। एक बार लगन शुरू होने की देर होती है उनके बाद घरों में शादी कि तैयारियां जोर शोर से शुरू हो जाती है। लेकिन जैसा कि हम देख रहे है कि पिछले साल से ही कोरोना वायरस के कारण लोग धूम धाम से शादी नहीं कर पा रहे है।

जो लोग शादियों में आ भी रहे है। वो लोग शादी में खुशियां मनाने की जगह अपने चेहरे पर मास्क लगाकर दूर दूर से ही मुस्करा कर खुशियों का इजहार कर रहे है। दूल्हे राजा के मन में शादी को लेकर जितनी खुशियां है उनके साथ ही साथ उनके दिल में कोरोना संक्रमण को लेकर डर भी बना हुआ है। कही ऐसा न हो जाएं कोई संक्रमित व्यक्ति सबको अपनी चपेट में लेकर संक्रमण को बढ़ा दे।

और पढ़ें: ऑफिस में प्रमोशन के लिए बेस्ट टिप्स अप्लाई करें, और प्रमोशन पाएं

सिर्फ आम लोग नहीं बल्कि बॉलीवुड सेलेब्स भी कर रहे है सादगी से शादी

हमारे देश में अगर बॉलीवुड फिल्मों से ज़्यादा कुछ ग्रैंड होता है तो वो है बॉलीवुड सेलेब्स की शादियां। बॉलीवुड सेलेब्स की शादियां 5-स्टार या 7-स्टार होटल होना एक आम बात है। उनके हर फंक्शन 5-स्टार या 7-स्टार से कम के होटल में नहीं होते। कोई बॉलीवुड सेलिब्रिटी अपने मेहमानों को लाने के लिए प्राइवेट जेट्स का इस्तेमाल करता है तो कोई खूबसूरत टस्कन वेडिंग करता है हर सेलिब्रिटी के लिए अपनी शादी पर कई फंक्शन और 4, 5 रिसेप्शन का आयोजन करना आम बात होती है।

लेकिन उसके बीच कई ऐसे सितारे भी है जिन्होंने अपनी लाइफ के सबसे खास दिन को बिलकुल सिंपल और प्राइवेट रखा। उन्होंने अपनी फॅमिली और कुछ दोस्तों के साथ सादगी से शादी की।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

ऑफिस में प्रमोशन के लिए बेस्ट टिप्स अप्लाई करें, और प्रमोशन पाएं

बेस्ट टिप्स ऑफिस में प्रमोशन पाने के


हम में से ज्यादातर लोगों को अप्रेजल के समय पर ये टेंशन हमेशा सताती रहती है। वो है कि ‘इस साल प्रमोशन होगा या नहीं’। ऑफिस में प्रमोशन पाने की ख्वाहिश तो सभी लोगों की होती है लेकिन मिलता कुछ ही लोगों को है। ये बात तो हम सभी लोग जानते हैं कि प्रमोशन साल में सिर्फ एक बार ही मिलता है। इसमें अगर किसी को प्रमोशन न मिले या फिर अच्छा इन्क्रीमेंट न मिले तो बेचैनी बढ़नी लाजमी है।

आपने देखा होगा कि ऑफिस में बहुत से लोग होते है जो दिन रात मेहनत करते है लेकिन उसके बाद भी बॉस और दूसरे कर्मचारियों को उनकी मेहनत दिखाई नहीं देती, जिसके कारण प्रमोशन के समय पर वह दूसरे लोगों से दौड़ में पीछे रह जाते है। इसलिए कहते है कि ऑफिस में प्रमोशन पाने के लिए जी तोड़ मेहनत ही काफी नहीं है। अगर आपको भी अपने ऑफिस में प्रमोशन चलिए तो आपको ये टिप्स फॉलो करने चाहिए।

1. मेहनत करने का मतलब ये बिलकुल भी नहीं है कि आपको इसका इनाम भी जरूर मिलेगा। अपनी मेहनत का इनाम पाने के लिए आपको हमेशा अपने काम को दिखाने की कोशिश करते रहनी चाहिए। अगर आपको किसी काम के लिए शाबाशी मिलनी चाहिए तो हमेशा कोशिश करें कि आपका बॉस इसके लिए आपको शाबाशी दे और आपका नाम ऑफिस के नोटिस बोर्ड पर लगा कर आपको बधाई दे।

2. आपको जब भी काम मिलता है तो आपको उससे तुरंत निपटना चाहिए। क्योकि कई बार ऐसा होता है कि हमें लगता है कि अभी टाइम तो बहुत है इसलिए इस काम को बाद में करेंगे लेकिन फिर बाद में हम भूल जाते है या फिर जब हम काम करने बैठते हैं, तो उस समय का काम भी हमारे पास होता है और ये वाला काम भी होता है जिसके कारण हमारे ऊपर काम का बोझ आ जाता है। जिसके कारण हमारे काम की क्वालिटी पर असर पड़ता है।

और पढ़ें: क्या आप जानते है ऑफिस डेकॉर डालता है आपके मूड पर असर?

3. ऑफिस में मल्टिटास्किंग कर के भी आप प्रमोशन जल्दी पा सकते है। ऑफिस में मल्टिटास्किंग करने वाले लोग जल्दी पहचान और प्रमोशन पा लेते है। इसलिए आपको भी मल्टिटास्किंग करनी चाहिए। अगर आपको लगता है कि पहले से ही आपके पास बहुत सारा काम है ऐसे में मल्टिटास्किंग कैसे करें? तो इसका सबसे आसान तरीका है अपने काम को थोड़ा ऑर्गेनाइज तरीके से करना शुरु कर दें। उससे आप कम समय में ज्यादा काम कर पाएंगे।

4. ऑफिस में प्रमोशन पाने के लिए खुद को चैलेंज करना बहुत जरूरी होता है। इससे न सिर्फ आपके काम का दायरा बढ़ता है, बल्कि आपको यह भी पता चलता है कि आप कितने कम समय में कितनी क्वालिटी के साथ काम कर सकते हैं। ये आपको ऑफिस में प्रमोशन पाने में मदद करेगा।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

क्या आप जानते है ऑफिस डेकॉर डालता है आपके मूड पर असर?

ऑफिस डेकॉर  के टिप्स जो रखेंगे आपके मन को शांत


जब भी हम डेकोरेशन, बागबानी, सफाई की बात करते हैं तो हम में से ज्यादातर लोगों के जेहन में घर की तस्वीर सबसे पहले घूमने लगती है। अपने घर को लेकर हम सभी लोगों की अपनी-अपनी अलग अलग भावनाएं होती है। क्योंकि हम में से ज्यादातर लोगों की जिंदगी का ज्यादातर समय घर पर ही बीतता है। और अगर उसके बाद कही हमारा ज्यादा समय बीतता है। तो वो हमारा ऑफिस होता है। इसलिए हम में से ज्यादातर लोगों को अपने ऑफिस से विशेष लगाव होता है तो ऐसे में जरूरी है कि आपका ऑफिस भी सुंदर, आकर्षक और डेकोरेटेड होना चाहिए। तो चलिए आज हम आपको बताएंगे ऑफिस डेकोर के लिए बेस्ट टिप्स।

Pic Credit- Freepik

रंगों का इस्तेमाल: अगर हम अपने घर के लिए समान लेते है तो वो किसी भी रंग का चल सकता है लेकिन अगर हम बात करें ऑफिस की पेंटिंग या फिर फर्नीचर की तो ये सारी चीजें लेने से पहले हमें इसके रंग के इस्तेमाल का खास ध्यान देना चाहिए। ऑफिस के लिए अक्सर सफेद रंग का ही सामान खरीदना चाहिए। ऑफिस का सफेद फर्नीचर और दीवारों का रंग ऑफिस के माहौल को खुशगवार बनाता है। क्योंकि सफेद रंग से शांति, मिजाज में नरमी और दूसरों के लिए हमदर्दी का पता चलता है।

और पढ़ें: घर में रह रहकर अगर आप बोर हो गया है तो, पौड़ी गढ़वाल वीकेंड पर घूम आएं

लाइटिंग: अगर हम डेकोरेशन की बात करें तो हम लाइटिंग को कैसे भूल सकते हैं। ये बात तो हम सभी लोग जानते है कि डिजायनिंग और स्टाइल में रोशनी की बहुत अहम भूमिका होती है। अगर आप अपने ऑफिस के लुक को मनमोहक दिखाना चाहते है तो इसके लिए आपको मुनासिब रोशनी का चुनाव करना चाहिए। आप चाहे तो टेबल के लिए हैंगिंग लाइट्स का इस्तेमाल कर सकते है। ये लाइट्स ऑफिस के काम के दौरान रोशनी और ऑफिस के डेकोरेशन में बेहतर अच्छी तालमेल बैठाती हैं।

ऑफिस टेबल का रंग: आपने देखा होगा कि ज्यादातर ऑफिसों में काली या भूरे रंग की टेबल होती हैं। लेकिन अगर आप अपने ऑफिस के नयेपन के लिए बोल्ड रंगों की टेबल का इस्तेमाल करते है तो इससे आपके ऑफिस की खूबसूरती बढ़ती है। आप अपने ऑफिस में सफेद, लाल या फिर मेहरुन रंग के टेबल का इस्तेमाल कर सकते है।

Pic credit – Freepik

ऑफिस में तस्वीरें लटकाएं: अगर आप अपने ऑफिस को सूंदर बनाना चाहते है तो इसके लिए आप तस्वीरों का इस्तेमाल कर सकते है। ऑफिस में टेबल पर तस्वीरें रखने का चलन तो काफी पुराना और लोकप्रिय है लेकिन ये आज भी काफी ज्यादा पसंद किया जाता है। आप चाहे तो डेकोरेशन वायर में तस्वीरें लगा कर भी सजा सकते हैं।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

घर में रह रहकर अगर आप बोर हो गया है तो, पौड़ी गढ़वाल वीकेंड पर घूम आएं

वीकेंड हॉलिडे के लिए परफेक्ट डेस्टिनेशन है पौड़ी गढ़वाल


ये बात तो हम सभी लोग जानते है कि उत्तराखंड को देव भूमि के नाम से जाना जाता है।
इसलिए हर साल हजारों की संख्या में श्रद्धालु चारधाम यात्रा के लिए उत्तराखंड जाते है। उत्तराखंड जा कर वो केदारनाथ, बद रीनाथ, यमुनोत्री जैसे कई धार्मिक स्थलों पर जाते है और भगवान के दर्शन
करते हैं। आपको बता दे कि उत्तराखंड के कई धार्मिक स्थल हैं,  जो की अपनी विशेषता के लिए पूरी दुनियाभर में प्रसिद्ध है। अगर आप घूमने फिरने के शौकीन है और कोरोना के  दौरान भी वीकेंड हॉलिडे पर जाना चाहते है तो उत्तराखंड एक परफेक्ट डेस्टिनेशन है। आप इसके लिए उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जा सकते हैं। तो चलिए विस्तार से जानते है पौड़ी गढ़वाल के बारे में

कंडोलिया देवता: आपको बता दे कि उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल से महज 2 किलोमीटर की दूरी पर कंडोलिया
देवता स्थित है। यह मंदिर भगवन शिव समर्पित के लिए जाना जाता है। मान्यताओं के अनुसार किकंडोलिया पौड़ी की देवी के
संरक्षक है। इस मंदिर को काफी ज्यादा पावन माना जाता है। उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल के स्थानीय लोगों की
कंडोलिया देवता को लेकर अगाध श्रद्धा है। आपको बता दे कि इस मंदिर से आप पूरे शहर का दीदार कर सकते हैं।

खिर्सू: आपको बता दे कि खिर्सू वीकेंड हॉलिडे के लिए  एक परफेक्ट डेस्टिनेशन है। खिर्सू की ऊंचाई समुद्र तल से 1900 मीटर है। यहाँ से आप 180 डिग्री कोण में हिमालय का दीदार कर सकते हैं। इतना ही नहीं आपको बता दे कि इस जगह पर उत्तम प्रकार के सेब का उत्पादन होता है।

और पढ़ें: क्या आप जानते हैं इन पांच नमक के बारे में, जो आपकी सेहत के लिए फायदेमंद

रामगंगा बांध: अगर आपको घूमने फिरने का बहुत ज्यादाशौकीन है तो आप रामगंगा बांध जा सकते है अगर आप वीकेंड हॉलिडे के लिए जा ऱह है और आप  यात्रा के दौरान पिकनिक मनाना चाहते हैं, तो रामगंगा
बांध इसके लिए एक परफेक्ट जगह है। रामगंगा बांध उत्तराखंड के जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क की सीमाओं के भीतर स्थित है। अगर आप एक दिन का प्लान बना रहे है तो रामगंगा  बांध और जिम कार्बेट आपके लिए बिलकुल परफेक्ट जगह है।

चौखम्बा व्यू पॉइंट: आपको बता दें कि चौखम्बा व्यू पॉइंट उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल से  महज 4 किलोमीटर की दुरी पर स्थित है। आप चाहे तो पौड़ी बस स्टैंड से बस पकड़कर चौखम्बा व्यू पॉइंट पहुंच सकते है। आपको बता दे कि चौखम्बा व्यू पॉइंट को चार स्तंभों का पर्वत भी कहा जाता है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

क्या आप जानते हैं इन पांच नमक के बारे में, जो आपकी सेहत के लिए फायदेमंद

ये 5 नमक है हमारे लिए बेहद फायदेमंद


हमारे रसोईघर में नमक कितना जरूरी होता है ये शायद हमेंआपको बताने की जरूरत नहीं है। नमक को हमारे रसोईघर में एक महत्वपूर्ण चीज माना जाता है। आप भी जब फूड मार्ट में घूमते होंगे या फिर जब आप ऑनलाइन नमक मंगाते होंगे तो अपने अक्सर देखा होगा, वहा तरह-तरह के नमक रखें होते है। जिन्हे देखकर कई बार आप भी सोच में पड़ जाते होंगे कि इनमें से किस नमक को खाना है और किसे नहीं। पहले के समय पर लोगों के पास सिर्फ दो ही विकल्प होते थे एक आयोजाइज़्ड नमक और दूसरा सामान्य नमक। लेकिन आज के समय पर हमारे पास बहुत सारे विकल्प है जिनमें से हमे चुनना होता है कि हमें कौन सा नाम लेना चाहिए। जो हमारी सेहत के लिए फायदेमंद हो।

टेबल सॉल्ट: टेबल सॉल्ट सबसे ज्यादा और सबसे आसानी से मिलने वाला सामान्य नमक है। इस नमक में किसी भी प्रकार के अनचाहा या अशुद्ध कण नहीं होता है। और ये नमक बारीक पिसा हुआ होता है और इससे बहुत ज्यादा प्रोसेसिंग के बाद तैयार किया जाता है। यही कारण है कि यह नमक इतना दानेदार और अलग-अलग होता है। आपको बता दे कि आज के समय में मिलने वाला टेबल सॉल्ट में आयोडीन होता है जिसके कारण यह शरीर में होने वाली आयोडीन की कमी से होने वाले थायराइड से बचाता है।

सेंधा नमक: आपको बता दे कि हम में से ज्यादातर लोग सेंधा नमक को घर में होने वाली पूजा पाठ में इस्तेमाल करते हैं। लेकिन क्या आपको पता है सेंधा नमक को ही पिंक सॉल्ट भी कहा जाता है। पाकिस्तान के हिमालय के किनारे खनन किए जाने वाले इस नमक को सबसे ज्यादा शुद्ध और अच्छा माना जाता है। इतना ही नहीं इस समय में शरीर से जुड़े लगभग 84 तरह के मिनरल्स और अन्य पोषक तत्वों मिलते है।

और पढ़ें:  जानें ऑपटिमिस्ट लोगों को डेट करने के फायदे, साथ ही जाने इन लोगों की विशेषताएँ

समुद्री नमक: आपको बता दे कि यह नमक समुद्र के पानी को भाप में बदलने की प्रक्रिया द्वारा बनाया जाता है। इस समय को सबसे कम रिपाइन किए गए नमक के तौर पर समझा जा सकता है। लेकिन आपको बता दे कि इस नमक की मार्किट में सबसे ज्यादा मांग है क्योंकि इस नमक में सोडियम की कमी और आयोडीन की अधिकता होती है।

काला नमक: आपको बता दे कि काला नमक को ब्लैक सॉल्ट के नाम से भी जाना जाता है। इस नमक को बनाने के लिए कई तरह के मसाले, लकड़ी का कोयला, बीज और पेड़ की छाल का उपयोग किया जाता है। इतना ही नहीं इस नमक को पूरे दिन के लिए गर्म ओवन में भी रखा जाता है। इसी कारण यह नमक लाल काला रंग का होता है। यह नमक में कब्ज, एसिडिटी, पेट फूलना आदि चीजों में राहत देता है।

कोशर सॉल्ट: आपको बता दे कि कोशर नमक के दाने सामान्य टेबल सॉल्ट के मुकाबले ज्यादा बड़ा और दानेदार होता है। इस नमक का इस्तेमाल ज्यादातर होटलों में शेफ करते हैं क्योंकि उन्हें इस नमक को किसी भी डिश के ऊपर स्प्रेड करने में ज्यादा आसानी होती है। इस नमक का इस्तेमाल खासतौर पर शेफ मीट बनाने के लिए करते है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

जानें ऑपटिमिस्ट लोगों को डेट करने के फायदे, साथ ही जाने इन लोगों की विशेषताएँ

जाने आशावादी लोगों को डेट करने के फायदे


ऑपटिमिस्ट लोगों कल्याणकारी होते है वो अपने साथ साथ दूसरों लोगों के लिए भी कल्याणकारी होते है। अगर आप किसी व्यक्ति को डेट कर रहे है जो की एक आशावादी व्यक्ति है तो उससे डेट करने आपको कई फायदे मिल सकते हैं। ये लोग ऐसे होते हैं जो किसी भी प्रॉब्लम में फंसने के बजाय प्रॉब्लम के सकारात्मक पक्ष को देखने में माहिर होते हैं। ये लोग चीजों को ले कर अपने जीवन में केंद्रित होते हैं, जिसका फायदा उनके साथ साथ उनके पार्टनर को भी होता है। तो चलिए आज हम आपको बताएंगे आशावादी लोगों को डेट करने के फायदे।

ईमानदार: आशावादी लोग काफी ज्यादा ईमानदार होते है अगर आप किसी आशावादी व्यक्ति को डेट कर रहे है तो आप आँख बंद कर के उस पर भरोसा कर सकते है। ये लोग सिर्फ दूसरों के प्रति नहीं बल्कि खुद स्वयं के प्रति भी ईमानदार होते है स्वयं के प्रति ईमानदार होने का अर्थ है औचित्य और उपदेश देना। इतना ही नहीं आशावादी लोग अपनी गलतियों को स्वीकार करने से डरते नहीं है। ये लोग अपनी गलतियों के लिए दूसरों को कभी भी दोष नहीं देते हैं और खुद को यह मानने के लिए पर्याप्त आत्मविश्वास रखते हैं कि वो हमेशा सही नहीं हैं।

और पढ़ें: जाने घी से स्किन और बालों को मिलने वाले फायदों के बारे में, साथ ही जाने सही इस्तेमाल का तरीका

अपने लक्ष्य को प्राप्त करना: आशावादी लोग अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के पूरे प्रयास करते है। अगर उन्हें अपना कोई सपना पूरा करना होता है या उनकी कोई इच्छाएं होती है तो वो उनको पूरा करने की कोशिश करते है। इसके अलावा आशावादी लोग भी यथार्थवादी होते हैं। इसका मतलब कोई भी लक्ष्य प्रस्तावित नहीं है जो की उनकी क्षमताओं के दायरे से परे हैं।

अपनी असफलताओं से सीखते है: आशावादी लोग अपनी गलतियों और असफलताओं से डरते नहीं है बल्कि उनसे कुछ न कुछ सीखते हैं। वे लोग जानते है कि गलतियाँ और चुनौतियाँ है जिन्हें पूरा नहीं किया गया है और जिन उद्देश्यों को हासिल नहीं किया गया है। इस तरह की स्थितियों में वो विफलता के संकेत देते है।

दूसरों से तुलना: ये बात तो हम सभी लोग जानते हैं कि दूसरों के साथ व्यवस्थित रूप अपनी या किसी ओर की तुलना करने से केवल विकृत सोच पैदा होती है और दिल को जहर मिलता है। इसलिए आशावादी लोग हमेशा दूसरों के साथ अपनी या फिर किसी भी व्यक्ति की किसी से भी तुलना नहीं करते। अगर आपका पार्टनर आशावादी है तो आपके झगड़े कम होंगे। क्योंकि ये बात तो हम सभी लोग जानते है कि आधे से ज्यादा झगड़ों का कारण तुलना करना होता है जब आपका पार्टनर आपकी तुलना दूसरों से करता है तो ये आप दोनों के बीच झगड़े का कारण बनता है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com