Categories
सामाजिक

अंतरजातीय विवाह को बढ़ावा देने के लिए मोदी सरकार की नई पहल

मोदी सरकार देगी ढाई लाख रुपये


कई सालो से चल रही अंतरजातीय विवाह को लेकर जो लड़ाई है अब वो खत्म हो जाएगी. जी हाँ, जाति व्यवस्था की सामाजिक बुराई को खत्म करने और अंतरजातीय विवाह को बढ़ावा देने के लिए मोदी सरकार एक स्कीम चला रही है इसके तहत अगर कोई दलित से अंतरजातीय विवाह करता है तो उसके पति को मोदी सरकार 2 लाख 50 हजार रूपए देगी

आपको बात दे कि इस योजना की शुरुआत यूपीए सरकार ने साल 2013 में की थी. उस समय पर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह थे.हालाँकि, उनके कार्यकाल के खत्म होने के बाद भी इस स्किम को आज भी चलाया जा रहा है. इस योजना का लाभ उठाने के लिए सरकार ने कुछ नियम बनाये जिसका पालन करना जरुरी है.इस स्किम के तहत जाति व्यवस्था की बुराई के खिलाफ बोल्ड कदम उठाने वाले युवक-युवतियों को प्रोत्साहित करना है. साथ ही जो कपल अंतरजातीय विवाह कर रहे है उन्हें घर बसाने में मदद करता है.

स्किम का लाभ उठाने के लिए सबसे पहले अपने क्षेत्र के मौजूदा सांसद या विधायक की सिफारिश के साथ आवेदन को पूरा करके सीधे डॉ अंबेडकर फाउंडेशन को भेजें.आवेदन करने के लिए दस्तावेज है जरुरी

यहाँ जाने कौन से है दस्तावेज जरुरी: 

1. दोनों में से जो भी दलित यानी अनुसूचित जाति समुदाय से हो, उसका जाति प्रमाण पत्र आवेदन के साथ लगाना होगा.
2 . आवेदन के साथ कानूनी रूप से विवाहित होने का हलफनामा देना होगा.
3 . आवेदन के साथ ऐसा दस्तावेज भी लगाना होगा, जिससे यह साबित हो कि दोनों की यह पहली शादी है.
4 . नवविवाहित पति-पत्नी का आय प्रमाण पत्र भी देना होगा.

यदि उनका आवेदन सही पाया जाता है, तो उनके संयुक्त खाते में डेढ़ लाख रुपये भेज दिए जायेंगे . बाकी के एक लाख रुपये को उनके संयुक्त खाते में तीन साल के लिए फिक्स डिपोजिट करा दिया जायेगा। तीन साल बाद डॉ. अंबेडकर फाउंडेशन की सहमति से यह पैसा ब्याज के साथ कपल को मिल जाता है. इस स्कीम के तहत हर साल 500 कपल को ही इसका फायदा देने का लक्ष्य रखा गया है.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com

Categories
सामाजिक धार्मिक

भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा हुई शुरू, पीएम मोदी और अमित शाह ने की पूजा

चारो धामों में यह धाम है ख़ास : जाने इसके पीछे  की  वजह ?


चार धामों में जगन्नाथ धाम सबसे अहम माना जाता है. जहाँ आपकी सभी मनोकामना पूरी  होती है  और सारे पाप धूल जाते है. विश्वभर में प्रसिद्ध भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा का हुआ  आगाज़। इस रथ यात्रा के दौरान सभी श्रद्धालु एक जुट होकर भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा निकालते है जो  9 दिन तक चलती है  . आपको बता दे कि तक़रीबन 15 दिनों एकांतवास के बाद भगवान जगन्नाथ को अपने भाई बलभद्र और बहन सुभद्रा के साथ  रथ यात्रा पर निकाला जाता है.

जाने क्यों भगवान जगन्नाथ को 15 दिनों के लिए एकांतवास में रखा जाता है ?. 

कहते है स्नान यात्रा के दौरान बहुत स्नान के कारण भगवान जगन्नाथ और दोनों भाई बहन बीमार हो गए थे. इसी कारण की वजह से  उनको 15 दिनों  के लिए  एकांतवास में रखा जाता है.   आपको बता दे,  रथ यात्रा के शुरू होने से पहले  15 दिनों तक मंदिर में पूजा नहीं की जाती. फिर 15 दिनों के बाद तीनो भाई बहन-  यानी जगन्नाथ , बलभद्र, बहन सुभद्रा का दिव्य श्रृंगार किया जाता है और उन्हें नेत्रदान भी किया जाता है. जिसके बाद तीनो भाई बहन कि विशाल  रथ यात्रा निकाली  जाती है जिसमे सबसे पहले रथ पर बलभद्र, दूसरे पर बहन सुभद्रा तथा पीछले रथ पर भगवान जगन्नाथ सवार होते हैं.

भगवान जगन्नाथ की विशाल रथयात्रा शुरू होने से पहले पीएम मोदी और अमित शाह ने की पूजा

पीएम मोदी और अमित शाह ने  अपने ट्वीटर अकाउंट से सभी को जगन्नाथ रथ यात्रा शुरू  होने पर बधाई दी.  साथ ही गृहमंत्री अमित शाह आज सुबह अहमदाबाद के जगन्नाथ मंदिर पहुंचे, जहाँ वो  सुबह की आरती में शामिल हुए.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com

Categories
सामाजिक

आ गया है वैशाख माह जानें क्या है इसका ख़ास महत्व 

जानें वैशाख माह से जुड़े कुछ तथ्यों के बारे में


हिन्दू कैलेंडर का दूसरा माह 

हिंदी कैलेंडर का ये दूसरा महीना अंग्रेजी कैलेंडर  के अनुसार  अप्रैल और मई मे आता है  . धार्मिक और सांस्कृतिक तौर  पर वैशाख के महीने का बहुत अधिक महत्व माना जाता है  . वैशाख माह मे तीर्थ स्थलों पर स्नान का काफी महत्व माना गया है  . वैशाख मास का महत्व इसलिए भी माना जाता है क्योकि भगवान् विष्णु के अवतार जिनमे – नारायण , भगवान परशुराम  अवतार मे  प्रकट हुए थे  .

दान पुण्य करें

वैशाख को पुण्य प्राप्ति का माह  माना  जाता है इसलिए इस महीने मे  दान करना काफी अच्छा माना जाता है ऐसा कहा जाता है की इस महीने मे दान करने से गरीबी से मुक्ति मिलती है   वैशाख के महीने मे पूजा आराधना करने से जीवन की समस्याओ से छुटकारा पाया  जा सकता  है  . पुराणों मे कहा गया है की वैशाख  के सामान कोई महीना नहीं है ,सतयुग के सामान कोई युग नहीं है, वेद के सामान कोई शास्त्र नहीं है और गंगा जी के सामान कोई तीर्थ नहीं है  . पुण्य और फल की प्राप्ति वैशाख मास ,मे केवल जलदान से हो जाती है इसलिए इस माह मे प्याऊ खुलवाना सर्वोत्तम माना गया है  .

वैशाख मास के व्रत एवं त्यौहार

ईस्टर

ईसा मसीह के पुनःजीवित हो उठने की ख़ुशी मे ईस्टर का त्यौहार गुड़ फ्राइडे के आने वाले रविवार के दिन मनाया जाता है  .

वरुथिनी एकादशी  

वैशाख मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को वरुथिनी एकादशी कहा जाता है  . वरुथिनी एकादशी का व्रत 30 अप्रैल को मंगलवार के दिन है  .

वैसाख अमावस्या

अमावस्या के दिन को स्नान व  दान बहुत ही शुभ माना जाता है , वैशाख अमावस्या 4 मई  को है  . इस दिन शनिवार होने से शनि अमावस्या है जिसके कारण इसका  महत्व काफी बढ़ गया है  .

अक्षय तृतीया 

वैशाख मास की शुक्ल पक्ष की तृत्य को अक्षय तृतीया कहा जाता है .   मान्यता है की इस दिन भगवान् विष्णु का अवतार नर नारायण ने लिए था  . परशुराम की जयंती भी इसी दिन मनाई जाती  है  . इस दिन किसी भी शुभ कार्य को करने के लिए उसका फल बहुत ही फलदायी माना जाता है  . अक्षय तृतीया अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार 7 मई को है  .

सीता नवमी 

वैशाख पक्ष के शुक्ल पक्ष की नवमी को सीता नवमी कहा जाता है   .इस दिन सीता माता धरती माँ की कोख से प्रकट हुई थी    . सीता नवमीं अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार 13 मई को मनाई जा रही है  .

यहाँ भी पढ़े:जानिये  ईस्टर फेस्टिवल यानी गुड फ्राइडे से जुड़ी ये ख़ास बातें

मोहिनी एकादशी 

वैशाख शुक्ल एकादशी को मोहिनी एकादशी कहा जाता है  . मोहिनी एकादशी का उपवास भी काफी शुभ कहा गया है  . इस दिन भगवान विष्णु की पूजा अर्चना एवं उपवास रखा जाता है  . मोहिनी एकादशी 15 मई को है  .

वैशाख पूर्णिमा

पूर्ण चंद्रमास का अंतिम दिन माना जाता है वैशाख पुर्निमा को बुद्ध पूर्णिमा के रूप मे भी मनाया जाता है , वैशाख मास की पूर्णिमा 18 मई को है  .

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सामाजिक

बनारस जाकर इन जगहों का ले ज़ायका

बनारस की यह जगहें है मशहूर


बनारस की  चाट से लेकर साड़ियाँ कितनी अच्छी है यह हर कोई जानता है लेकिन  अगर आप बनारस  जाकर यहाँ नहीं घूमे है तो आप बनारसी  नहीं कहला  पाएंगे . जी हाँ,बनारस जिसे काशी  के नाम से जाना जाता है.,जहाँ पर सुबह की आरती  से होती है हर किसी के दिन की  शुरुआत, जहाँ के सागर में  बसे  है भोलेनाथ, फिर क्यों न करे लोग बनारस  के घाट  से प्यार.

बनारस वो जगह हैं जहाँ  लोग चाहे सुबह की आरती हो या शाम की आरती ,लोग बस सुकून से रहते है, जहाँ देवाधिदेव महादेव की त्रिशूल बसी है इस नगरी का किसी भी तरह के प्रलय में भी विनाश नहीं हो सकता है। काशी के घाट आज भी दुनिया भर में अध्यात्म, योग, धर्म और दर्शन के केंद्र हैं। जो दुनिया के हर कोने से लोगो को अपनी  तरफ आकर्षित करता है क्योंकि  यहाँ  की खूबसूरती  है ही ऐसी  कि किसी  का भी मन मोह ले तो  इसलिए आज हम आपको बतायंगे बनारस की वो खास मशहूर जगहों के बारे में  जिसे देखने के बाद आप भी बनारसी ही कहलायेंगे

जाने बनारस की इन मशहूर जगहों के बारे में:

अस्सी घाट – इस घाट की खास बात यह है की यह बेहद ही साफ़ -सुथरा और प्रदूषण रहित है. वही ऐसा भी बताया जाता है की मां दुर्गा ने शुम्भ- निशुम्भ का वध यही किया था.

दशाश्वमेध घाट – दशाश्वमेध घाट यहाँ का सबसे मशहूर घाट है जहां सुबह कि आरती और शाम की आरती लेने के लिए  लोगो की भीड़  उमड़ती  है.ऐसा कहा जाता है की राजा दिवोदास द्वारा यहां दस अश्वमेध यज्ञ कराने की वजह से इसका नाम दशाश्वमेध घाट पड़ा.नेता से लेकर  अभिनेता  तक सब यहाँ की गंगा  आरती  देखने  के लिए इकट्ठे  होते है. यहाँ की आरती का समय सर्दियों में 6 बजे और गर्मियों में 7 बजे का है.

यहाँ भी पढ़े: तेरे नाम 2 की स्क्रिप्ट हुई तैयार

गोदौलिया मार्केट–  गोदौलिया मार्केट बनारस का सबसे बड़ा कपड़ा बाजार है  जहाँ आपको बनारसी साड़ियों का ज़ायका देखने को मिलेगा.यहाँ आपको कपड़े से लेकर ज्वेलरी , हैंडमेड क्राफ्ट से लेकर हर चीज सही और सस्ते दामों में मिल जायेगी.

बनारस की कचौड़ी वाली गली – आप बनारस गए और कुछ खाया नहीं ऐसा तो नहीं चलेगा. शॉपिंग और घूमने  के साथ खाना भी जरुरी है. बनारस की सबसे मशहूर गली है कचौड़ी वाली गली. यहाँ का जितना पान मशहूर है उतनी ही यहाँ की कचौड़ी और चाट, तो आप जब यहाँ जाए यहाँ की कचौड़ी  जरूर खाये

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सामाजिक

4 साल के इस बच्चे ने मचाई सोशल मीडिया पर धूम

बस “पीछे  देखते’ हुआ मशहूर ‘कौन है वो ?पीछे तो देखो ‘


वैसे तो सोशल मीडिया पर आज सबसे ज्यादा कोई क्यूट बच्चा मशहूर है तो वो है पटौदी तैमूर अली खान . लेकिन  अब वही तैमूर अली खान की जगह ले चूका है यह 4 साल का बच्चा. जिसकी वीडियो आज कल तेज़ी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. दिखने में तो यह बच्चा क्यूट और गोलू – मोलू सा  है लेकिन इस बच्चे की एक वीडियो ने सोशल मीडिया पर तहलका  मचा दिया है

अपनी क्यूटनेस से तैमूर को भी किया रिप्लेस

आपको बता दे कि यह जो क्यूट सा बच्चा है ये पाकिस्तानी है और इसका नाम अहमद शाह है.अहमद की उम्र महज चार साल है लेकिन इस बच्चे  की  30-40 सेकंड की वीडियो सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रही है. जिसके बाद से लोग अहमद को पाकिस्तानी तैमूर के नाम से बुलाने लगे है. वैसे तो अहमद  पाकिस्तान का क्यूट सा स्टार ही है लेकिन उसके इस एक वीडियो ने भी उसे भारत में भी मशहूर कर दिया है जिसके बाद से अहमद की फैन फोल्लोविंग भी ज्यादा बड़ गई है.

अहमद मीडिया को कर लेते है आसानी से हैंडल

आपने अहमद की उस वीडियो को लूप में कितनी बार देख ही लिया होगा, लेकिन अहमद इतनी कम उम्र में ही बहुत बड़ी बातें कर लेते है या यूँ  कहे  कि  बातें  बनाने में काफी माहिर है.सिर्फ यही नहीं जिस तरीके से तैमूर  अली खान 2 साल की उम्र में भी मीडिया को देख कर पोज़ बना लेते  है उसी तरह यह पाकिस्तानी  बच्चा भी 4 साल की उम्र में भी मीडिया को अच्छे से हैंडल करना जानता है और कैमरा को अच्छे से फेस करना भी जानता है.

यहाँ भी पढ़े : जानिए किस वजह से हो रही है अर्जुन कपूर और मलाइका अरोड़ा की शादी मे देरी

पाकिस्तान  में हुए ट्रोल तो भारत ने दिया प्यार

अहमद इन वीडियो के इलावा पाकिस्तान के टीवी शोज ‘गुड मॉर्निंग पाकिस्तान’  में नजर आ चुके है जिसमे पाकिस्तानी  फैन्स ने उसे ना पसंद किया और उसे सोशल मीडिया पर ट्रोल करना शुरू कर दिया लेकिन वही भारत ने अहमद की इन बातो को उसकी इस क्यूटनेस  को पसंद किया .

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सामाजिक

यूनेस्को की सूची मे शामिल है यह भारत की अदभुत जगहें 

जाने यूनेस्को की सूची मे शामिल इन अद्भूत जगहों की ख़ास बातें


हर साल 18 अप्रैल को मनाये जाने वाले विश्व धरोहर का मकसद लोगो को दुनिया की सांस्कृतिक , ऐतिहासिक और प्राकृतिक धरोहर से परिचित कराना होता है| दुनिया मे ऐसी कही सारी जगहें  है  जिनके बारे मे  लोगो को कोई जानकारी नहीं है  . ऐसी बहुत जगहें है जो अपने अंदर काफी सारी विशेषताओ को समेटे हुए है।  जिनके बारे मे  बहुत कम लोग ही जानते है.जी हाँ , यूनेस्को की सूची मे शामिल होने के बाद  ही इन जगहों को  अलग पहचान मिलीं है. यूनेस्को की सूची मे  कुल 878 जगहें शामिल है. लेकिन आज हम आपको बताएँगे भारत की तीन  जगहें के बारे मे
ताज महल 
भारत की नायाब धरोहर मे शामिल है आगरा का ताज महल.इसकी ख़ूबसूरती को देखने दुनियाभर से लोग आते है.इस अदभुत ताज महल को सफ़ेद संगमरमर से शाहजहाँ द्वारा बनाया गया. दुनिया का आज हर एक इंसान ताज महल देखने की चाह रखता है क्योकि इसे मोहब्बत का मंदिर माना जाता है. ताज महल का निर्माण लगभग 1643 मे  हो गया था लेकिन फिर भी इसकी सुंदरता को बढ़ाने क लिए 10 साल तक और काम चला. सफ़ेद मार्बल से बने ताज महल  की कुल ऊंचाई तकरीबन 73 मीटर है. मुग़ल शासक शाहजहाँ द्वारा बेगम मुमताज़ की याद मे  बनवाया गया सफ़ेद संगमरमर का यह मकबरा दुनिया के  सात अजूबो मे भी शामिल है.यमुना नदी के किनारे सफ़ेद पत्थरों  से निर्मित आलौकिक सुंदरता की तस्वीर ताज महल  न केवल भारत मे बल्कि पूरे विश्व मे अपनी पहचान बना चुका  है.
अजंता गुफा 
अजंता एलोरा की गुफाएँ महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर के समीप है.इन गुफाओ के  करिश्मे को हर साल लाखो पर्यटक लोग देखने  आते है .अजंता की गुफाये भगवान बुुद्ध को समर्पित की जाती है.ये कम से कम  30 संख्या मे है ,ये गुफाये अनुयायियो और बौद्ध धर्म के विद्यार्थियों के रहने के लिए निर्माण की गई  थी. आमतौर पर गुफा  की  नक्काशी और चित्रकारी भगवान बुद्ध  की जीवन कथाओ को दर्शाती है.
हम्पी 
 कर्नाटक के बेल्लारी जिले मे हम्पी को दुनियाभर मे सबसे बहतरीन पर्यटन स्थलों की  साल की सूची मे  दूसरा स्थान दिया गया है. हर साल यहाँ हज़ारो की संख्या मे पर्यटक और तीर्थयात्री आते है.हम्पी का विशाल फैलाव गोल चट्टानों मे विस्तृत है.घाटियों और टीलो  के बीच पांच सौ से अधिक स्मारक निशान है.इनमे मंदिर , महल ,  तहखाने ,पुराने बाज़ार , चबूतरे आदि असंख्य इमारते शामिल है.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सामाजिक

इस्लाम धर्म में यह सब करना है जरुरी , जाने क्या ?

जाने इस्लाम धर्म से जुड़ी कुछ खास बातें 


 इस्लाम में रमजान का महीना काफी पवित्र माना जाता है. अब 6  मई से रमजान शुरू होने वाले है जब सभी मुस्लिम रोज़ा रखते है खुदा की इबादत करते है और सभी बुरी आदतों को खुद से दूर रखते  है. लेकिन कुछ बाते ऐसी है जो आप इस्लाम  के बारे में नहीं जानते है तो चलिए आज हम आपको बताते  है इस्लाम से जुड़ी  यह कुछ ख़ास बातें:  

इस्लाम में यह सब करना है जरुरी :

1. इस्लाम में कलमा पढ़ना जरुरी है जो आपको यह एहसास दिलाता है कि अल्लाह एक है और मुहम्मद साहब उनके रसूल हैं

2.हर रोज पाँचो वक़्त  की नमाज़ भी पढ़नी फ़र्ज़ यानि जरुरी है.

3. रमज़ान इस्लाम धर्म का पवित्र महीना माना जाता है.  इसमें महीने भर केवल सूर्यास्त के बाद 1 बार खाना खाने का नियम होता है. 

4 मक्का और मदीना  इस्लाम धर्म के पवित्र तीर्थ स्थानों में से है

अब जानते है की आखिर इस्लाम धर्म  है क्या और  इसके  प्रवर्तक कौन थे?

इस्लाम जो है वो एक अरबी शब्द है जिसका अर्थ है शान्ति को अपनाना साथ ही इस्लाम धर्म का मूल स्वरूप  है एक ऐसा धर्म, जिसके जरिए एक इंसान दूसरे इंसान के साथ प्रेम और अहिंसा से भरा व्यवहार कर ईश्वर की पनाह लेता है.आपको बता दे इस्लाम धर्म के जो प्रवर्तक थे वो हजरत  मोहम्मद  साहब थे. ऐसा बताया जाता है कि जब भारत में हर्षवर्धन और पुलकेशियन का शासन था तब हजरत मुहम्मद अरब देशों में इस्लाम धर्म का प्रचार-प्रसार कर रहे थे इस तरह से इस्लाम धर्म का उदय  हुआ.

साथ ही जिस तरह से हिन्दुओ की ग्रन्थ “गीता” है  उसी तरह से इस्लाम की ग्रन्थ कुरान है . कुरान वह पवित्र ग्रंथ है, जिसमें हजरत मुहम्मद के पास ईश्वर के जरिए भेजे संदेश शामिल हैं

Categories
सामाजिक

आपकी ज़िन्दगी को आसान बना सकती है दलाई लामा की यह 10 बाते

जाने दलाई लामा के बेस्ट 10 थॉट्स , जो आपको हर मुश्किल का सामना करना सिखाएंगे


ऐसा हमेशा होता है की आप अपने सपने पूरे करने के लिए निकल पड़ते है तो उस रास्ते पर आपको बाधाए जरूर मिलती है. जिनसे शायद आप निराश भी हो जाते है और उसे आपकी हिम्मत भी टूट जाती है। लेकिन आपको कभी बाधाओं से डरना नहीं चाहिए क्यूंकि कोई भी रास्ता आसान नहीं होता। अगर ऊचाइंयों को छूना है तो चट्टानों का सामना तो करना पड़ेगा।

खुद को कभी किसी से कम न समझे साथ ही अपने कॉन्फिडेंस लेवल को कम न होने दे क्यूंकि ये सब आपके करियर के लिए बहुत मायने रखता है. अगर आपको लगता है की आपकी हिम्मत टूट रही है और आप हार गए है तो दोस्त हारना नहीं और जाने दलाई लामा के यह बेस्ट 10 थॉट्स जिनसे आपकी दुनिया पूरी तरह से बदल सकती है.

जाने दलाई लामा के वो बेस्ट 10 थॉट्स , जिसे आपकी हर राह हो सकती आसान:
1. समस्याओ को सभी दिशाओ से देखना शुरू करोगे तो उनके समाधान अपने आप मिल जाएंगे।
2. सच्चा हीरो वही है जो अपने क्रोध को काबू कर ले.
3. अपनी सफलता को जज करो की इसे पाने के लिए तुमने क्या खो दिया है.
4. चुप रहना भी कभी -कभी सबसे अच्छा जवाब देना भी होता है.
5 . सब कुछ पोस्टिव रखने के लिए खुद की नज़र को भी पोस्टिव रखना पड़ेगा।
6 . सहनशक्ति के अभ्यास के लिए तुम्हारा दुश्मन ही तुम्हारा सबसे अच्छा टीचर साबित होता है.
7 . तुम्हारा उद्देश्य किसी दूसरे से अच्छा होना नहीं , बल्कि तुम जैसे पहले थे उससे अच्छा बनाना होना चाहिए।
8 . शांत दिमाग से ही आंतरिक शक्ति और आत्मविश्वास आता है , और ये सेहत के लिए भी अच्छा है.
9 . कभी – कभी लोग कुछ कहकर भी अपनी एक प्रभावशाली छाप बना देते है, आप चुप रहकर भी अपनी एक प्रभावशाली छाप छोड़ सकते है।
10.हम बाहरी दुनिया में तब तक शान्ति नहीं पा सकते है , जब तक की हम अंदर से शांत न हो.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सामाजिक

मम्मी – पापा के कुछ फेमस डायलॉग जिनसे आप हो जाती है शादी के लिए तैयार

जाने कौन से है वो ख़ास डायलॉग


जब जॉब अच्छी मिल जाये साथ ही अच्छे पैसे भी मतलब आपकी लाइफ सेट है. लेकिन नहीं तब भी कुछ अधूरा रहता है ऐसा आपके परिवार को लगता है की अब आपको अच्छी नौकरी मिल गयी है, अच्छे खासी पैसे भी मिल रहे है. अब सिर्फ एक चीज़ रहती है शादी, जिसके बाद आपकी लाइफ पूरी तरह से सेटल है.

परिवार रेडी है बस आप शादी के लिए अभी तैयार नहीं है लेकिन आपके मम्मी और पापा आपको अच्छे से जानते है वो आपको अपने तरीके से आसानी से रेडी कर लेते है. आप उन्हें मना भी नहीं कर पाते

चलिए, जानते है वो मम्मी- पापा के कुछ ख़ास डायलॉग जिनसे आप शादी के लिए हो जाती है रेडी:

1.बेटा तुम्हारी उम्र हो गयी है,शादी कर लो-

उम्र का क्या है बढ़ती रहेगी लेकिन उस बीच लड़का भी तो अच्छा मिले.

2.अब जॉब भी अच्छी लग गई है अच्छा कमा भी रही हो , तो शादी क्यों नहीं कर रही

माना की जॉब अच्छी लग गयी है अब जाकर सब कुछ सेटल हुआ है कम से कम चेन से अपनी जिन्दगी को अपने तरीके से एन्जॉय तो कर लू.

3.अभी शादी के लिए मना करोगी तो बाद में अच्छे लड़के मिलना मुश्किल हो जायेंगे

अगर ऐसी बात है तो कोई बात नहीं न मिले नहीं करनी शादी

4.अब रिश्तेदार भी पूछने लगे है की तुम शादी कब करोगी?

दुनिया का तो पता नहीं लेकिन रिश्तेदारों को शादी को लेकर बहुत टेंशन होती है.

5.बेटा जिन्दगी आप अकेले नहीं काट सकती आपको,एक समय पर आपको पार्टनर की जरूरत पड़ती है.

ठीक है कर लूंगी शादी.

तो यह है मम्मी- पापा के कुछ ख़ास डायलॉग जो आपको बार बार उठते- बैठते सुनने को मिलते है फिर आप एक टाइम शादी के लिए हो जाती है तैयार.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

 

Categories
सेहत सामाजिक

रोज सुबह करे यह 5 एक्सरसाइज , ऐसे रहेंगे फिट

आधे घंटे की एक्सरसाइज से पाए फिट बॉडी


इस भागदोड़ भरी जिंदगी में हम अपने ऊपर ध्यान देना बिलकुल ही छोड़ देते है.ऐसे में फिट रहने के लिए जिम में पसीना बहाना सभी के लिए संभव नहीं है, लेकिन फिट रहना भी जरूरी है इसलिए अपनी  फिटनेस पर भी ध्यानं दे. आप आधे घंटे तक रेगुलर एक्‍सरसाइज करेंगे तो आप अपने शरीर और दिमाग को चुस्‍त व फुर्तिला बना सकते हैं.

आप सुबह उठ कर सबसे पहले सूर्य नमस्कार करे इससे आपको फ्रेश फील होगा साथ ही आपका कंसर्नटेरेशन पॉवर ओर बढ़ेगा. फिर शुरुआत करे पहले एक्सरसाइज से, सबसे पहले आप 10 सेट्स के साथ पुश अप करे जिससे आप की पूरी बॉडी स्ट्रेच रहेगी.

सेकंड एक्सरसाइज में आपको एबडॉमिनल क्रंचेज करने होंगे इसे कम से कम 10 सेट्स के साथ करे  यह एक्सरसाइज आपके बेल्ली फैट को घटाने में मदद करता है.

Also Read: क्या आप बार-बार भूलने की बीमारी से परेशान है? निरोगी काया के लिए करे योग

तीसरे एक्सरसाइज में आप स्‍क्‍वैट्स करे वो भी कम से कम 10 सेट्स के साथ यह एक्सरसाइज आपके पूरी बॉडी को फिट रखने में मदद करता है और आपकी थाइस का फैट भी कम होता है

चौथी एक्सरसाइज में आप जम्पिंग करे  कम से कम 20 टाइम्स इससे आपके बॉडी का जो एक्स्ट्रा फैट वो घटने लगता है.

पांचवी एक्सरसाइज में आप जॉगिंग करे यह आपके स्टैमिना को  बढ़ाने में मदद करता है इससे आप फिट तो रहनेगे ही और आपको सांस की दिक्कत भी नहीं होगी. तो रोज सुबह उठ कर यह एक्सरसाइज करना बिलकुल भी न भूले

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in