मनोरंजन

‘मेरा जूता है जापानी’ जैसे नगमें गाने वाले मुकेश आज भी जिन्दा है लोगों के दिल में

सुरों के सरताज और सुरीली आवाज वाले मुकेश की आवाज आज भी लोगों को दीवाना किए है और लोगों के दिलों में खास मुकाम भी बनाए हुए है। ‘मेरा जूता है जापानी’, ‘दोस्त-दोस्त ना रहा’, ‘जीना यहां मरना यहां’, ‘कहता है जोकर’, ‘दुनिया बनाने वाले क्या तेरे मन में समाई’, ‘आवारा हूं’, जैसे नगमों को आवाज देने को मुकेश की पूरी दुनिया ही दीवानी है

mukesh-1437533925

मुकेश का जन्म 22 जुलाई, 1923 को दिल्ली में हुआ था और उनके पिता जोरावर चंद्र माथुर इंजीनियर थे। मुकेश उनके दस बच्चों में से छठे नंबर पर थे। मुकेश ने दसवीं तक पढ़ाई कर के पीडब्लूडी में नौकरी शुरू की थी और कुछ ही साल बाद ही उनकी किस्मत मुकेश को मायानगरी मुंबई ले गई।

mukesh-ji

मुकेश अपने दोस्तोंm के बीच कुंदन लाल सहगल के गीत सुनाया करते थे और उन्हें अपने स्वरों से सराबोर किया करते थे। मुकेश को एक गुजराती लड़की भा गई थी और वह सिर्फ उसी लड़की से शादी करना चाहते थे लेकिन दोनों परिवार में इस शादी को लेकर विरोध हुआ। मुकेश ने दोनों परिवारों के तमाम बंधनों की परवाह नहीं की और अपने जन्मदिन के दिन 22 जुलाई 1946 को गुजराती लड़की सरल के साथ शादी कर ली। मुकेश के एक बेटा और दो बेटियां हैं। बेटे का नाम नितिन और बेटियां रीटा व नलिनी हैं।

मुकेश ने अपना सफर 1941 में शुरू किया। फिल्म ‘निर्दोष’ में मुकेश ने अदाकारी करने के साथ-साथ गाने भी खुद गाए और इस के बाद मुकेश ने ‘माशूका’, ‘आह’, ‘अनुराग’ और ‘दुल्हन’ में भी बतौर अभिनेता काम किया। मुकेश ने अपने करियर में सबसे पहला गाना ‘दिल ही बुझा हुआ हो तो’ गाया था। मुकेश का फिल्म-उद्योग में शुरुआती दौर मुश्किलों भरा था।

PIXECT-20140721190037

मुकेश ने अपने 40 साल के लंबे सफर में लगभग 200 से अधिक फिल्मों के लिए गीत गाए। मुकेश हर सुपरस्टार की आवाज भी बने। उनके गीतों को लोग आज भी गुनगुनाते हैं और उनके गीत लोगों की रोजमर्रा की जिंदगी से कहीं न कहीं जुड़ते हैं।

27 अगस्त, 1976 को अमेरिका में एक स्टेज शो के दौरान दिल का दौरा पड़ने की वजह से मुकेश का निधन हुआ था और उस समय वह एक गीत गा रहे थे- ‘एक दिन बिक जाएगा माटी के मोल, जग में रह जाएंगे प्यारे तेरे बोल’।

सच कहे तो मुकेश दुनिया से ओझल हो चुके है लेकिन लोगो के दिलों में आज भी जिन्दाक है और मुकेश के गाए हुए बोल जग में आज भी गूंज रहे हैं और ऐसे ही हमेशा गूंजते रहेंगे।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Back to top button