बीटिंग द रिट्रीट परंपरा से हुआ गणतंत्र दिवस का समापन!

बीटिंग द रिट्रिट कार्कक्रम के साथ 67वें गणतंत्र दिवस समारोह का शुक्रवार को समापन हो गया। लखनऊ में पुलिन लाइन में यह कार्यक्रम आयोजित किया गया था, जहां मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी मौजूद थे। कार्यक्रम का समापन राज्यपाल राम नाईक ने किया।

क्‍या होता बीटिंग द रिट्रीट परंपरा?

‘बीटिंग द रिट्रीट’ गणतंत्र दिवस समारोह की समाप्ति का सूचक है। इस कार्यक्रम में थल सेना, वायु सेना और नौसेना के बैंड पारंपरिक धुन के साथ मार्च करते हैं। यह सेना की बैरक वापसी का प्रतीक है। गणतंत्र दिवस के बाद हर साल 29 जनवरी को ‘बीटिंग द रिट्रीट’ कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है।

beating

इस साल क्याक्या हुआ खास!

इस साल पहली बार स्टेट फोर्स और पैरा मिलिट्री फोर्स को भी इसमें शामिल किया गया। वहीं इस बार भारतीय शास्त्रीय संगीत इसमें बजाया गया।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments