देश में एक तरफ रेप की बढ़ती घटनाएं, दूसरी तरफ रेप के आरोपियों के परिवालों को चुनाव में मिली टिकट

0
150
bihar chunav 2020

इस बार भी बाहुबली नहीं है पीछे


बिहार विधानसनभा चुनाव के पहले चरण का नामांकन 8 अक्टूबर को पूरा हो चुका है. पहले चरण की सभी 71 सीटों पर 28 अक्टूबर को मतदान डाला जाएगा. जिसका परिणाम 10 नवंबर का आना है. इस चुनावी अखाड़े में मुख्य राष्ट्रीय पार्टियो के साथ-साथ कई क्षेत्रीय पार्टियों ने भी हिस्सा लिया है. हर पार्टी ने अपने-अपने हिसाब से कार्यकर्ता को टिकट दी है. हर बार की तरह इस बार भी बाहुबली नेताओं या फिर उनके परिवार के किसी सदस्य को टिकट दी गई है. जिन्हें नहीं दी गई वह निर्दलीय ही मैदान में कूदे हैं. लेकिन एक तरफ जहां पूरे देश में हाथरस जैसा मामले देखने को मिलते हैं. वहीं दूसरी तरफ बिहार चुनाव में बलात्कार मामले में अभियुक्त नेताओं या फिर उनके परिवार वालों को टिकट दिया गया है. आइए आपको कुछ ऐसे ही बाहुबली नेताओं के बारे में बताते हैं. 

अनंत कुमार– बाहुबलियों के लिस्ट में आज भी अनंत कुमार का नाम शीर्ष में आता है. अनंत कुमार पर अपहरण और हत्या के लगभग 38 मामले दर्ज है. इन सबके वाबजूद वह मोकामा विधानसभा सीट से राजद का प्रत्याशी है. वही दूसरी ओर अनंत कुमार की पत्नी नीलम देवी मोकामा से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर मैदान में उतरी थी. लेकिन बाद में उन्होंने अपना नामांकन वापस ले लिया.

और पढ़ें: सर्व शिक्षा अभियान के तहत बुनियादी सुविधा तो दी गई, लेकिन  बाद में रखरखाव का अभाव

अरुण यादव– भोजपुर जिले के संदेश विधानसभा के मौजूदा विधायक अरुण यादव इस वक्त रेप के मामले में फरार चल रहे हैं. विधानसभा चुनाव में राजद ने इस सीट पर भी अरुण यादव की पत्नी किरण देवी की मैदान पर उतारा है. 

राजबल्लभ यादव– नवादा जिले के राजबल्लभ यादव इस वक्त रेपकांड के मामले जेल में बंद है. लेकिन राजद ने उसकी पत्नी विभा देवी को नवादा विधानसभा सीट से मैदान में उतारा है.

प्रभुनाथ सिंह– यह नेता भी बाहुबलियों की लिस्ट में शुमार है. इस वक्त झारखंड की एक जेल में बंद है. लेकिन चुनाव में इनके सुपुत्र रंधीर को छपरा से राजद ने टिकट दिया है. प्रभुनाथ सिंह लालू प्रसाद यादव के काफी करीबी लोगों में से एक है. 

रितलाल यादव– लालू के दौर के बाहुबली नेता और विधान परिषद सदस्य रितलाल यादव दानापुर विधानसभा सीट से राजद के उम्मीदवार है. आपको जानकार हैरानी होगी इन पर भी हत्या और अपहरण जैसे कई मामले दर्ज हैं.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com